प्रदेश में पेट्रोल 10.48 रुपए और डीजल 7.16 रुपए प्रति लीटर सस्ता

डीजल 7 रुपए प्रति लीटर सस्ता होगा

 प्रदेश में पेट्रोल 10.48 रुपए और डीजल 7.16 रुपए प्रति लीटर सस्ता

केंद्र सरकार ने जनता को बड़ी राहत देते हुए पेट्रोल और डीजल पर 8 और 6 रुपए एक्साइज ड्यूटी कम कर दी है। इससे पेट्रोल 9.50 रुपए और डीजल 7 रुपए प्रति लीटर सस्ता होगा।

जयपुर। केंद्र सरकार ने जनता को बड़ी राहत देते हुए पेट्रोल और डीजल पर 8 और 6 रुपए एक्साइज ड्यूटी कम कर दी है। इससे पेट्रोल 9.50 रुपए और डीजल 7 रुपए प्रति लीटर सस्ता होगा। इस कटौती के बाद राजस्थान में पेट्रोल पर 2.48 रुपए और डीजल पर 1.16 रुपए प्रति लीटर वैट भी कम होगा। इससे प्रदेश में पेट्रोल 10.48 रुपए और डीजल 7.16 रुपए प्रति लीटर सस्ता होगा। इसके अलावा केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के 9 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को 200 रुपए प्रति गैस सिलेंडर (साल में 12 सिलेंडर तक) की सब्सिडी देने का ऐलान किया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि इससे हमारी माताओं और बहनों को मदद मिलेगी।

स्टील के कच्चे माल पर कम किया आयात शुल्क
सीतारमण ने कहा कि हम प्लास्टिक उत्पादों के लिए कच्चे माल पर सीमा शुल्क भी कम कर रहे हैं। स्टील के कच्चे माल पर भी आयात शुल्क कम किया जाएगा। हालांकि कुछ इस्पात उत्पादों पर निर्यात शुल्क लगाया जाएगा। सीमेंट की उपलब्धता में सुधार के लिए और सीमेंट की लागत को कम करने के लिए बेहतर लाजिस्टिक्स के जरिए उपाय किए जा रहे हैं।

दाम बढ़ने की व्यक्त की जा रही थी आशंका
सीतारमण ने ये घोषणा ऐसे समय किए है, जब तमाम रिपोर्टों में तेल कंपनियों को भारी नुकसान होने के चलते डीजल-पेट्रोल की कीमतों के बढ़ने की आशंकाएं जताई जा रही थी।

Read More बरसात की सूचना ही उड़ा देती है नींद, फूल जाती है सांसें

विपक्ष लगातार कर रहा था हमले
सीतारमण की ओर से इन राहतों की घोषणा ऐसे समय में की है, जब विपक्ष की ओर से सरकार पर लगातार बढ़ती महंगाई को लेकर हमले किए जा रहे थे। कांग्रेस बढ़ती पेट्रोल-डीजल की कीमतों के लिए लगातार सरकार को घेर रही थी।

कांग्रेस के दबाव में एक्साइज ड्यूटी कम करनी पड़ी : गहलोत
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस की ओर से लगातार महंगाई के खिलाफ किए जा रहे विरोध-प्रदर्शन एवं नवसंकल्प शिविर में तय किए गए महंगाई के विरूद्ध जनजागरण अभियान के दबाव में केन्द्र सरकार को पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी कम करने का फैसला करना पड़ा। हालांकि पिछले दो माह में ही पेट्रोल एवं डीजल के दाम लगभग दस रुपए प्रति लीटर बढेÞ थे। ऐसे में कटौती महज एक औपचारिकता नजर आती है। यदि केन्द्र सरकार सही मायने में आमजन को राहत देना चाहती है, तो एक्साइज ड्यूटी को कम कर यूपीए सरकार के स्तर पर ले जाना चाहिए, जिससे डीजल एवं पेट्रोल की कीमतें करीब 70 रुपए प्रति लीटर से भी कम हो जाएंगी और आमजन को राहत मिल सकेगी।

प्रदेश को 1200 करोड़ प्रति वर्ष राजस्व हानि
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल की कीमतों में की गई एक्साइज कटौती से प्रदेश सरकार पर पेट्रोल पर 2.48 रुपए और डीजल पर 1.16 रुपए प्रति लीटर वैट भी कम होगा। इससे प्रदेश में पेट्रोल 10.48 रुपए एवं डीजल 7.16 रुपए प्रति लीटर सस्ता होगा। इससे राज्य को 1200 करोड़ रुपए प्रति वर्ष की राजस्व हानि होगी एवं आमजन को इसका लाभ मिलेगा। पूर्व में दो बार की गई वैट की कमी से राज्य को 6300 करोड़ रुपए की राजस्व हानि हुई थी। आज की कटौती को जोड़कर राज्य को 7500 करोड़ रुपए प्रति वर्ष की राजस्व हानि होगी।

Read More गहलोत खेमे का प्रस्ताव: पायलट को छोड़कर किसी को भी बना दें सीएम

Post Comment

Comment List

Latest News

व्यापारी को अगवा कर 5 करोड़ की फिरौती मांगी : 3 घंटे में पुलिस ने 3 आरोपियों को पकड़ा व्यापारी को अगवा कर 5 करोड़ की फिरौती मांगी : 3 घंटे में पुलिस ने 3 आरोपियों को पकड़ा
शास्त्री नगर निवासी व्यापारी ललित कृपलानी के दोपहर ऑफिस से खाना खाने घर आते समय सोनी अस्पताल के पास आइ-20...
गहलोत खेमे का प्रस्ताव: पायलट को छोड़कर किसी को भी बना दें सीएम
अमेरिका के फ्लोरिडा प्रांत में आपातकाल की घोषणा
महंगाई जनता के सीने पर तांडव कर रही है- राहुल गांधी
छात्रा को 2 घंटे तक बिना कपड़ों के रखा, वजह जानकर रह जाओगे हैरान
कोटा होकर जाने वाली 3 ट्रेनों में लगेंगे अतिरिक्त कोच
विधायक दल की बैठक से पहले गहलोत खेमे के विधायकों की धारीवाल के निवास पर बैठक