सोनिया गांधी ने राज्यसभा के लिए भरा नामांकन 

राज्यसभा सांसद का पर्चा दाखिल किया है

सोनिया गांधी ने राज्यसभा के लिए भरा नामांकन 

डोटासरा ने संबोधन करते हुए कहा कि राजस्थान के लिए सौभाग्य की बात है कि सोनिया गांधी ने यहां से राज्यसभा सांसद का पर्चा दाखिल किया है।

जयपुर। कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राजस्थान विधानसभा में राज्यसभा उम्मीदवार के रूप में नामांनक भरा। संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली, पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी, कांग्रेस महासचिव वसचिन पायलट सहित सभी कांग्रेस विधायक और नेता इस दौरान मौजूद रहे। सोनिया गांधी की तरफ से नामांकन पत्र के तीन सेट दाखिल किए गए। इससे पहले हुई बैठक में गहलोत, जूली और डोटासरा ने संबोधन करते हुए कहा कि राजस्थान के लिए सौभाग्य की बात है कि सोनिया गांधी ने यहां से राज्यसभा सांसद का पर्चा दाखिल किया है।

राजस्थान कांग्रेस में इस फैसले से और अधिक मजबूती आएगी। हम सभी को एकजुट रहते हुए कांग्रेस को मजबूत करना है और राहुल गांधी को आगामी लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री बनाना है। गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी का राजस्थान से बहुत पुराना नाता रहा है। सोनिया गांधी के राजस्थान से राज्यसभा सांसद बनने से कार्यकर्ताओं में जोश उत्पन्न होगा। नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद सोनिया गांधी वापस दिल्ली के लिए रवाना हुई। एयरपोर्ट पर रवानगी के दौरान सभी दिग्गज नेता सोनिया गांधी के साथ पहुंचे।

Post Comment

Comment List

Latest News

कम वोटिंग से राजनीति दलों में मंथन का दौर शुरू, दूसरे चरण की 13 सीटों को लेकर रणनीति बनाने में जुटे कम वोटिंग से राजनीति दलों में मंथन का दौर शुरू, दूसरे चरण की 13 सीटों को लेकर रणनीति बनाने में जुटे
ऐसे में इस बार पहले चरण की सीटों पर कम वोटिंग ने भाजपा को सोचने पर मजबूर कर दिया है।...
भारत में नहीं चाहिए 2 तरह के जवान, इंडिया की सरकार बनने पर अग्निवीर योजना को करेंगे समाप्त : राहुल
बड़े अंतर से हारेंगे अशोक गहलोत के बेटे चुनाव, मोदी की झोली में जा रही है सभी सीटें : अमित 
किडनी ट्रांसप्लांट के बाद मरीज की मौत, फोर्टिस अस्पताल में प्रदर्शन
इंडिया समूह को पहले चरण में लोगों ने पूरी तरह किया खारिज : मोदी
प्रतिबंध के बावजूद नौलाइयों में आग लगा रहे किसान
लाइसेंस मामले में झालावाड़, अवैध हथियार रखने में कोटा है अव्वल