गड़बड़झाले का हथियार बनी पोस मशीन

खाद्य सुरक्षा योजना: प्रदेश में पोस मशीनें खराब होने की शिकायतों का लगा अम्बार

 गड़बड़झाले का हथियार बनी पोस मशीन

इसके तहत प्रत्येक राशन डीलर को पोस मशीन उपलब्ध कराई गई थी। इसी के माध्यम से राशन वितरण की व्यवस्था की गई थी। प्रारम्भ में इस व्यवस्था के परिणाम सही आए और राशन के गड़बड़झाले पर लगाम लग गई।

कोटा। राजस्थान में खाद्य सुरक्षा योजना के तहत राशन की 25 हजार दुकानों के मार्फत गेहूं वितरण में पारदर्शिता के लिए पोस मशीनें लगाई गई हैं। अब इन मशीनों की पारदर्शिता पर सवाल उठने शुरू हुए हैं। इस सम्बंध में लाभार्थी लगातार शिकायतें कर रहे हैं। गेहूं लेने के बाद मशीन से गेहूं की मात्रा की पर्ची नहीं निकलने, किसी जगह मशीन का डिस्प्ले खराब होने जैसी 9 हजार से ज्यादा शिकायतें प्रदेश में खाद्य विभाग को मिली हैं। कोटा जिले में भी इस तरह की 149 शिकायतें मिली है। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि राशन डीलरों द्वारा पोस मशीन में तकनीकी खामी बताकर गेहूं में गड़बड़झाले का प्रयास किया जा रहा है। रसद विभाग की ओर से पूर्व में राशन वितरण की प्रभावी निगरानी के लिए कोई व्यवस्था नहीं थी। ऐसे में राशन डीलरों द्वारा आए दिन गेहूं सहित अन्य राशन सामग्री को हजम करने के मामले सामने आते रहते थे। इस पर राज्य सरकार के निर्देश पर रसद विभाग में भी राशन वितरण पर निगरानी के लिए आॅनलाइन सिस्टम शुरू किया गया है। इसके तहत प्रत्येक राशन डीलर को पोस मशीन उपलब्ध कराई गई थी। इसी के माध्यम से राशन वितरण की व्यवस्था की गई थी। प्रारम्भ में इस व्यवस्था के परिणाम सही आए और राशन के गड़बड़झाले पर लगाम लग गई। 

फिर लगातार बढ़ने लगी शिकायतें
तीन साल पहले पोस मशीनों में खराबी के मामले सामनॉे आने लगे। उस समय मशीन खराब होने पर राशन कार्ड के माध्यम से ही राशन वितरण के निर्देश दिए गए। बाद में पोस मशीनों में खराबी मामले ज्यादा आने लगे। लाभार्थियों ने रसद विभाग में शिकायतें कर बताया कि राशन डीलरों द्वारा पोस मशीन खराब बता दी जाती है। इससे गेहूं कम मिल रहा है। इस तरह की प्रदेश में लगातर बढ़ने लगी। तीन साल की अवधि में ही पूरे प्रदेश में 9 हजार शिकायतें विभाग को मिली है।

24 घंटे में करा लेता है ठीक
खाद्य विभाग के सूत्रों के अनुसार राशन की दुकानों पर इस तरह की शिकायतों की संख्या बढ़ भी रही है। गेहूं वितरण पूरी तरह से आॅनलाइन सिस्टम पर है, लेकिन जब पोस मशीन में इस तरह की खराबी आती है तो डीलर को आसानी से गेहूं गायब करने का मौका मिल जाता है। हालांकि यह भी सही है कि मशीन को डीलर 24 घंटे के भीतर अनिवार्य रूप से ठीक भी करा लेता है।

Read More एलन कोचिंग की दो छात्राएं बिना बताए हॉस्टल से निकली

कहां कितनी शिकायतें
कोटा          149
अलवर      336
बांसवाड़ा     828
बारां         320 
बाड़मेर         1442 
भरतपुर         336 
भीलवाड़ा     364 
बीकानेर     348 
बूंदी         145 
चित्तौड़गढ़     192 
चूरू          462 
दौसा          225
धौलपुर      287 
डूंगरपुर      28 
हनुमानगढ़      49
जयपुर प्रथम        67
जयपुर-द्वितीय       2
जैसलमेर           123
जालौर       158
झालावाड़      166
झुंझुनूं          217
जोधपुर      244
करौली             0
नागौर               430
पाली          222
प्रतापगढ़       256
राजसमंद      196
समाधोपुर     62
सीकर                  227
टोंक          223
उदयपुर     296
अजमेर     781

बाड़मेर अव्वल, करौली में एक भी नहीं
राशन की दुकान पर पोस मशीन से पर्ची जारी नहीं होने, डिस्प्ले आउट होने जैसी सबसे ज्यादा शिकायतें बाड़मेर में सामने आई हैं। यहां तीन वर्ष में 1442 शिकायतें सामने आ चुकी हैं। वहीं दूसरे नंबर पर बांसवाड़ा जिला है, जहां की 828 शिकायतें मिली हैं। वहीं करौली जिले में एक भी शिकायत विभाग को प्राप्त नहीं हुई है। कोटा संभाग की बात करें तो यहांं कोटा जिले में 149, बारां में 320, बूंदी में 145 और झालावाड़ में 166 शिकायतें मिली है। 

जिले में खाद्य सुरक्षा योजना के तहत गेहूं का वितरण पूरी पारदर्शिता के साथ किया जा रहा है। पोस मशीनों के संबध में खराबी की शिकायतें मिलती हैं तो डीलर को दूसरी दुकान से मशीन लेकर गेहूं बांटना अनिवार्य है। जिससे डीलर  गेहूं वितरण में किसी तरह की अनियमितता नहीं कर सके।
- प्रवीण कुमार, प्रवर्तन निरीक्षक, रसद विभाग

Read More हिमालय से कोटा पहुंचे ब्लैक काइट शिकारी पक्षी

Post Comment

Comment List

Latest News

हाथीपुरा का सरपंच  कर रहा डोडा चूरा की तस्करी हाथीपुरा का सरपंच कर रहा डोडा चूरा की तस्करी
इस मामले में आरोपी के खिलाफ मध्य प्रदेश की पुलिस तलाश कर रही है जबकि ब्यूरो की टीम द्वारा आरोपी...
रीजनल कॉलेज फॉर एजूकेशन रिसर्च एंड टेक्नोलॉजी में मोटिवेशनल प्रोग्राम का आयोजन
पायलट और मैं पार्टी एसेट, हमारे और नेता भी एसेट: गहलोत
आईएफएफआई जूरी प्रमुख की टिप्पणी कश्मीरी हिंदुओं पर हुए अत्याचारों की भयावहता का अपमान - रोड्रिग्स
30 लाख कीमत का 287 किलो गांजा बरामद, 6 अभियुक्त गिरफ्तार
राहुल, सोनिया की जुबान बोल रहे हैं खडग़े : भाजपा
बेकाबू मेटाडोर कार में घुसी, दो की मौत, तीन घायल