बिना अथॉरिटी चल रही सरकार, मंत्रियों को मर्जी से स्टाफ तक नहीं: गहलोत

सीएम से ज्यादा तो मुख्य सचिव और डिप्टी सीएम की चल रही है

बिना अथॉरिटी चल रही सरकार, मंत्रियों को मर्जी से स्टाफ तक नहीं: गहलोत

पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भजनलाल सरकार को दिल्ली के इशारे पर चलने वाली सरकार बताते हुए कहा कि इस सरकार में भी लोकतंत्र की हत्या की जा रही है।

जयपुर। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भजनलाल सरकार को दिल्ली के इशारे पर चलने वाली सरकार बताते हुए कहा कि इस सरकार में भी लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। मुख्यमंत्री से ज्यादा तो मुख्य सचिव और डिप्टी सीएम की चल रही है।

अपने आवास पर मीडिया से बात करते हुए गहलोत ने कहा क मेरी सबसे बड़ी शिकायत ये है कि बिना अथॉरिटी गवर्नेंस कर नहीं सकते। मुख्यमंत्री से ज्यादा तो मुख्य सचिव और डिप्टी सीएम की चल रही है। एसएमएस में गरीब परिवार के बेटे सचिन की मौत हो गई, लेकिन उसको कोई बड़ी आर्थिक मदद नहीं की। हमने तो सिविलियन को भी नौकरी दे दी थी। ईआरसीपी पर प्रदेश की जनता को केवल धोखा दे रहे हैं। एमओयू की जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई। मीडिया, राजनीतिज्ञ किसी को भी इस पब्लिक डॉक्यूमेंट की जानकारी नहीं दे रहे। आज मंहगाई, बेरोजगारी पर चर्चा ही नहीं हो रही है। मोदी ने पेट्रोल डीजल के दाम कम करने का वादा किया था,लेकिन कोई राहत नहीं दी। राजीव गांधी युवा मित्रों को नौकरी से निकाल दिया। आज के हालात चिंतनीय है। मेरी मांग है कि 5 हजार राजीव गांधी युवा मित्रों को वापस नौकरी पर लें। भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि इलेक्ट्रोल बॉन्ड पर कोर्ट की हिदायत के बाद भी डर है कि ये लोग पता नहीं क्या करेंगे। यही हालत रहे तो आगे चुनाव भी नहीं होने देंगे। लोकसभा चुनाव को लेकर हमारी पार्टी ने कैम्पेन शुरू कर दिया है। हम इन चुनाव में बेहतर जीत दर्ज करेंगे। भाजपा जाने वाले कांग्रेस नेताओं पर कहा कि जो जाना चाहते हैं वो चले जाएं। हमे कन्फ्यूजन में नहीं रखे। हमारे यंहा नई पीढ़ी तैयार है। जाने वाले नेताओं पर इंकम टेक्स, ईडी, सीबीआई के दबाव होंगे। सरकार रिपीट नहीं होने के सवाल पर कहा कि हम तो विधानसभा चुनाव जीतने वाले ही थे लेकिन इन्होंने कन्हैयालाल कांड में लोगों को धर्म के नाम पर बरगला दिया और एनआईए को जांच दे दी,लेकिन अब तक कुछ भी नहीं किया। पिछले सरकार के कार्यकाल के 6 महीने के कार्यों की जांच पर कहा कि वे हमारे कार्यों की जांच करे और हमारी 5 साल की उपलब्धियों की भी जांच कर को लोगों को बताएं।मंत्री किरोडी लाल मीणा के बयान पर कहा कि वे तो धरना मास्टर हैं। उन्होंने जब उनके हक में धरने दिए तो अब क्यों नही सुन रहे। अब पता नहीं वे चुप लगाए बैठे हैं। गहलोत ने कहा कि राहुल गांधी की यात्रा का अच्छा सन्देश गया है और बांसवाड़ा यात्रा का भी कार्यकर्ताओं में अच्छा जोश दिखेगा। राजस्थान सरकार गिरने के सवालों पर कहा कि मेरे कहने का मतलब तो ये था कि मुख्यमंत्री को कमजोर नहीं करना चाहिए। भाजपा में अंदरूनी षडयंत्र चल रहे हैं। पर्ची सरकार में किसी की नहीं चल रही। मंत्रियों को उनकी मर्जी से स्टाफ नहीं मिलते। मंत्री नए हैं तो उनको अतिरिक्त ताकत देनी चाहिए। आज देश में तानाशाही प्रवृत्ति चल रही है। जब तमाम राज्यो का कंट्रोल भी केंद्र सरकार करेगी तो डबल इंजन सरकार कंहा रही। पहली बार है कि दिल्ली वाला इंजन तो ज्यादा मजबूत है और राज्यों के इंजन फेल किये जा रहे हैं।

Post Comment

Comment List

Latest News

भगवा रंग पर अगर कांग्रेस को है आपत्ति, अपने झंडे से हटाए : यादव भगवा रंग पर अगर कांग्रेस को है आपत्ति, अपने झंडे से हटाए : यादव
यादव ने अपने बयान में कहा कि कांग्रेस और वामपंथी सोच पर शर्म और हँसी दोनों आती है। अब भगवा...
अमेरिका में पार्टी के दौरान फायरिंग, 2 लोगों की मौत
प्रदेश में दूसरे फेज की 13 सीटों पर कांग्रेस के दिग्गज नेता संभालेंगे कमान
एयरपोर्ट से बढ़ेगी इंटरनेशनल एयर कनेक्टिविटी, नई फ्लाइट शुरू
कांग्रेस ज्यादातर सीटों पर जीत के लिए है आश्वस्त, दूसरे फेज में भाजपा की हालत होगी खराब : गुर्जर
समित शर्मा ने पेयजल आपूर्ति का लिया जायजा, अवैध बूस्टरों के विरुद्ध कार्रवाई के दिए निर्देश
मणिपुर में 11 मतदान केंद्रों पर फिर होगा मतदान