सहकारी समिति भावता-भावती के चुनाव में धांधली का आरोप

ग्रामीणों की चेतावनी: चुनाव रद्द नहीं तो देंगे कलेक्ट्रेट पर धरना

सहकारी समिति भावता-भावती के चुनाव में धांधली का आरोप

चुनाव प्रक्रिया में धांधली के विरोध में तीनों गांव के ग्रामीणो की भावता-भावती सरपंच रतिराम मीना की अध्यक्षता में आपात बैठक का आयोजन किया गया।

बांदीकुई। सहकारी समिति भावता-भावती के 26 नवंबर को हुए चुनाव आरोप प्रत्यारोपो की भेंट चढ़ गए हैं। 3 गांव के ग्रामीणों ने समिति के व्यवस्थापक पर चुनाव प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगा प्रशासन को चेतावनी दी है, कि अगर 3 दिवस के भीतर चुनाव रद्द नहीं किए गए तो बुधवार को भावता,भावती व बगड़ेडा गांव के लोग कलक्टृट पर धरना देंगे। चुनाव प्रक्रिया में धांधली के विरोध में तीनों गांव के ग्रामीणो की भावता-भावती सरपंच रतिराम मीना की अध्यक्षता में आपात बैठक का आयोजन किया गया।

बैठक में ग्रामीणों का कहना था कि व्यवस्थापक ने चुनाव में फार्म भरने की सूचना को छिपाया। ग्रामीणों को चुनाव के लिए फार्म भरने की सूचना नही दी गई। ग्रामीणों को दो बजे चुनाव के बारे में जानकारी मिलने पर वे  फार्म भरने गए तो व्यवस्थापक ने समय निकल जाने का हवाला देते फार्म नहीं भरवाया। ग्रामीणों ने का आरोप है, कि चुनाव की पूर्व सूचना कार्यालय पर चस्पा नहीं की गई। व्यवस्थापक ने अपने निजी व्यक्तियों को लाभ पहुचाने के लिए धांधली की है। बैठक में ग्रामीणों ने एक स्वर में निर्णय लिया है, कि चुनाव प्रक्रिया में हुई धांधली को देखतेअगर तीन दिवस के भीतर चुनाव रद्द नही किए गए तो भावता, भावती व बगडेडा गांव के लोग कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन करेंगे।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News