संदेशखाली मामले में सीबीआई जांच के खिलाफ पश्चिम बंगाल सरकार की याचिका खारिज

संदेशखाली मामले में सीबीआई जांच के खिलाफ पश्चिम बंगाल सरकार की याचिका खारिज

उच्चतम न्यायालय ने संदेशखली में महिलाओं के सामूहिक यौन शोषण और जमीन हड़पने के आरोपों की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपने के खिलाफ पश्चिम बंगाल सरकार की याचिका सोमवार को खारिज कर दी।

नई दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने संदेशखली में महिलाओं के सामूहिक यौन शोषण और जमीन हड़पने के आरोपों की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंपने के खिलाफ पश्चिम बंगाल सरकार की याचिका सोमवार को खारिज कर दी।

न्यायमूर्ति बी आर गवई और न्यायमूर्ति के वी विश्वनाथन की पीठ ने याचिका खारिज करने के साथ ही स्पष्ट किया कि उच्च न्यायालय द्वारा की गई टिप्पणियों से निचली अदालत की कार्यवाही पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

सामूहिक यौन शोषण और जमीन हड़पने के कथित मामले में निलंबित तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पार्टी के सदस्य शेख शाहजहां और अन्य पर महिलाओं के सामूहिक यौन शोषण और जमीन हड़पने के आरोप लगाये गये हैं।

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने गत 10 अप्रैल को उत्तर 24 परगना जिले के बशीरहाट उपमंडल के संदेशखाली में निलंबित टीएमसी नेता शाहजहां और अन्य के खिलाफ महिलाओं के यौन शोषण और भूमि हड़पने के आरोपों की सीबीआई जांच के आदेश दिए थे।

Read More थोक महंगाई 16 महीने के उच्चतम स्तर पर, 3.36 प्रतिशत पर पहुंची

Post Comment

Comment List

Latest News

कश्मीर में आतंकी गतिविधियों का बढ़ना चिंता का विषय, सरकार उठाएं प्रभावी कदम : गहलोत कश्मीर में आतंकी गतिविधियों का बढ़ना चिंता का विषय, सरकार उठाएं प्रभावी कदम : गहलोत
केंद्र सरकार से हमारा अनुरोध है कि आतंकवाद की समाप्ति के लिए प्रभावी कदम उठाए। आतंकवाद से लड़ाई में पूरा...
पुलिस थाना महेश नगर जयपुर दक्षिण की बड़ी कार्रवाई, मोबाईल चोरी करने वाली खट-खट गैंग का पर्दाफाश
मणिपुर-त्रिपुरा में हिंसा की घटनाएं प्रायोजित : कांग्रेस
ग्रीष्मकालीन अभिरुचि शिविर के तहत विशेष प्रदर्शनी का आयोजन, स्टूडेंट्स ने भीलवाड़ा शाहपुरा की फड़ को प्रदर्शित
RU के छात्र-छात्राओं की समस्याओं को लेकर विरोध प्रदर्शन
Stock Market Update : शेयर बाजार में लगातार तीसरे दिन तेजी, सेंसेक्स 51.69 अंक उछला
मुख्यमंत्री के पिता चोटिल, बाथरूम में फिसलकर गिरे, जयपुर किया सकता है रैफर