मंडी में सफाई का नहीं दिखा असर, लगे कचरे के ढेर

निगम की ओर से विशेष अभियान चलाकर करवाई थी सफाई : सभी दुकानदारों व ठेले वालों को डस्टबीन रखने के दिए थे निर्देश

मंडी में सफाई का नहीं दिखा असर, लगे कचरे के ढेर

एक तरफ तो शहर को स्मार्ट सिटी बनाने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ यहां मुख्य बाजारों व मंडी को ही साफ नहीं रखा जा सकता।

कोटा। नई धानमंडी स्थित थोकफल सब्जीमंडी में जहां रोजाना हजारों लोग खरीदारी के लिए जा रहे हैं। वहां चारों तरफ गंदगी का अम्बार लगा हुआ है। नगर निगम कोटा दक्षिण की ओर से यहां विशेष अभियान के तहत की गई सफाई व समझाइश का असर नहीं दिखाई दे रहा। मंडी में  जहां दूरदराज से व्यापारी तो माल लेकर आ ही रहे हैं साथ ही हजारों लोग भी फल और सब्जी  खरीदारी के लिए जा रहे हैं। उस मंडी में प्रवेश द्वार से लेकर मुख्य सड़क तक, फल और सब्जी के ठेलों और दुकानदारों के आस-पास चारों तरफ कचरे के ढेर लगे हुए हैं। जिनसे होकर ग्राहकों को निकलना पड़ रहा है। 

मवेशियों का जमघट
फल व सब्जी वालों द्वारा वहां सड़क पर ही फैलाई जा रही गंदगी और सड़े गले फल व सब्जी सड़क पर डालने से वहां  मवेशियों का जमघट लगा रहता है। ऐसे में वहां आने वाले ग्राहकों को एक तो गंदगी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं दूसरी तरफ मवेशियों के खतरे का भी सामना करना पड़ रहा है। हालत यह है कि कई बार लोगों को कभी कचरे से बचने के लिए तो कभी मवेशियों से बचने के दौरान परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

अभी तक नहीं रखे डस्टबीन 
एक तरफ तो शहर को स्मार्ट सिटी बनाने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ यहां मुख्य बाजारों व मंडी को ही साफ नहीं रखा जा सकता। हालत यह है कि मंडी  में न तो अधिकतर दुकानदारों ने और न ही सब्जी वालों ने डस्टबीन रखे हैं। जिससे पूरा कचरा सड़क पर ही डाला जा रहा है। 

निगम ने चलाया था विशेष अभियान
नगर निगम कोटा दक्षिण की ओर से स्वच्छता मार्च अभियान के तहत शहर में कई जगह पर विशेष सफाई अभियान चलाया  गया था। सप्ताह भर चले अभियान की शुरुआत थोक फल सब्जी मंडी से की गई थी।  उप महापौर व सफाई समिति के अध्यक्ष पवन मीणा की अगुवाई में व्यापार महासंघ व स्थानीय दुकानदारों के सहयोग से चलाए गए अभियान के तहत बरसों बाद मंडी से की गई सफाई के दौरान बड़ी मात्रा में कचरा निकाला गया था। उस समय सभी दुकानदारों से उनकी दुकानों के आगे डस्टबीन रखने के लिए समझाइश की गई थी। लेकिन इतने दिन बीतने के बाद भी उसमें सुधार नहीं हुआ है। 

Read More Education Minister दुष्कर्म के मामले को लेकर सख्त

इनका कहना है
नगर निगम के माध्यम से लोगों को जोड़ते हुए सफाई का अभियान चलाया था। पहली बार में लोग समझ जाएंगे ऐसी उम्मीद भी नहीं की जा सकती। प्रयास किया था कि लोग स्वत: ही सफाई के प्रति जागरूक रहे। लोकसभा चुनाव के बाद 1 मई से फिर से सफाई के प्रति लोगों को जागरूक करते हुए अभियान चलाया जाएगा। 
- पवन मीणा,  उप महापौर कोटा दक्षिण अध्यक्ष सफाई समिति

Read More सीसी रोड पर अधूरे कार्य दे रहे पीड़ा

सब्जी खरीदने में आती है परेशानी
थोक फल सब्जीमंडी में सब्जी सस्ती मिल जाती है। इसलिए यहां आते हैं। लेकिन मंडी में इतनी अधिक गंदगी रहती है कि उसके बीच ही खरीदारी करनी पड़ती है। इससे बीमारियां होने और कई बार सब्जी व खराब फल पर पैर व वाहन फिसलने से भी गिरने की घटनाएं हो चुकी है। जानवरों का भी डर बना हुआ है। मंडी में सफाई तो रहनी ही चाहिए। 
- नैना सुमन, कंसुआ

Read More मार्च में पूरा होने वाला काम मई में भी अधूरा

यहां आने का मन नहीं करता
थोक फल सब्जीमंडी में सप्ताह में एक-दो बार तो आना होता ही है। यहां हमेशा इतनी अधिक गंदगी रहती है कि कई बार तो आने का मन ही नहीं करता। बरसात के समय तो यहां गंदगी के साथ ही कीचड़ भी खूब रहता है। शहर में नगर निगम द्वारा सफाई अभियान चलाया जाता है लेकिन उसका असर मंडी में तो नजर नहीं आ रहा। जबकि यहां महिलाएं अधिक आती हैं तो सफाई तो रहनी ही चाहिए।  
- अब्दुल रजाक, किशोरपुरा 

Post Comment

Comment List

Latest News