रंगाई-छपाई की फैक्ट्रियों के बीच में ऑटोमैटिक मशीनों से नकली शराब बनाने वाले 10 गिरफ्तार

कारखानों पर पुलिस का शिकंजा

रंगाई-छपाई की फैक्ट्रियों के बीच में ऑटोमैटिक मशीनों से नकली शराब बनाने वाले 10 गिरफ्तार

पुलिस टीम ने यहां से एक पिकअप, दो लोडिंग टैंपो और गोदाम से 539 पेटी नकली देशी शराब और 500 लीटर के पांच ड्रमों में मिक्स स्प्रिट, ऑटोमेटिक पैकिंग प्लांट व हस्त संचालित मशीनें बरामद की हैं।

जयपुर। कमिश्नरेट की सीएसटी टीम, सांगोनर सदर और शिवदासपुरा पुलिस ने तीन जगह पर संयुक्त कार्रवाई कर नकली शराब बनाने वाले 10 लोगों को पकड़ा है। इनके कब्जे से तीन ट्रक, एक पिकअप व दो लोडिंग वाहन, दो मोटरसाइकिल सहित आठ वाहन जब्त किए गए हैं। पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि कांस्टेबल अजय कुमार को मुखबिर से सूचना मिली कि जयपुर शहर में कपड़ा छपाई की फैक्ट्री की आड़ में नकली देशी व अंग्रेजी शराब बनाकर राजस्थान व गुजरात में सप्लाई की जा रही है। इस कार्रवाई के लिए एडिशनल कमिश्नर अजयपाल लाम्बा के नेतृत्व में टीम बनाकर जांच शुरू की गई।  

स्प्रिट के 191 ड्रम बरामद 
दूसरी कार्रवाई में ग्वार ब्रहामण रोड शिकारपुरा पर डाले गए छापे में गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ की तो उनकी एक अन्य फैक्ट्री ग्राम कोकाबास में भी होने का पता चला। टीम ने कोकाबास फैक्ट्री पर दबिश दी और दो ट्रकों में लदे 191 स्प्रिट के भरे ड्रम, मिक्सिंग के लिए खाली पव्वे, बिजली-पानी की व्यवस्था, अंग्रेजी व देशी शराब के नकली रेपर व कार्टन मिले हैं। पहली कार्रवाई की भनक लगने से ट्रक ड्राइवर व तस्कर फैक्ट्री व गोदाम को सूना छोड़कर फरार हो गए थे। इस फैक्ट्री के मालिक श्यामलाल कटारिया निवासी ठीकरिया बगरू हाल सोडाला ने ये फैक्ट्री अशोक चौधरी और रवि बालोत को किराए पर दे रखी थी। फैक्ट्री मालिक की भूमिका भी संदिग्ध है। 

शराब की  बोतलों पर लगाए गए थे नकली रेपर 
पहली कार्रवाई में सांगानेर थाना इलाके में ग्वार ब्राह्मण रोड सरहद शिकारपुरा में की गई। यहां रंगाई-छपाई की फैक्ट्रियों के बीच फरार आरोपी अशोक चौधरी और रवि बालोत मीणा ने फैक्ट्री को किराए पर लिया था। इसमें टीन शेड लगाकर गोपनीय ढंग से स्प्रिट व पानी को मिक्स कर ऑटोमैटिक प्लांट से नकली शराब बनाई जा रही थी। इसकी बोतलों पर कंपनियों के नकली रेपर लगे थे।

यहां सीएसटी व पुलिस थाना सांगानेर सदर की टीम ने घेर कर छापा मारा और चालू हालत में मशीनों को जब्त किया। पुलिस टीम ने यहां से एक पिकअप, दो लोडिंग टैंपो और गोदाम से 539 पेटी नकली देशी शराब और 500 लीटर के पांच ड्रमों में मिक्स स्प्रिट, ऑटोमेटिक पैकिंग प्लांट व हस्त संचालित मशीनें बरामद की हैं। टीम ने यहां से भींवाराम निवासी रायसर, कैलाश मीणा निवासी बड़ौदा अलवर, मनोज कुमार मीणा निवासी रायसर, मूलचंद मीणा निवासी आमेर, अशोक कुमार मीणा निवासी सीकर, विजय कुमार मीणा निवासी रायसर, सुशील मीणा निवासी सीकर, रोशन मीणा निवासी जयपुर ग्रामीण, राजकुमार निवासी शाहपुरा और सोहन लाल मीणा निवासी सीकर को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में पता चला कि फैक्ट्री को रवि बालोत व अशोक चौधरी ने 50 हजार रुपए महीने के किराए पर लिया था।  फैक्ट्री मालिक गणेश यादव सांगानेर सदर का है। ठेकेदार गिरफ्तार लोगों को 70 रुपए प्रति पेटी शराब के हिसाब से काम करने के लिए लेकर आया था। करीब छह माह से इस शराब फैक्ट्री में नकली शराब बनाई जा रही थी। 

Read More महिला पार्षद के गले से सोने की चेन तोड़ने का प्रयास, तलाश में जुटी पुलिस

फैक्ट्री और गोदाम भी पकड़ा 
तीसरी कार्रवाई के दौरान पुलिस टीम को वसुंधरा कॉलोनी वाटिका रोड शिवदासपुरा स्थित एक अवैध नकली शराब की फैक्ट्री व गोदाम भी मिला। ये फैक्ट्री बद्रीनारायण बागड़ा के परिसर को किराए पर लेकर गोपनीय ढंग से चलाई जा रही थी। टीम ने यहां दबिश देकर वहां से सात कमरों में भरे स्प्रिट के भरे ड्रम व खाली ड्रम, मिक्ंिसग के लिए बिजली-पानी और खाली पव्वे, ढक्कन, अग्रेंजी शराब वोदका कंपनी के नकली रेपर व कार्टन बरामद किए। फैक्ट्री मालिक बद्रीनारायण बागड़ा ने अशोक चौधरी और रवि बालोत मीणा को किराए पर दी थी। 

Read More असर खबर का - विमल की मदद को बढ़ने लगे हाथ, 4.69 लाख की सहायता मिली

200 लीटर स्प्रिट पकड़ी 
चौथी कार्रवाई त्रिवेणी नगर में हुई। पुलिस ने त्रिवेणी नगर में ग्यारसी लाल के परिसर को किराए पर लेकर चलाई जा रही एक और शराब की फैक्ट्री व गोदाम को पकड़ा। टीम ने दबिश देकर तिरपाल से ढककर छिपाकर रखे 11 ड्रम हर 200 लीटर स्प्रिट के भरे हुए बरामद हुए।

Read More कार्यालय की दशा सुधरी, पार्किंग की नहीं

Tags: arrested

Post Comment

Comment List

Latest News