एटीजीएल ने की इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए पहले चार्जिंग स्टेशन की शुरुआत

इलेक्ट्रिक मोबिलिटी इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में पदार्पण कर लिया

एटीजीएल ने की इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए पहले चार्जिंग स्टेशन की शुरुआत

देश की प्रमुख गैस वितरक कंपनी अदानी टोटल गैस लिमिटेड (एटीजीएल) ने अहमदाबाद में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए अपने पहले चार्जिंग स्टेशन (ईवीसीएस) की शुरुआत कर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में पदार्पण कर लिया।

नई दिल्ली। देश की प्रमुख गैस वितरक कंपनी अदानी टोटल गैस लिमिटेड (एटीजीएल) ने अहमदाबाद में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए अपने पहले चार्जिंग स्टेशन (ईवीसीएस) की शुरुआत कर इलेक्ट्रिक मोबिलिटी इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में पदार्पण कर लिया। कंपनी ने बयान में बताया कि यह ईवीसीएस अहमदाबाद के मणिनगर में एटीजीएल के सीएनजी स्टेशन पर शुरू किया गया है। इससे इलेक्ट्रिक वाहन मालिकों के लिए सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास फास्ट चार्जिंग तकनीक और डिजिटल प्लेटफॉर्म की सुविधा प्राप्त हो सकेगी। एटीजीएल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुरेश पी. मंगलानी ने कहा कि अहमदाबाद में पहला चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने के साथ इलेक्ट्रिक वाहन व्यवसाय की शुरुआत अदानी टोटल गैस के लिए भारत में बड़े उपभोक्ता आधार को नए हरित ईंधन का विकल्प प्रदान करने के लिए एक और मील का पत्थर है। यह एक उभरते हुए व्यावसायिक अवसर को समय पर प्रापत करने के उद्देश्य से भारत के सभी प्रमुख शहरों और कस्बों में ईंधन स्टेशन उपलब्ध कराने के हमारे विजन से जुड़ा हुआ है।

कंपनी का लक्ष्य देश भर में 1500 ईवीसीएस स्थापित करके अपने नेटवर्क का विस्तार करना है। सीएनजी के खुदरा विक्रेता के रूप में एटीजीएल का देश भर में मजबूत प्रभाव   है। उसके के पास इलेक्ट्रिक मोबिलिटी क्षेत्र में कारोबार करने और तेजी से बढ़ते इलेक्ट्रिक वाहन बाजार के एक महत्वपूर्ण हिस्से पर अधिकार करने की रणनीति तैयार है।

Post Comment

Comment List

Latest News

भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस
उन्होंने कहा कि यात्रा को पहले दक्षिण के पांच राज्यों में भारी समर्थन मिला था और जब यात्रा  महाराष्ट्र पहुंची...
झुंझुनूं में विकास की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी : बृजेंद्र ओला
भारतीय संविधान विश्वभर के लोकतंत्रों की सर्वश्रेष्ठ व्याख्या: राज्यपाल मिश्र
खाद की कमीः क्षेत्र में खाद भी राशन की तरह बांटना पड़ा
वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ
सेना के जवान का बीमारी के चलते निधन राजकीय सम्मान से किया अंतिम संस्कार
भाजपा के टेपन 978 वोट से हुए विजयी