आगामी बजट को लेकर गहलोत ने किया किसान प्रतिनिधियों के साथ संवाद

कहा- विपक्ष से मिलते हैं अच्छे सुझाव

आगामी बजट को लेकर गहलोत ने किया किसान प्रतिनिधियों के साथ संवाद

बैठक के बाद गहलोत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आगामी बजट को लेकर सभी वर्गों के सुझाव लिए जा रहे है। मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि लोकतंत्र में आलोचना भी होती है, लेकिन हम वेलकम करते हैं।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सचिवालय के कॉन्फ्रेंस हाल में किसान संघ, डेयरी संघ और किसान प्रतिनिधियों के साथ आगामी बजट को लेकर संवाद किया और सुझाव लिए। बैठक के बाद गहलोत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आगामी बजट को लेकर सभी वर्गों के सुझाव लिए जा रहे है। मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि लोकतंत्र में आलोचना भी होती है, लेकिन हम वेलकम करते हैं। मोदी सरकार में ऐसा नही है। वे विपक्ष में बैठे लोगों की कुछ सुनना ही नहीं चाहते। विपक्ष से अच्छे सुझाव मिलते है। आज किसानों ने बताया है कि आईजीएनपी मरम्मत से रकबा बढ़ा है। मोदी जी ने किसानों की आय दुगुनी करने की बात की थी, लेकिन 2022 जा रहा है, अभी तक दुगुनी आय नहीं हुई। इसके लिए केंद्र और राज्य को मिलकर योजना बनानी चाहिए।

गहलोत ने कहा कि आज एक से बढ़कर एक सुझाव आए हैं। हमने राइट टू हैल्थ जैसी योजनाओं की शुरुआत कर दी है, केंद्र को देश मे लागू करना चाहिए। सामाजिक सुरक्षा की स्कीम होनी चाहिए। हमने कोरोना में कहा था, कोई भूखा न सोए। यह बात अब सुप्रीम कोर्ट ने भी केंद्र को इसी भावना से कही है। केंद्र सरकार को चाहिए मानवीय दृष्टिकोण से काम करें। हमने ओपीएस लागू किया, तो हिमाचल में भी इसकी मांग की गई। अब कांग्रेस ने वहां चुनाव जीता है। कुछ काम ऐसे है जो राज्य और केंद्र मिलकर कर सकते हैं। हमने उड़ान योजना शुरू की है, अब संकोच का जमाना नहीं है। हमारी योजनाओं का लाभ आम जनता तक पहुंचाया जाए। राहुल गांधी की यात्रा को लेकर कहा कि यात्रा को अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। इसका मैसेज पूरे देश में गया है। बजट जल्दी आने के सवाल पर गहलोत ने कोई जवाब नहीं दिया।

Post Comment

Comment List

Latest News