जहां लगा चेतावनी का बोर्ड वहीं कर रहे अतिक्रमण

विद्युत वितरण निगम लिमिटेड की खाली जमीन पर आ धमके अतिक्रमी

जहां लगा चेतावनी का बोर्ड वहीं कर रहे अतिक्रमण

खुली जगह होने से कोई भी यहां अपना कब्जा जमा लेता है।

कोटा। औद्योगिक क्षेत्र के डीसीएम में विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड की जमीन कई सालों से खाली पड़ी हुई है जिस पर अब अतिक्रमियों ने अपना कब्जा जमाना शुरु कर दिया है। अधिकारियों को ना जमीन पर हो रहे अतिक्रमण की जानकारी है और ना ही वहां होने वाली असामाजिक गतिविधियों की। इन अतिक्रमियों की वजह से आसपास के निवासियों को भी परेशानी हो रही है। जहां रात के समय में जमीन पर शराबी और असामाजिक तत्व आ धमकते हैं। इसके साथ ही लोगों ने यहां अपने मवेशी बांधने के लिए बाड़ों का निर्माण करने के साथ इसे पार्किंग स्थल बना लिया है। जिनकी तादाद हर दिन बढ़ती जा रही है।

सिर्फ चेतावनी बोर्ड लगाकर छोड़ी जमीन
दरअसल इस स्थान पर राजस्थान विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड का कार्यालय संचालित होता था। जहां कार्मचारियों के लिए आॅफिस और आवासीय भवनों का निर्माण किया था। इनके साथ ही इस जमीन पर निगम के रख रखाव के कार्य के लिए उपयोग में आने वाले उपकरणों के लिए स्टोर हाउस मौजूद था। लेकिन कुछ साल पूर्व निगम ने यहां से अपना कार्यालय व स्टोर हाउस दूसरी जगह पर स्थानांतरित कर लिया, और इस जमीन को चेतावनी बोर्ड लगाकर छोड़ दिया। लेकिन अतिक्रमियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि उन्होंने चेतावनी बोर्ड के सामने ही अपने तंबू गाड़ रखे हैं। निगम के अधिकारियों से जमीन को लेकर जानकारी लेना तो उन्हें भी इसकी जानकारी नहीं होने की बात सामने आई। ऐसे में सवाल उठता है कि शहर में अधिकारियों ने क्यों  निगम की करोड़ों की जमीन यूं ही असामाजिक तत्वों के हवाले की हुई है। झोपड़ी से लेकर बाड़ा तक बनाया हुआअतिक्रमियों ने इस जमीन पर मौजूद खाली आवासीय भवनों पर तो कब्जा किया हुआ है ही जहां अपने स्तर पर मरम्मत करा और दरवाजे लगाकर आवासीय स्थल बना लिया है। इसके अलावा पूरी जमीन पर जगह जगह झोपड़ियां और बाड़े बनाए हुए हैं जहां मवेशियों को बांधने से लेकर निर्माण सामाग्री बेचने का काम कर रहे हैं। जमीन के सामने मौजूद फैक्ट्री में आने वाले भारी वाहन भी यहीं खड़े होते हैं जो राहगीरों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। क्योंकि भारी वाहनों के यहां खड़े होने से ये सड़क को संकरी कर देते हैं जिससे वाहनों को निकलने में परेशानी होती है।

दीवार टूटी, रात में शराबियों का अड्डा
इस जमीन के चारों और बनी सुरक्षा दीवार पूरी तरह से क्षतिग्रस्त है जिसे अतिक्रमियों ने जगह-जगह से तोड़ा हुआ है। दीवार नहीं होने से कोई भी अंदर घुस जाता है। जिससे रात के समय में ये जमीन शराबियों के लिए अड्डा बन जाती है। स्थानीय निवासियों का कहना है कि इस जमीन पर शराबी आए दिन झगड़ा करते हैं। कई बार तो पुलिस तक को बुलाना पड़ जाता है। खुली जगह होने से कोई भी यहां अपना कब्जा जमा लेता है।

लोगों का कहना है
ये जमीन काफी सालों से खाली पड़ी हुई है जिस पर निगम की ओर से कुछ नहीं किया जा रहा है। अतिक्रमी को तो जहां जगह दिखती है वहीं अतिक्रमण करने लग जाता है।
- गुलाबचंद्र आर्य, इंद्रा गांधी नगर

Read More असर खबर का - आखिर जागा वन विभाग, अब तोड़ेगा 2 किमी सीसी सड़क

पहले जमीन खाली थी लेकिन अब अतिक्रमियों के साथ साथ शराबी भी यहां पर जमने लगे हैं कई बार तो अतिक्रमी और शराबी आने जाने वालों से झगड़ा भी करते हैं।
- सोनू कुशवाह, डीसीएम चौराहा

Read More महावीर जयंती पर निकाली शोभा यात्रा, घरों पर फहराया पचरंगा जैन ध्वज

पार्षद से इसे लेकर कई बार शिकायत की लेकिन उनके हाथ में नहीं होने से कुछ नहीं होता है। प्रशासन अतिक्रमियों को हटाने के साथ ही यहां पर जुटने वाले शराबियों पर कारवाई करे।
- राजदीप आमेरा, पावर हाउस सर्किल

Read More भाजपा के लिए एकतरफा जीत इस बार आसान लड्डू नहीं

इनका कहना है
जमीन खाली पड़ी हुई है उसकी जानकारी है अतिक्रमण को लेकर कोई शिकायत प्राप्त नहीं हुई है। अगर ऐसी शिकायत है तो अतिक्रमियों पर कारवाई कर जगह खाली करवाएंगे, दीवार का निर्माण करवाया जाएगा।
- विजय जेमिनी, अधिशाषी अभियंता, राज्य विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड

Post Comment

Comment List

Latest News

भगवा रंग पर अगर कांग्रेस को है आपत्ति, अपने झंडे से हटाए : यादव भगवा रंग पर अगर कांग्रेस को है आपत्ति, अपने झंडे से हटाए : यादव
यादव ने अपने बयान में कहा कि कांग्रेस और वामपंथी सोच पर शर्म और हँसी दोनों आती है। अब भगवा...
अमेरिका में पार्टी के दौरान फायरिंग, 2 लोगों की मौत
प्रदेश में दूसरे फेज की 13 सीटों पर कांग्रेस के दिग्गज नेता संभालेंगे कमान
एयरपोर्ट से बढ़ेगी इंटरनेशनल एयर कनेक्टिविटी, नई फ्लाइट शुरू
कांग्रेस ज्यादातर सीटों पर जीत के लिए है आश्वस्त, दूसरे फेज में भाजपा की हालत होगी खराब : गुर्जर
समित शर्मा ने पेयजल आपूर्ति का लिया जायजा, अवैध बूस्टरों के विरुद्ध कार्रवाई के दिए निर्देश
मणिपुर में 11 मतदान केंद्रों पर फिर होगा मतदान