20 साल से बिस्तर पर सिमटी थी जिंदगी, सर्जरी बाद मिला नया जीवन

एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस से पीड़ित था मरीज

20 साल से बिस्तर पर सिमटी थी जिंदगी, सर्जरी बाद मिला नया जीवन

20 साल से बिस्तर पर ही जिंदगी गुजारने को मजबूर 28 वर्षीय युवक को जटिल सर्जरी कर नया जीवन मिला है।

 जयपुर। 20 साल से बिस्तर पर ही जिंदगी गुजारने को मजबूर 28 वर्षीय युवक को जटिल सर्जरी कर नया जीवन मिला है। युवक एंकिलॉजिंग स्पॉन्डिलाइटिस बीमारी से पीड़ित था, जिसके कारण उसका दायां कूल्हे का जोड़ फ्यूज्ड हो चुका था। इससे न तो वह चल पा रहा था और न ही ठीक से बैठ पाता था। शैल्बी हॉस्पिटल के सीनियर जॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जन डॉ. धीरज दुबे ने अत्याधुनिक तकनीक से मरीज के अविकसित हिप जॉइंट को दोबारा बनाया और सर्जरी कर उसे फिर से चलने योग्य बना दिया। डॉ. दुबे ने बताया कि ऐसे केस में मरीज की सामान्य जॉइंट रिप्लेसमेंट सर्जरी नहीं हो सकती। इस केस में कूल्हे के जोड़ को दोबारा बनाने के लिए डबल विंडो एक्सपोजर तकनीक का उपयोग कर मरीज को विशेष तरह का ड्यूल मोबिलिटी कप जॉइंट लगाया गया, ताकि जोड़ की चाल सामान्य हो सके।

Post Comment

Comment List

Latest News

फ्लोरिडा के इतिहास में इयान सबसे घातक हो सकता है : बाइडेन फ्लोरिडा के इतिहास में इयान सबसे घातक हो सकता है : बाइडेन
बाइडेन ने वाशिंगटन डीसी में संघीय आपातकालीन प्रबंधन एजेंसी मुख्यालय की यात्रा के दौरान इयान का जिक्र करते हुए कहा...
मल्लिकार्जुन खड़गे, शशि थरुर और के एन त्रिपाठी ने भरा नामांकन, दिग्विजय हुए रेस से बाहर
नारायण बारेठ का कार्यकाल समाप्त, किया 7 हजार से ज्यादा मामलों का निस्तारण
उद्योग मंत्री ने की इन्वेस्ट राजस्थान क्विज के विजेताओं की घोषणा
ताइवान के बेड़े में शामिल हुआ नया युद्धपोत
शेयर बाजार 1.5 प्रतिशत की तेजी के साथ हुआ बंद 
तमिलनाडु में फटा गैस सिलेंडर, 3 की मौत