भवन को ऊपर से चमका रहे, पार्किंग में दुर्दशा

सब्जीमंडी स्थित निगम की पार्किंग में सालों से भरा है सीपेज का गंदा पानी

भवन को ऊपर से चमका रहे, पार्किंग में दुर्दशा

नगर निगम द्वारा सामुदायिक भवन के नीचे बनी अंडरग्राउंड पार्किंग की दशा सुधारने पर ध्यान ही नहीं दिया जा रहा है। हालत यह है कि इस पार्किंग में अंदर की तरफ काफी समय से सीपेज का गंदा पानी भरा हुआ है। जिससे वहां दुर्ग़ंध फेल रही है।

कोटा। शहर में एक तरफ तो बढ़ते वाहनों के कारण  उन्हें खड़े करने के लिए पार्किंग की समस्या हो रही है। वहीं दूसरी तरफ नगर निगम द्वारा बनी हुई पार्किंग पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिससे उसकी दुर्दशा हो रही है। यह मामला है नगर निगम कोटा उत्तर क्षेत्र के सब्जीमंडी क्षेत्र का। यहां नगर निगम की अंडरग्राउंड पार्किंग बनी हुई है। लेकिन उस पर निगम अधिकारियों द्वारा ध्यान नहीं देने से उसकी हालत खराब हो रही है। पार्किंग के पास व ऊपर की तरफ नगर विकास न्यास का महर्षि वाल्मीकि सामुदायिक भवन बना हुआ है। कई साल पहले बना होने से उसमें टूटफूट हो गई थी। जिसे न्यास द्वारा करीब 30 लाख रुपए खर्च कर सही कराया जा रहा है। न्यास द्वारा सामुदायिक भवन की दशा सुधारने के लिए उसमें टीनशेड लगाने, कोटा स्टोन का काम करने, चारों तरफ की दीवारों को ऊंचा करने और लैट-बाथ को सही करने का काम किया जा रहा है। न्यास द्वारा इस सामुदायिक भवन को किराए पर दिया जाता है। जिससे यहां सामाजिक आयोजन हो रहे हैं। 

वहीं दूसरी तरफ नगर निगम द्वारा सामुदायिक भवन के नीचे बनी अंडरग्राउंड पार्किंग की दशा सुधारने पर ध्यान ही नहीं दिया जा रहा है। हालत यह है कि इस पार्किंग में अंदर की तरफ काफी समय से सीपेज का गंदा पानी भरा हुआ है। जिससे वहां दुर्ग़ंध फेल रही है। उसकी सीढ़ियों पर कचरे का अम्बार लगा हुआ है। आवारा मवेीशयिों ने जमावड़ा डाल रखा है। साथ ही रात के समय यहां अवैध गतिविधियां हो रही हैं। नशा करने वालों ने अपना अड्डा बना रखा है। साथ ही पार्किंग की दुर्दशा होने से इसका उपयोग तक नहीं हो पा रहा है। लाखों रुपए की सम्पति बेकार पड़ी हुई है। स्थानीय लोगों का कहना है कि निगम की इस जगह का उपयोग तो नहीं हो रहा है। साथ ही इसके ऊपर बने सामुदायिक भवन को तो सुधारा जा रहा है। जबकि उसके नीचे नींव के रूप में बनी पार्किंग सीपेज के कारण कमजोर हो रही है। ऐसे में वह सामुदायिक भवन कभी भी धराशाही हो सकता है। जिससे आयोजन के दौरान लोगों की भीड़ रहने से कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। यदि नगर निगम ने इस पर ध्यान नहीं दिया तो भविष्य में होने वाले हादसे के लिए निगम अधिकारी जिम्मेदार होंगे। 

इनका कहना है
पहले कोरोना और फिर दशहरा में व्यस्तरा के कारण सब्जीमंडी पार्किंग पर ध्यान नहीं दिया गया। अब सामुदायिक भवन में न्यास द्वारा काम करवाया जा रहा है। ऐसे में न्यास अधिकारियों से पार्किंग में भी काम करवाने के संबंध में बात की जाएगी। यदि वे सहमत हो गए तो उनसे काम करवाएंगे। वरना वे निगम अधिकारियों से चर्चा कर निगम के स्तर पर ही इस पार्किंग को शीघ्र  ही सही करवाने का प्रयास किया जाएगा।
- मंजू मेहरा, महापौर, नगर निगम कोटा उत्तर 

Read More बेकाबू मेटाडोर कार में घुसी, दो की मौत, तीन घायल

Post Comment

Comment List

Latest News

रीजनल कॉलेज फॉर एजूकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में मोटिवेशनल प्रोग्राम का आयोजन रीजनल कॉलेज फॉर एजूकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में मोटिवेशनल प्रोग्राम का आयोजन
संस्था के वाइस चेयरमैन डॉ. अंशु सुराना ने बताया कि कॉलेज में समय समय पर कैरियर गाइडेंस के कार्यक्रम आयोजित...
पायलट और मैं पार्टी एसेट, हमारे और नेता भी एसेट: गहलोत
आईएफएफआई जूरी प्रमुख की टिप्पणी कश्मीरी हिंदुओं पर हुए अत्याचारों की भयावहता का अपमान - रोड्रिग्स
30 लाख कीमत का 287 किलो गांजा बरामद, 6 अभियुक्त गिरफ्तार
राहुल, सोनिया की जुबान बोल रहे हैं खडग़े : भाजपा
बेकाबू मेटाडोर कार में घुसी, दो की मौत, तीन घायल
हिमालय से कोटा पहुंचे ब्लैक काइट शिकारी पक्षी