जागरूकता रथ किए रवाना, बालिकाओं को बांटे बेबी किट व माताओं को किया सम्मानित

राष्ट्रीय बालिका दिवस पर चिकित्सा विभाग की ओर से हुए कार्यक्रम

जागरूकता रथ किए रवाना, बालिकाओं को बांटे बेबी किट  व माताओं को किया सम्मानित

जागरूकता रत्नों के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों में बालिका बचाव के संदेश को प्रचारित करने के साथ ही बालिकाओं को बचाने के प्रति लोगों को जागरूक भी किया जाएगा । गौरतलब है कि समाज में आज भी बच्चों की तुलना में बच्चियों को हीन भावना से देखा जा रहा है ।

कोटा। राष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर मंगलवार को चिकित्सा विभाग की ओर से बेटी बचाओ जागरूकता रथों को रवाना किया गया। सुबह सीएमएचओ डॉ जगदीश कुमार सोनी ने स्वास्थ्य भवन से चार रथों को हरी झण्डी दिखाई। इस मौके पर डीपी चौधरी,  जिला पीसीएनडीटी समन्वयक प्रमोद कंवर, मीनाक्षी वर्मा आदि मौजूद थे। सीएमएचओ ने बातया कि इन रथों के माध्यम से शहरवासियों को बेटियां अनमोल हैं, बेटी बचाव, पीसीपीएनडीटी एक्ट आदि संदेश प्रसारित किया जाएगा। सीएमएचओ  ने जेके लोन चिकित्सालय में बालिकाओं का जन्मोत्सव मनाया व बेबी किट वितरित किए तथा माताओं को शॉल ओंढ़ाकर सम्मानित किया। इस दौरान पीसीपीएनडीटी समन्वयक प्रमोद कंवर, नर्सिंग अधीक्षक, रेणुका मेवाड़ा, व मीनाक्षी वर्मा भी मौजूद रही।  

सीएमएचओ डॉक्टर सोनी ने बताया कि जागरूकता रत्नों के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों में बालिका बचाव के संदेश को प्रचारित करने के साथ ही बालिकाओं को बचाने के प्रति लोगों को जागरूक भी किया जाएगा । गौरतलब है कि समाज में आज भी बच्चों की तुलना में बच्चियों को हीन भावना से देखा जा रहा है । कोटा जैसे शहर में कुछ लोगों द्वारा गत दिनों बालिकाओं को पालना गृह में छोड़ने या कचरे में डालने जैसे मामले सामने आए थे।  जबकि बेटी अनमोल है उससे ही परिवार में खुशियां रहती हैं।

Post Comment

Comment List

Latest News