अशोक गहलोत विधानसभा चुनाव की हार की हताशा में हैं : मेघवाल

ये उनकी मनोस्थिति को दर्शाते हैं

अशोक गहलोत विधानसभा चुनाव की हार की हताशा में हैं : मेघवाल

गहलोत के राज में तो पॉवर को लेकर सचिन पायलट और उनकी लड़ाई ही चलती रही। पहले भी उन्होंने सरकार को लेकर अनर्गल बयान दिया था।

जयपुर। केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने पूर्व सीएम अशोक गहलोत के बयान पर भाजपा ऑफिस में मीडिया से अनौपचारिक बातचीत में पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा की सरकार मजबूत स्थिति में है। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने अपने 2 माह के कार्यकाल में प्रदेश की जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए ऐतिहासिक फैसले किए हैं। पूर्व सीएम गहलोत अपनी सरकार के 2 माह के कार्यकाल में किए गए कार्यों पर चर्चा कर लें। गहलोत को कांग्रेस के जन घोषणा पत्र और भाजपा के संकल्प पत्र को लेकर जनता के समक्ष खुले मंच पर चर्चा करनी चाहिए, लेकिन वे ऐसा नहीं करेंगे। उनके आरोप लगाना निराधार है, ये उनकी मनोस्थिति को दर्शाते हैं। वे तो विधानसभा की हार से हताश होकर मजबूरी में मुख्यमंत्री या भाजपा पर आरोप लगाते है। 

गहलोत के राज में तो पॉवर को लेकर सचिन पायलट और उनकी लड़ाई ही चलती रही। पहले भी उन्होंने सरकार को लेकर अनर्गल बयान दिया था। भाजपा के संकल्प पत्र में किए गए वादों पर मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने एक के बाद एक पूरा करने की दिशा में काम शुरू कर दिया। फिर चाहे वो ईआरसीपीए यमुना जल समझौता, 450 रूपए में उज्ज्वला रसोई गैस योजना, पेपरलीक मामले में एसआईटी गठन, महिला अपराध रोकने की दिशा में एंटी रोमियों टास्क फोर्स का गठन, अपराधों पर लगाम लगाने के लिए एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स का गठन का मामला ही क्यों ना हो। महज 2 माह के कार्यकाल में इन पर ऐतिहासिक फैसले किए। गहलोत कह रहे है कि ईडी का डर दिखाया जा रहा है, मैं गहलोत से पूछना चाहता हूं कि हिमाचल प्रदेश में तो उनके 40 विधायक थे, किसका डर दिखाया था वहाँ पर कांग्रेस के अंदर खुद में असंतोष है। कांग्रेस में असंतोष का आंकलन भी नहीं कर पाते हैं। गहलोत अपने नेताओं पर कंट्रोल नहीं कर पाते और फिर दूसरों पर आरोप लगाते हैं। हमारा गुड गवर्नेंस और डवलपमेंट देने का संकल्प है। हम उसी दिशा में कार्यरत है। 

Tags: arjunram

Post Comment

Comment List

Latest News