कैप्टन अमरिंदर ने बनाई ‘पंजाब लोक कांग्रेस’

कैप्टन अमरिंदर ने बनाई ‘पंजाब लोक कांग्रेस’

कांग्रेस से दिया इस्तीफा, सोनिया को लिखा पत्र, बताया क्यों छोड़ रहें हैं पार्टी

चंडीगढ़। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता ने इस्तीफा देने के साथ ही ‘पंजाब लोक कांग्रेस’ नाम से नए राजनीतिक दल के गठन की घोषणा की।  कैप्टन सिंह ने कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजे पत्र में कहा कि वह राज्य के हितों की खातिर कांग्रेस से इस्तीफा दे रहे हैं। पत्र में उन्होंने अपने इस्तीफे के कारणों का भी विस्तृत ब्यौरा दिया है। उन्होंने कहा कि सेना में रहने के बाद लगभग 52 वर्षों से ज्यादा समय तक सार्वजनिक जीवन में रहते हुए अपने राज्य की सेवा कर रहे हैं।


रिपोर्ट कार्ड पेश भी पेश किया
पत्र में उन्होंने अपना रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए कहा है कि वर्ष 1980 में कांग्रेस के टिकट पर पटियाला से पहली बार लोकसभा में पहुंचने से लेकर अब तक के राजनीतिक सफर में देश, राज्य और पार्टी के प्रति दी गई सेवाओं, राज्य में आतंकवाद, स्वर्ण मंदिर पर सेना की कार्रवाई, एसवाईएल समझौते को लेकर कार्रवाई से लेकर पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा उन्हें राज्य की कानून व्यवस्था को लेकर दी गई अहम जिम्मेदारियों का विस्तृत जिक्र किया है।  

राज्य के बाहर कोई राजनीतिक सरोकार नहीं 

उन्होंने कहा कि राज्य के बाहर उनके कोई राजनीतिक सरोकार नहीं रहे हैं। राज्य के हितों को सुरक्षित रखने के लिए उन्होंने उच्चतम न्यायालय के एसवाईएल मामले में दिए गए फैसले के आलोक में विधानसभा में विधेयक लाकर नदी जल समझौता रद्द कर दिया था और इसे लेकर उन्हें तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के विरोध का भी सामना करना पड़ा था। यहां तक कि तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह उनकी सरकार को भंग करने का फैसला तक लेने वाले थे। वर्ष 2014 में उन्होंने अमृतसर लोकसभा चुनाव में राज्यसभा के तत्कालीन विपक्ष नेता अरूण जेटली को पराजित किया। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनावों में उनके नेतृत्व में पार्टी ने 117 में से 77 सीटों पर जीत दर्ज की जो राज्य में पार्टी का उस समय तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था।

रावत को बताया सबसे ‘संदिग्ध व्यक्ति’
कैप्टन ने पाटी के प्रदेश मामलों के पूर्व प्रभारी हरीश रावत को अपने जीवन का सबसे ‘संदिग्ध व्यक्ति’ बताया जिनसे उनकी मुलाकात हुई। उन्होंने सोनिया को लिखा है ‘मैंने आपको बताया था कि नवजोत सिंह सिद्धू स्थिर दिमाग का व्यक्ति नहीं है और जब तक आपको इस बात अहसास होगा तक तक बहुत देर हो चुकी होगी। मुझे पूरा विश्वास है कि आप को अब इस बात का अहसास हो रहा होगा।   

पार्टी को कटघरे में खड़ा किया
कांग्रेस को कटघरे में खड़ा करते हुए उन्होंने कहा कि एक ऐसी पार्टी जो किसानों के मसलों को केंद्र की मौजूदा राष्ट्रीय जनतांत्रित गठबंधन सरकार के साथ उठाने को लेकर उन पर आरोप लगाती है वह अपनी सुविधानुसार महाराष्ट्र में शिव सेना जैसी कथित साम्प्रदायिक दल के साथ गठबंधन करने एक बार भी नहीं सोचती। खैर यह तो जनता तय करेगी कि कौन साम्प्रदायिक और धर्मनिरपेक्ष है।

Read More भारत रत्न लता मंगेशकर की जीवनी प्रकाशित करेगा पेंगुइन

Post Comment

Comment List

Latest News