यूआईटी ने ध्वस्त किए बरसों पुराने अतिक्रमण

विश्वकर्मा नगर और विधायकपुरी कॉलोनी में हटाया अतिक्रमण

यूआईटी ने ध्वस्त किए बरसों पुराने अतिक्रमण

यूआईटी द्वारा बरसो पुराने अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई लगातार की जा रही है । कई जगहों पर निगम व यूआईटी की बेशकीमती जमीनों पर अवैध रूप से लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है ।

कोटा। नगर विकास न्यास के अतिक्रमण निरोधक दस्ते ने गुरुवार को शहर में दो स्थानों पर कार्रवाई करते हुए बरसों पुराने अतिक्रमण ध्वस्त किए। नगर विकास न्यास के सचिव राजेश जोशी के निर्देश पर न्यास का दस्ता सुबह विश्वकर्मा नगर पहुंचा । जहां उन्होंने नगर विकास न्यास के किओस्क में बरसों से हो रहे अतिक्रमण को ध्वस्त किया । जेसीबी की सहायता से दुकानों में हो रहे अतिक्रमण को हटाया और अतिक्रमियों को चेतावनी दी कि वे दोबारा यहां पर अतिक्रमण नहीं करें ।

न्यास अधिकारियों का कहना है कि यूआईटी ने पुनर्वास के तहत इन किओस्क का निर्माण कराया था जहां दुकानदारों को आवंटन किया जाना था। लेकिन कुछ लोगों ने यहां अतिक्रमण कर लिया और अवैध रूप से इन की ओट में रह रहे थे जिन्हें यूआईटी के अतिक्रमण दस्ते ने खाली करवाकर अतिक्रमण को ध्वस्त किया। इसके साथ ही रंगबाड़ी योजना , विधायकपुरी कॉलोनी में भी हो रहे अतिक्रमण को हटाया ।  कुछ लोगों ने अतिक्रमण हटाने का विरोध भी किया लेकिन पुलिस जाप्ते की मदद से समझाइश कर सभी को शांत कराया गया । अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के दौरान नगर विकास न्यास के पुलिस उपाधीक्षक आशीष भार्गव , तहसीलदार रामकल्याण ,यादवेंद्र , रामनिवास मीणा और कैलाश मीणा, यूआईटी के इंजीनियर और तहसील का जाप्ता मौजूद रहा । 

गौरतलब है कि यूआईटी द्वारा बरसो पुराने अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई लगातार की जा रही है । कई जगहों पर निगम व यूआईटी की बेशकीमती जमीनों पर अवैध रूप से लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है । नगर विकास न्यास की ओर से गत दिनों मेडिकल कॉलेज के सामने हरिओम नगर में करोड़ों रुपए की जमीन पर अतिक्रमण कर झोपड़ियां बनाने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई करते हुए उन्हें ध्वस्त कर जमीन को अतिक्रमण से मुक्त कराया था । सब्जी मंडी इलाके में भी करीब 100 करोड़ रुपए से अधिक की कीमत वाली जमीन को अतिक्रमण से मुक्त कराया था।

Post Comment

Comment List

Latest News