एलन कोचिंग के छात्र ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

-नीट की कर रहा था तैयारी , 1 साल से रहा था कोटा में

एलन कोचिंग के छात्र ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

शहर के कोचिंग संस्थान में पढ़ने वाले बच्चे द्वारा आत्महत्या करने का मामला थमने का नाम नहीं ले रहे हैं । ऐसे ही कुन्हाड़ी थाना क्षेत्र में शनिवार सुबह 6:00 बजे पढ़ाई के दबाव के चलते एलन कोचिंग संस्थान के एक छात्र ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या करने का मामला सामने आया है।

कोटा । शहर के कोचिंग संस्थान में पढ़ने वाले बच्चे  द्वारा आत्महत्या करने का मामला थमने का नाम नहीं ले रहे हैं । ऐसे ही कुन्हाड़ी थाना क्षेत्र में शनिवार  सुबह 6:00 बजे पढ़ाई के दबाव के चलते एलन कोचिंग संस्थान के एक छात्र ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या  करने का मामला सामने आया है। छात्र उड़ीसा का रहने वाला है और यहां पिछले 1 साल से रहकर नीट की तैयारी कर रहा था । सूचना पर पहुंची पुलिस ने छात्र को फंदे से नीचे उतारा तथा एमबीएस अस्पताल लेकर गए, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया । शव मोर्चरी में रखवाया है । 

एसआई देशराज सिंह ने बताया कि सुबह 6:00 बजे सूचना मिली लैंडमार्क सिटी स्थित डीपसी रेजीडेंसी में एक कोचिंग छात्र ने आत्महत्या कर ली है । सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और छात्र को फंदे से नीचे उतारकर एमबीएस अस्पताल लेकर गए, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया । शव को मोर्चरी में रखवाया गया है । परिजनों को सूचना कर दी गई है । पूछताछ में सामने आया बालेश्वर सराय सिटी उड़ीसा का रहने वाला आशीष रंजन सेठी उम्र 19 साल पुत्र रामकृष्ण सेठी यहां रहकर नीट की तैयारी कर रहा था और  एलन कैरियर इंस्टीट्यूट कोचिंग संस्थान में जाता था। छात्र 8 अक्टूबर 2021 से रेजीडेंसी में पहली मंजिल पर कमरा नंबर 40 में रहता था । रेजीडेंसी में मात्र 30 छात्र थे ।  बताया जाता है कि छात्र पढ़ाई को लेकर दबाव में था । उन्होंने बताया कि शुक्रवार को सभी  साथी छात्रों से आशीष रंजन ने अच्छी प्रकार से बातचीत की तथा किसी प्रकार का ऐसा नहीं लगा था कि वह आत्महत्या कर लेगा, लेकिन शनिवार सुबह रसोई में काम करने वाला कर्मचारी 6:30 बजे आया और वह रसोई में जा रहा था तभी उसकी गैलरी में रोशनदान से रस्सी का फंदा लगाकर लटके छात्र को देखकर होश उड़ गए । उसने तुरंत रेजीडेंसी संचालक को सूचना दी सूचना पर रेजिडेंसी संचालक मौके पर पहुंचा और पुलिस को जानकारी दी ।                      

छात्र ने पहले किया पंखे से लटक कर आत्महत्या का प्रयास                  

पुलिस इंस्पेक्टर गंगा सहाय शर्मा ने बताया की छात्र ने पहले अपने कमरे में ही फांसी का फंदा लगाने का प्रयास किया लेकिन सफल नहीं हो पाया क्योंकि पंखे की डंडी नीचे लटक गई जिससे उसने गैलरी में रोशनदान की खिड़की से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। फांसी लगाने से पूर्व उसने अपने साथी छात्रों के कमरों के बाहर से कुंडी लगा दी मामले में पुलिस सुसाइड के बारे में जांच कर रही है। पुलिस को मौके पर कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है । छात्र साथियों से पूछताछ में पता चला कि वह पढ़ाई को लेकर चिंतित रहता था , लेकिन वह किसी से कोई बात नहीं करता था । छात्रों का मानना है कि पढ़ाई के दौरान कुछ नंबर ऊपर नीचे हो गए थे । 

शुक्रवार को 8:30 मां से की बातचीत

मृतक के पिता रामकृष्ण सेठी ने बताया कि उनके पुत्र आशीष रंजन ने शुक्रवार को 8:30 बजे अपनी मां और मुझसे बातचीत की उस समय ऐसा कुछ नहीं लग रहा था। वह नॉर्मल बातचीत कर रहा था । बस इतना ही कह रहा था अब पढ़ाई के लिए ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी पढ़ाई का दबाव बन रहा है। इससे ऐसा लगता है कि पढ़ाई के दबाव के कारण उसने ऐसा कदम उठाया है। मृतक की एक बहन है जो कि दिल्ली में रहकर एमटेक कर रही है तथा प्रतियोगी परीक्षाओं की भी तैयारी कर रही है । मृतक दो भाई बहन थे। कोचिंग संस्थान के अब तक इस साल तीन छात्र  सुसाइड कर चुके हैं जबकि एक छात्र अभी भी जिंदगी और मौत के बीच अस्पताल में जूझ रहा है ।

Post Comment

Comment List

Latest News