खारा में गर्भवती महिला सुनीता के घर से शुरू हुआ पोषण वाटिका अभियान

एक ही दिन में पंद्रह हजार स्थानों पर स्थापित हुई पोषण वाटिकाएं

खारा में गर्भवती महिला सुनीता के घर से शुरू हुआ पोषण वाटिका अभियान

आंगनबाड़ी केन्द्रों की लाभार्थी महिलाओं ने अपने घरों में सहजन फली का पौधा और पालक, धनिया, मैथी, अरबी और सरसों का बीजारोपण किया। उन्होंने बताया कि गर्भवती और धात्री महिलाओं को पोषण मानकों के प्रति जागरुक करने के उद्देश्य से घर-घर पोषण वाटिकाएं स्थापित की जा रही हैं।

 बीकानेर। कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने बुधवार को खारा में गर्भवती महिला सुनीता देवी के घर पोषण वाटिका अभियान की शुरूआत की। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि यह अभियान बीकानेर को एनिमिया मुक्त बनाने की दिशा में महत्वपूर्ण साबित होगा। कलक्टर ने बताया कि सजग आंगनबाड़ी अभियान के तहत जिले भर में 15 हजार स्थानों पर पोषण वाटिकाएं स्थापित की गई। आंगनबाड़ी केन्द्रों की लाभार्थी महिलाओं ने अपने घरों में सहजन फली का पौधा और पालक, धनिया, मैथी, अरबी और सरसों का बीजारोपण किया। उन्होंने बताया कि गर्भवती और धात्री महिलाओं को पोषण मानकों के प्रति जागरुक करने के उद्देश्य से घर-घर पोषण वाटिकाएं स्थापित की जा रही हैं। पहले चरण में जिले के 1502 आंगनबाड़ी केन्द्रों की 10-10 लाभार्थी महिलाओं के घरों पर यह पोषण वाटिकाएं स्थापित की गई हैं। इनकी मॉनिटरिंग के लिए सुपोषित बीकानेर मोबाइल ऐप भी बनाया गया है।  महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक शारदा चौधरी ने बताया कि बुधवार को बीकानेर शहर में 1 हजार 540, ग्रामीण में 1 हजार 730, कोलायत में 2 हजार 350, लूणकरनसर में 2 हजार 160, खाजूवाला में 2 हजसा 60, श्रीडूंगरगढ़ में 2 हजार 50, नोखा में 1 हजार 730 तथा पांचू में 1 हजार 380 स्थानों पर पोषण वाटिकाएं स्थापित की गई।


मॉडल आंगनबाड़ी केन्द्र का किया उद्घाटन
कलक्टर ने खारा में मॉडल आंगनबाड़ी केन्द्र का उद्घाटन किया। इस केन्द्र पर सरपंच सहित अन्य भामाशाहों के सहयोग से लगभग दस हजार रुपये के खिलौने, 50 कुर्सियां, एक एलईडी टीवी, चार पंखे एवं स्टाफ सदस्यों के लिए कुर्सियां तथा बच्चों की पोशाक उपलब्ध करवाई गई है। कार्यक्रम में सरपंच भैंरू सिंह सिसोदिया, नवरंग मेघवाल, प्रचेता विजय लक्ष्मी जोशी, मंजू खड़गावत, पन्नालाल नागल आदि मौजूद रहे।

पुकार के तहत आयोजित हुई पाठशाला
 कलक्टर ने पुकार अभियान के तहत खारा में मातृ-शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण पाठशाला में भाग लिया। उन्होंने गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान रखी जाने वाली सावधानियों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि जिले की समस्त ग्राम पंचायतों एवं वार्डों में यह पाठशालाएं आयोजित की जा रही हैं। इस दौरान ब्लॉक मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुनील हर्ष सहित अन्य कार्मिक मौजूद रहे।

Related Posts

Post Comment

Comment List

Latest News