यहां दिया तले अंधेरा...

सड़क बनाने वाले सरकारी विभागों की ही सड़क बदहाल

यहां दिया तले अंधेरा...

सड़के सही करने पर किसी भी विभाग के अधिकारी का ध्यान नहीं है, जिसका खामियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है।

कोटा। दिया तले अंधेरा... यह कहावत है जो उन सरकारी विभागों पर सही साबित हो रही है जो शहर में सड़कें बनाने का काम करते हैं। उन सरकारी विभागों के कार्यालय जाने वाली सड़कें ही बदहाल हो रही हैं। सार्वजनिक निर्माण विभाग शहर ही नहीं ग्रामीण क्षेत्रों और हाइवे तक की सड़क बनाने का काम करता है। लेकिन हालत यह है कि राज भवन रोड नयापुरा स्थित पी डब्ल्यूडी कार्यालय की तरफ जाने वाली सड़क ही बदहाल हो रही है। अदालत चौराहे से कार्यालय तक की सड़क पर कई जगह गड्ढ़े हो रहे हैं। डामर उखड़ा हुआ है। जिससे वहां जाने वाले वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इतना ही नहीं इसी रोड पर और कार्यालय के सामने ही पूर्व स्वायत्त शासन मंत्री व कोटा उत्तर से कांग्रेस विधायक शांति धारीवाल का आवास भी है। एसबीआई बैंक है जहां रोजाना बड़ी संख्या में बुजुर्ग पेंशन के लिए और महिलाएं व अन्य लोग आते हैं। जिनके सड़क के बदहाल होने से गिरने का खतरा बना हुआ है। ग्रामीण एसपी कार्यालय, अदालत और कई अन्य सरकारी कार्यालयों के अलावा लाडपुरा विधायक का आवास तक जाने की भी यही सड़क है। उसके बाद भी  न तो सार्वजनिक निर्माण विभाग और न ही नगर निगम व नगर विकास न्यास द्वारा सड़क को सही कराया जा रहा है। 

दो विभागों के बीच की जर्जर सड़क
इसी तरह शहर के मुख्य मार्गों से लेकर वार्डों तक में डामर व सीसी रोड बनाने वाले नगर विकास न्यास कार्यालय जाने की सड़क ही जजर हो रही है। सीएडी रोड पर न्यास कार्यालय है। कार्यालय में वर्तमान में प्रवेश व निकास के अलग-अलग गेट हैं। मेन गेट से प्रवेश करने के बाद अधिकारियों व कर्मचारियों और आमजन को वापस बाहर पीछे वाले गेट से निकलना पड़ रहा है। लेकिन हालत यह है कि पिछले गेट से निकलने के बाद मेन रोड पर आने वाली जो सड़क है उसका पूरा डामर उखड़ा हुआ है। जगह-जगह गड्ढ़े हो रहे हैं। हालत यह है कि इस रोड से निकलने वाले दो पहिया वाहन आए दिन दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। 

कुछ समय पहले ही बनाई थी सड़क
नगर विकास न्यास की ओर से इस रोड को कुछ समय पहले ही बनाया था। लेकिन उस सड़क की हालत काफी अधिक खराब हो रही है। पहले इस सड़क से न्यास कार्यालय जाने वाले लोग बहुत कम उपयोग करते थे। लेकिन जब से कार्यालय से निकास के लिए पिछले गेट से व्यवस्था की गई है। उसके बाद से इस सड़क पर वाहनों का आवागमन अधिक हुआ है। 

हाउसिंग बोर्ड कार्यालय भी इसी रोड पर
सीएडी मेन रोड से हाउसिंग बोर्ड के उप आवासन आयुक्त कार्यालय तक जाने के लिए भी यही सड़क है। हाउसिंग बोर्ड का यह संभागीय कार्यालय है। लेकिन इस सड़क को सही करने पर किसी भी विभाग के अधिकारी का ध्यान नहीं है। जिसका खामियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है। 

Read More राज्यमंत्री जनरल डॉ. वीके सिंह बोले - चीन ने भारत में कोई कब्जा नहीं किया है, जो स्थिति 2012 में थी, आज भी वहीं स्थिति है

बरसात में होगी अधिक परेशानी
सरकारी कार्यालयों तक जाने की बदहाल सड़कों से बरसात के समय में अधिक परेशानी होगी। लोगों ने बताया कि बरसात से पहले यदि इन सड़कों को सही नहीं किया तो कीचड़ से होकर निकलना पड़ेगा। उस समय  पानी भरा होने से गड्ढ़े नजर नहीं आने से हादसे होने का भी खतरा अधिक बढ़ जाएगा।  दादाबाड़ी निवासी निर्मल सेन ने बताया कि न्यास कार्यालय से बाहर निकलने के बाद मेन रोड तक दो पहिया वाहन से आना किसी खतरे से कम नहीं है। सड़क की गिट्टी उखड़ी होने से स्कूटर के स्लिप होने से आए दिन लोगों के गिरने की घटनाएं हो रही है। लेकिन उस सड़क को सही नहीं किया जा रहा।  इधर नगर विकास न्यास अभियंताओं का कहना है कि राज भवन रोड व सीएडी रोड की सड़कों को कुछ समय पहले ही सही करवाया था। लेकिन बरसात होने से डामर उखड़ गया है। बरसात से पहले इन सड़कों को फिर से सही करवा दिया जाएगा। 

Read More अजमेर के एमके एकेडमी की मान्यता रद्द

Post Comment

Comment List

Latest News