शिवम नाट्यालय का 28 वां अरंगेत्रम

शिवम नाट्यालय का 28 वां अरंगेत्रम दिव्यांशी पुरोहित पुत्री श्री किशन गोपाल पुरोहित,अनुराधा पुरोहित द्वारा एस एन मेडिकल कॉलेज ऑडिटोरियम में 12 जून 2022 को होने जा रहा है।

शिवम नाट्यालय का 28 वां अरंगेत्रम

दिव्यांशी महावीर पब्लिक स्कूल की 11वीं की छात्रा है। जिसे बचपन से ही नृत्य के प्रति रुचि रही है और इसके अतिरिक्त पेंटिंग स्केचिंग व ड्राइंग में भी निपुण हैं। मात्र 4 वर्ष की आयु में दिव्यांशी का भरतनाट्यम के प्रति पहली बार रुझान दिखा जब संवित धाम आश्रम में गुरु पूर्णिमा के महोत्सव पर शारदा बालाजी जो बेंगलुरु की भरतनाट्यम नृत्यांगना है

शिवम नाट्यालय का 28 वां अरंगेत्रम दिव्यांशी पुरोहित पुत्री श्री किशन गोपाल पुरोहित,अनुराधा पुरोहित द्वारा एस एन मेडिकल कॉलेज ऑडिटोरियम में 12 जून 2022 को होने जा रहा है। दिव्यांशी महावीर पब्लिक स्कूल की 11वीं की छात्रा है। जिसे बचपन से ही नृत्य के प्रति रुचि रही है और इसके अतिरिक्त पेंटिंग स्केचिंग व ड्राइंग में भी निपुण हैं। मात्र 4 वर्ष की आयु में दिव्यांशी का भरतनाट्यम के प्रति पहली बार रुझान दिखा जब संवित धाम आश्रम में गुरु पूर्णिमा के महोत्सव पर शारदा बालाजी जो बेंगलुरु की भरतनाट्यम नृत्यांगना है उनके नृत्य को एकाग्र होकर देखा, फिर उनकी मुद्राओं को घर में दोहराने लगी। उसकी इस रुचि को देखकर गुरु की खोज शुरू हुई। तब खोजबीन करने पर गुरु मंजूषा सक्सेना जी से मुलाकात हुई और एक सही गुरु की तलाश पूर्ण हुई और आज उन्हीं गुरु की असीम कृपा से दिव्यांशी इस मुकाम पर पहुंच पाई है।आपके आशीर्वाद की कामना है।

Post Comment

Comment List

Latest News

नजदीक से गुजर रहे हाईटेंशन तार, हर पल मौत का साया नजदीक से गुजर रहे हाईटेंशन तार, हर पल मौत का साया
लोगों का छतों पर जाना भी मुश्किल हो रहा है। 220 केवी की लाइन के चपेट में आने के डर...
शादी की तैयारियों के बीच मेरिज गार्डन पहुंचा भारी भरकम मगरमच्छ, मचा हड़कम्प
अंबानी परिवार को मिली धमकी, फोन कर कहा, 'एचएन रिलाइंस फाउंडेशन अस्पताल को बम से उड़ा दिया जाएगा'
मोदी ने हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर एम्स का किया उद्घाटन
राष्ट्रीय दल बनते ही टीआरएस का बदला नाम, हुआ भारतीय राष्ट्र समिति
निचले स्तर पर ही सुनिश्चित हो रहा है लोगों की समस्याओं का निस्तारण - गहलोत
वर्तमान सरकार के राज में विकास का पहिया थम गया : राजेंद्र राठौड़