मोस्ट वांटेड अपराधियों की पहली पसंद बना दुबई

षिण अफ्रीका के गुप्ता बंधु एक ताजा उदाहरण है

मोस्ट वांटेड अपराधियों की पहली पसंद बना दुबई

आसिफ अली जरदारी के परिवार और दिवंगत राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ की भी संपत्तिया हैं। रिपोर्ट 2020-22 के आंकड़ों पर आधारित है। 

रियाद। दुबई में रियल एस्टेट के मालिकों से जुड़ी एक अंतरराष्ट्रीय जांच दुबई अनलॉक्ड ने बड़ा खुलासा किया है। इसमें कहा गया कि दुनिया से आने वाला काला धन दुबई के रियल एस्टेट में डाला जा रहा है। हालांकि इस रिपोर्ट का यह बिल्कुल भी नहीं कहना है कि दुबई में प्रॉपर्टी खरीदने वाले हर शख्स का पैसा डर्टी मनी है। लेकिन डर्टी मनी की यह पहली पसंद बन गया है। रिपोर्ट में भारत के कुछ बड़े नामों का भी जिक्र है। वहीं अगर पड़ोसी पाकिस्तान की बात करें तो यहां के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के परिवार और दिवंगत राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ की भी संपत्तिया हैं। रिपोर्ट 2020-22 के आंकड़ों पर आधारित है। 

न्यूयॉर्क-लंदन से अच्छा विकल्प

दक्षिण अफ्रीका के गुप्ता बंधु एक ताजा उदाहरण है। उनके ऊपर दक्षिण अफ्रीका का सार्वजनिक धन लूटने का आरोप है। दोनों देशों के बीच प्रत्यर्पण संधि के बावजूद पिछले साल यूएई ने दक्षिण अफ्रीका की ओर से गुप्ता भाइयों के प्रत्यर्पण के अनुरोध को खारिज कर दिया। यह कदम दक्षिण अफ्रीका के लिए एक बड़ा झटका था। न्यूयॉर्क और लंदन के रियल एस्टेट में भी डर्टी मनी है, लेकिन एक्सपर्ट्स का कहना है कि जिन लोगों को पश्चिमी देशों में प्रतिबंधों का डर होता है उनके लिए दुबई एक अच्छा विकल्प है।

अपराधियों ने ली शरण
दुबई अनलॉक्ड ने अपनी रिपोर्ट में लिखा, शहर भारी निगरानी के लिए मशहूर है। फिर भी एक दशक में कई कथित ड्रग तस्करों और अन्य अपराधियों ने वहां शरण ली है। रिपोर्ट में आगे कहा गया, अन्य लोग, जैसे इसाबेल डॉस सैंटोस जो अंगोला के लंबे समय तक तानशाह रहे उनकी बेटी हैं। मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों के कारण कई देशों में उनकी संपत्ति जब्त कर ली गई है और अमेरिका में उनका प्रवेश भी रोक दिया गया है। दुबई में न सिर्फ उनके पास संपत्ति है, बल्कि उन्हें खुलेआम सुख-सुविधाओं का आनंद लेते देखा गया है। डॉस सैंटोस का कहना है कि उन्होंने प्रॉपर्टी प्राइवेट सेक्टर के बिजनेस से खरीदी है।

Read More NEET Paper Leak पर सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी- अगर परीक्षा में 0.001 फीसदी भी लापरवाही हो, उचित समय पर उचित कार्रवाई करें

भगोड़ों के लिए सबसे सेफ जगह
चालीस साल पहले दुबई एक साधारण जगह थी, जो मध्य पूर्व के मुहाने पर है। अरब का रिगिस्तान बिना किसी बाधा के फारस की खाड़ी में पहुंच सकता था। व्यापार करने वाले लोग यहां व्यापार करते हैं। दुनिया के रईस यहां अपनी छुट्टियां मनाते हैं। दुबई में लोग सिर्फ बिल्डिंग और विला के लिए ही नहीं जाते। रिपोर्ट्स के मुताबिक दुबई भगोड़ों के लिए एक आकर्षक जगह है, क्योंकि प्रत्यर्पण करवा पाना बहुत मुश्किल है।

Read More अमेरिका में एक वॉटर पार्क में व्यक्ति ने की फायरिंग, 9 लोग घायल

 

Read More रायबरेली से सांसद बने रहेंगे राहुल गांधी, वायनाड सीट से प्रियंका लड़ेंगी उपचुनाव

Tags: criminals

Post Comment

Comment List

Latest News

जेडीए ने अवैध निर्माण किए ध्वस्त, 200 से अधिक अवैध निर्माणों को तोड़ा जाएगा जेडीए ने अवैध निर्माण किए ध्वस्त, 200 से अधिक अवैध निर्माणों को तोड़ा जाएगा
शहर में अवैध निर्माण एवं अतिक्रमणों को लेकर की जा रही कार्रवाई के दौरान जयपुर विकास प्राधिकरण के प्रवर्तन दस्ते...
सदन में अब नहीं चल पाएगी भाजपा की मनमानी: कांग्रेस
"स्वस्थ और तंदुरुस्त राजस्थान": इस बार के बजट में चिकित्सा और स्वास्थ्य पर होगा सर्वाधिक फोकस
डंपर चालक ने ली बाइक सवार की जान
जनता के सामने एक्सपोज हो चुकी मोदी की गारंटी: गहलोत
मोदी 30 जून को करेंगे मन की बात, देशवासियों से मांगे सुझाव
High Court के निर्देश पर अवैध खनन के खिलाफ जांच अभियान