बालिका वधू की 'दादीसा' सुरेखा सीकरी का दिल का दौरा पड़ने से निधन, 75 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

बालिका वधू की 'दादीसा' सुरेखा सीकरी का दिल का दौरा पड़ने से निधन, 75 साल की उम्र में ली आखिरी सांस

मशहूर एक्ट्रेस सुरेखा सीकरी का शुक्रवार को कार्डियक अरेस्ट से 75 साल की उम्र में निधन हो गया है। एक्ट्रेस लंबे वक्त से बीमार चल रही थीं। तीन बार नेशनल अवॉर्ड जीत चुकीं सुरेखा सीकरी के निधन से बॉलीवुड और टीवी गलियारों में शोक की लहर है।

मुंबई। मशहूर अभिनेत्री सुरेखा सीकरी का शुक्रवार को मुंबई में दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया। वह 75 वर्ष की थीं। सुरेखा सीकरी के मैनेजर ने उनके निधन की पुष्टि की है। मैनेजर ने बताया कि दुख की बात है कि सुरेखा जी नहीं रहीं। राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार विजेता सुरेखा सीकरी के निधन से बॉलीवुड और टीवी गलियारों में शोक की लहर है। सेलेब्स ने सोशल मीडिया के जरिए सुरेखा सीकरी के निधन पर दुख जताया है। 2018 में एक टीवी शो की शूटिंग के दौरान सुरेखा सीकरी को ब्रेन स्ट्रोक हुआ था। वे गिर गई थीं और उन्हें सिर में चोट लगी थी। 2020 में उन्हें फिर से स्ट्रोक आया था, जिसके बाद उन्हें आईसीयू में रखा गया था। ब्रेन स्ट्रोक के बाद सुरेखा पर इलाज का तेजी से असर नहीं हो रहा था। वह लंबे समय तक अस्पताल में रही थीं।

पॉपुलर शो बालिका वधू में सुरेखा सीकरी ने दादी सा की भूमिका निभाई थी। कल्याणी देवी के रूप में उनके रोल को काफी पसंद किया गया था। उनका जयपुर से विशेष रिश्ता रहा है। वे अनेक बार अपने शो के प्रमोशन के लिए जयपुर आई थीं। इसके अलावा वे दो बार जयपुर लिट फेस्ट में भी शामिल हो चुकी है। मीडिया से उनके रिश्ते बेहद सहज रहे। वे अपनेपन के साथ हर सवाल का जवाब देती थी। हालांकि वे चेहरे से बेहद सख्त नजर आती थी, लेकिन उनका व्यवहार इसके बिल्कुल विपरीत यानी नरम एवं मिलनसारिता का रहा।

सुरेखा सीकरी भारतीय थिएटर, फिल्म और टेलीविजन इंडस्ट्री में काफी जाना-पहचाना नाम थीं। साल 1978 राजनीतिक ड्रामा फिल्म 'किस्सा कुर्सी का' में वे पहली बार नजर आईं थीं। सुरेखा सीकरी को 3 बार बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड मिला था। उन्हें ये सम्मान फिल्म तमस (1988), मम्मो (1995) और बधाई हो (2018) के लिए मिला था। सुरेखा का जन्म उत्तर प्रदेश में हुआ था और उनका बचपन अल्मोढ़ा और नैनीताल में बीता। उनके पिता एयरफोर्स में थे और मां शिक्षक थीं। वह 1971 में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा (एनएसडी) से पास आउट हुई थीं। उन्होंने मुंबई जाने से पहले लंबे समय तक एनएसडी के साथ काम किया। उन्हें 1989 में संगीत नाटक अकेडमी अवॉर्ड से भी नवाजा गया था। उन्होंने हेमंत रेगे से शादी की थी और उनका एक बेटा राहुल सीकरी है। सुरेखा के पति हेमंत का 20 अक्टूबर 2009 में हार्ट फेल होने की वजह से निधन हुआ था।

Post Comment

Comment List

Latest News