मेडिकल कॉलेज में इको मशीन स्थापित

अस्पताल में मरीजों को मिलेगी सुविधा, मेडिसिन विभाग में होगा संचालन, 14 लाख रुपये खर्च

मेडिकल कॉलेज में इको मशीन स्थापित

न्यू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक और इको मशीन स्थापित कर दी है। इसका ट्रायल भी कर लिया है। पहले दिन दो लोगों पर ट्रायल कर चेक किया। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बुधवार से सेवाएं प्रारंभ हो जाएगी।

कोटा। न्यू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक और इको मशीन स्थापित कर दी है। इसका  ट्रायल भी कर लिया है। पहले दिन दो लोगों पर ट्रायल कर चेक किया। इसमें थोड़ा सा तकनीकी फॉल्ट था, जिसके चलते इसको शुरू नही किया गया। हालांकि, ये छोटा सा इशू था। इसको बुधवार को दूर कर लिया है। ऐसे में इसी दिन से इसकी शुरूआत कर दी जाएगी। सर्विस इंजीनियर शुभम शर्मा ने बताया कि मशीन पर ट्रायल किया है। रिजल्ट अच्छे मिले है। थोड़ी सी सेटअप में प्रॉब्लम थी। इसको भी दूर कर दिया जाएगा। इसके बाद विधि विधान से मशीन की शुरूआत कर दी जाएगी। हालांकि, इससे पूर्व इसका एक बार और ट्रायल होना है। ये ट्रायल मरीजों पर किया जाना है। फिर भी लगभग तय है कि मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बुधवार से सेवाएं प्रारंभ हो जाएगी।

अभी कार्डियोलॉजी में सेवाएं
अस्पताल में एक मशीन पहले से संचालित है, लेकिन कार्डियोलॉजी  विभाग के अधीन है। इसमें हार्ट के मरीजों के लिए उपयोग में ली जा रही है। जबकि, ये मशीन मेडिसिन में स्थापित हुई है। इसका संचालन मेडिसिन विभाग द्वारा किया जाएगा। खास बात ये है कि मेडिसिन में पहली बार मशीन स्थापित की गई है। इस तरह से अस्पताल में दो मशीनें हो चुकी है। दोनों विभागों की अपनी मशीनें हो चुकी है।

14 लाख रुपये हुए थे खर्च
इस मशीन में 14 लाख रुपये खर्च हुए है। इससे पूर्व मेडिसिन विभाग में टीएमटी मशीन भी स्थापित की जा चुकी है। इनके स्थापित होने से मरीजों को काफी सुविधाएं मिलेगी। हालांकि, मेडिसिन विभाग ने इससे पूर्व भी कार्डियोलॉजी की मशीन का काफी कम यूज किया है। जबकि, मरीज उनके पास भी काफी आये थे। इसके बावजूद भी उपयोग न के बराबर रहा है। हालांकि, ये खुद की मशीन होने से अधिक उपयोग हो सकेगा।

इनका कहना है
अस्पताल में इको मशीन स्थापित कर दी है। इस पर ट्रायल भी किया है। बुधवार से सेवाएं प्रारम्भ कर दी जाएगी।
- डॉ गिरीश वर्मा, विभागाध्यक्ष, मेडिसिन, मेडिकल कॉलेज, कोटा

Post Comment

Comment List

Latest News