एसओजी में स्पेशल टास्क फोर्स एंटी चीटिंग का होगा गठन

नकल माफिया के खिलाफ कार्रवाई के लिए उठाए जा रहे सख्त कदम

एसओजी में स्पेशल टास्क फोर्स एंटी चीटिंग का होगा गठन

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रकरणों में लिप्त दोषियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई के लिए इस आशय के प्रस्ताव का अनुमोदन किया है।

जयपुर। राजस्थान  सरकार द्वारा प्रतियोगी परीक्षाओं सहित सार्वजनिक परीक्षाओं में पेपरलीक प्रकरण रोकने और नकल माफिया के खिलाफ कार्रवाई के लिए उठाए जा रहे सख्त कदमों के तहत अब स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) में स्पेशल टास्क फोर्स (एंटी चीटिंग) का गठन किया जायेगा।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रकरणों में लिप्त दोषियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई के लिए इस आशय के प्रस्ताव का अनुमोदन किया है। इस निर्णय से बेरोजगार और मेहनती अभ्यर्थियों को न्याय मिलेगा और परीक्षाओं में गोपनीयता बनी रहेगी। साथ ही चीटिंगसंबंधित प्रकरणों में प्रभावी जांच कर अपराधियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने में सहायता मिलेगी।

गहलोत ने संचालन के लिए 39 नवीन पदों के सृजन तथा आवश्यक संसाधनों के लिए वित्तीय प्रस्ताव को भी स्वीकृति दी है। इन नवीन पदों में पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक का एक-एक पद, पुलिस निरीक्षक, हैड कॉन्स्टेबल के 5-5 पद, कॉन्स्टेबल के 20 पद सहित विभिन्न पद शामिल हैं।

यह टास्क फोर्स आधुनिक संसाधनों से सुसज्जित होगी। इसके माध्यम से पेपरलीक प्रकरणों में दोषी अभ्यर्थियों एवं संस्थानों पर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री द्वारा इस संबंध में बजट 2023-24 में घोषणा की गई थी।

Read More घूंघट ओढ़कर गीत गाते हुए मतदान करने पहुंची महिलाएं

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार द्वारा राजस्थान विधानसभा में राजस्थान सार्वजनिक परीक्षा (भर्ती में अनुचित साधनों की रोकथाम के अध्युपाय) विधेयक, 2022 पारित करा चुकी है। इसमें परीक्षार्थियों को कारावास, सार्वजनिक परीक्षाओं से डिबार, दोषियों की सम्पत्ति ध्वस्त जैसे कड़े प्रावधान किए गए हैं। 

Read More असर खबर का - वन्यजीव विभाग ने 1.40 लाख से बनाई सुरक्षा दीवार

Post Comment

Comment List

Latest News