कटारिया-धारीवाल में तीखी नोक-झोंक

पेपरलीक मामले में विधानसभा में हंगामा

कटारिया-धारीवाल में तीखी नोक-झोंक

पेपरलीक मामले पर बहस का जवाब देते हुए संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने पेपरलीक मामले की सीबीआई से जांच कराने की विपक्ष की मांग को खारिज कर दिया।

जयपुर। पेपरलीक मामले को लेकर विधानसभा में दूसरे दिन मंगलवार को भी हंगामा हुआ। मामले पर बहस का जवाब देते हुए संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने पेपरलीक मामले की सीबीआई से जांच कराने की विपक्ष की मांग को खारिज कर दिया। धारीवाल ने कहा कि सीबीआई से जांच में क्या होगा? आठ साल तो इंवेस्टिगेशन ही चलता रहेगा, फिर 15 साल तक भर्ती परीक्षाएं नहीं हो पाएंगी। इससे पहले धारीवाल और नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया के बीच तीखी नोक-झोंक भी हुई।

सदन में मंगलवार को पेपरलीक मामले को लेकर विपक्ष के 31 सदस्यों ने स्थगन लगाया। स्पीकर सीपी जोशी ने सभी स्थगत अस्वीकार करते हुए पेपरलीक मामले में सरकार का व्यक्तव्य दिलाया। शिक्षा मंत्री बीड़ी कल्ला ने पेपरलीक मामले में अब तक की कार्यवाही से सदन को अवगत कराते हुए दूसरे राज्यों में भी पेपरलीक होने की बात कही। विपक्ष ने कल्ला के जवाब पर सवाल उठाते हुए इसके विरोध में बायकाट करने की घोषणा की। इस पर धारीवाल ने कहा कि पहले पूरा जवाब सुनकर जाइए। धारीवाल के टोकने पर नेता प्रतिपक्ष कटारिया नाराज हो गए और कहा कि क्या जवाब सुन लें। इसके बाद कटारिया और धारीवाल के बीच नोक-झोंक हुई तो बीजेपी विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया। इस पर स्पीकर ने बहस खत्म कर सदन की कार्यवाही दस मिनट के लिए स्थगित कर दी।

पेपर लीक मामले की नहीं होगी सीबीआई जांच हमारा कमिटमेंट, दोषियों को सजा दिलाएंगे : धारीवाल
सदन की फिर से कार्यवाही शुरू हुई तो स्पीकर ने धारीवाल को बोलने की अनुमति दी। धारीवाल ने कहा कि पेपरलीक मामले की तेजी से जांच कराई जा रही है। दोषियोंं को सख्त सजा दिलाएंगे। छात्रों का भविष्य खराब न हो, इसलिए परीक्षा करवाकर भर्ती की जाएगी। राजस्थान पुलिस जांच करने में सक्षम है और सीबीआई जांच की मांग को खारिज करता हूं। सीबीआई को जांच देने से क्या होगा, स्टूडेंट का भविष्य खराब हो जाएगा। किसी के पास अगर दोषियों के बारे में सबूत हो तो दें, उन पर एक्शन होगा। 

परीक्षा सिस्टम देखकर बोलने का मन ही नहीं करता दिखावे के लिए कुछ को पकड़ा हैं : कटारिया
नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि केवल दिखावे के लिए कुछ लोगों को पकड़ा है, जिनकी जमानत हो चुकी है और डाकू बाहर घूम रहे है। जनता हमें और आप दोनों को देख रही है। इस सदन की कमेटी बनाकर कम से कम परीक्षा प्रणाली को सुधारने का कदम उठाइए। दूसरे राज्यों के नाम लेकर आप बच नहीं सकते। अब तो परीक्षा सिस्टम देखकर बोलने का मन ही नहीं करता, कुछ सुधार नहीं होना है। सदन में धारीवाल के टोकने पर कटारिया नाराज हो गए और दोनों के बीच नोक-झोंक हुई। 

Post Comment

Comment List

Latest News

ओडिशा में एसटीएफ ने नकली नोट रखने के आरोप में एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार  ओडिशा में एसटीएफ ने नकली नोट रखने के आरोप में एक व्यक्ति को किया गिरफ्तार 
नकली जब्त किए गए नोटों को भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण प्राइवेट लिमिटेड, मुद्रा नगर, सालाबोनी, पचिमा मिदनापुर, पश्चिम बंगाल...
फ्रांस के हेलीकाप्टर जापान, भारत और अमेरिका के साथ सैन्य अभ्यास में शामिल होंगे
झारखंड की दो 'केराकत' ने यूथ गेम्स में जमाया रंग
अलग-अलग किरदार निभाना चाहती है कृति सैनन
कैंसर जॉच आपके द्वार अभियान का हुआ आगाज
जोधपुर में 20 से 22 मार्च को आयोजित होगा राजस्थान इंटरनेशनल एक्सपो
ओवरलोड वाहनों के चलते संपर्क सड़कें हुई जर्जर