देश में कोरोना की तीसरी लहर के दस्तक देने के बाद स्थिति हुई विस्फोटक

देश में कोरोना की तीसरी लहर के दस्तक देने के बाद स्थिति हुई विस्फोटक

देश में कोरोना महामारी की तीसरी लहर के दस्तक देने के बाद से स्थिति विस्फोटक बनी हुई है। पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना संक्रमण के दो लाख 47 हजार 417 नये मामले मामले सामने आए है।

नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी की तीसरी लहर के दस्तक देने के बाद से स्थिति विस्फोटक बनी हुई है। पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना संक्रमण के दो लाख 47 हजार 417 नये मामले मामले सामने आए है। इसी के साथ कुल सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 11 लाख 17 हजार 531 हो गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर तीन करोड़ 63 लाख 17 हजार 927 हो गयी है। महामारी से 380 और मरीजों  की मौत होने के साथ मृतकों का कुल आंकड़ा बढ़कर 4,85,035 हो गया है। 24 घंटों के दौरान 84825 मरीज स्वस्थ होने  से इस महामारी से छुटकारा पाने वालों की संख्या बढ़कर तीन करोड़ 47 लाख 15 हजार 361 हो चुकी है।

भारत में सक्रिय मामलों की दर 3.08 फीसदी और रिकवरी दर 95.59 फीसदी है, जबकि मृत्यु दर 1.34 फीसदी है। कोविड के ओमिक्रॉन वेरिएंट से 27 प्रदेशों में अब तक 5488 व्यक्ति संक्रमित मिले है, जिनमें  महाराष्ट्र में सर्वाधिक 1367, दिल्ली में 549 और केरल में 486 मामले है। ओमिक्रॉन के संक्रमण से 2612 व्यक्ति ठीक हो चुके है।  सबसे अधिक सक्रिय मामले महाराष्ट्र में है, जहां सक्रिय मामले 18650 बढ़ने से  इनकी संख्या बढ़कर 243849 हो गयी है। मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 141701 हो गया है। 28041 मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोना मुक्त होने वालों की संख्या बढ़कर 6649111 हो गयी है।

 

Post Comment

Comment List

Latest News

महाराष्ट्र के मंत्रियों ने कर्नाटक में प्रवेश की कोशिश की, तो होगी कार्रवाई : सीएम बोम्मई महाराष्ट्र के मंत्रियों ने कर्नाटक में प्रवेश की कोशिश की, तो होगी कार्रवाई : सीएम बोम्मई
बोम्मई ने कहा कि अगर महाराष्ट्र के मंत्री राज्य में प्रवेश करने का प्रयास करते हैं, तो संबंधित अधिकारियों को...
रूस में ईंधन टैंकर में आग लगने से 3 लोगों की मौत
बर्ड फ्लू का प्रकोपः 3 लाख से ज्यादा मुर्गियां मारेगा जापान
अंडर-19 महिला विश्व कप में शेफाली करेंगी भारत की कप्तानी
राहुल की केन्द्र सरकार को समय रहते संभल जाने की हुंकारः गहलोत
कृषि पर्यवेक्षक, ग्राम विकास अधिकारी और पटवारी के पद खाली पड़े, जनता भटक रही
ओवरलोड वाहनों के कारण जर्जर हुईं संपर्क सड़कें