राजस्थान में अपनी जमीन से शव यात्रा नहीं निकलने देने का मामला आया सामने, शव के साथ ग्रामीण बैठे धरने पर

पीलवा गांव में शव के साथ ग्रामीण 6 घंटे से बैठे हैं धरने पर

राजस्थान में अपनी जमीन से शव यात्रा नहीं निकलने देने का मामला आया सामने, शव के साथ ग्रामीण बैठे धरने पर

चैनावाली ढाणी से श्मशान के लिए रास्ते की मांग को लेकर बैठे, सिकंदरा SHO कमलेश मीना और नायब तहसीलदार राकेश शर्मा मौके पर

दौसा। सिकराय उपखंड के पीलवा खुर्द की चेना ढाणी में आज शनिवार को महिला कल्याणी देवी का शव 6 घंटे से अंतिम संस्कार के इंतजार में रास्ते में रखा है। परिजन महिला के शव को ले जाने के लिए स्थाई रास्ते की मांग को लेकर रास्ते में बैठे रहें। दूसरा पक्ष अपनी खातेदारी भूमि से रास्ता देने को तैयार नहीं है। ग्रामीणों ने बताया कि महिला कल्याणी देवी पत्नी मीठालाल सैनी की बीमारी के चलते मौत हो गई थी। परिजन महिला की शव यात्रा निकाल रहे थे। जिस रास्ते से महिला की शव यात्रा को ले जा रहे थे, उसमे गांव के ही कजोड़ मीणा ने रेवेन्यू विभाग से स्टे ले रखा है। उसने अपनी जमीन में होकर शव यात्रा निकालने से इंकार कर दिया था। ऐसे में गुस्साए परिजनों ने शव को रोड पर ही रख दिया और रास्ते की मांग को लेकर प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान मृतक महिला के शव को सुरक्षित रखने के लिए मृतक के परिजनों ने शव, बर्फ लगाकर उसे सुरक्षित रखा ।वहीं घटनास्थल पर मानपुर सीओ संत राम मीणा थाना प्रभारी कमलेश मीणा नायब तहसीलदार सिकंदरा राकेश शर्मा भी पहुंचे और लोगों को समझाइश की।

Post Comment

Comment List

Latest News

एनआईए ने केरल , कर्नाटक में 3 जगहों पर मारे छापे एनआईए ने केरल , कर्नाटक में 3 जगहों पर मारे छापे
एनआईए सूत्रों ने कहा कि यह मामला पीएफआई के कार्यकर्ताओं, सदस्यों और पदाधिकारियों द्वारा रची गई आपराधिक साजिश से संबंधित...
चीन मुद्दे पर बहस से भाग रही है सरकार : कांग्रेस
चार राज्यों की नयी जातियों को मिलेगा एसटी का दर्जा
आगामी बजट को लेकर गहलोत ने किया किसान प्रतिनिधियों के साथ संवाद
अजय देवगन ने काजोल की फिल्म सलाम वेंकी की तारीफ की
क्या राहुल गांधी के पास जवाब है कि रामनवमी और हिंदू नववर्ष पर कांग्रेस की सरकार ने प्रतिबंध क्यों लगाया: डॉ. पूनियां
कोटा के विकास कार्य अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाले हैं