3 माह में साढ़े तीन हजार, मुफ्त होते ही 1.8 लाख ने लगाई बूस्टर डोज

अमृत उत्सव में 1 लाख 35 हजार 402 लोगों का हुआ टीकाकरण

3 माह में साढ़े तीन हजार, मुफ्त होते ही 1.8 लाख ने लगाई बूस्टर डोज

चिकित्सा विभाग के कोविड वैक्सीन प्रभारी डॉ. देवेंद्र झालानी ने बताया कि 15 जुलाई के बाद से ही रोजाना 100 से ज्यादा साइट्स पर बूस्टर डोज लगाई जा रही है। कोरोना संक्रमण के स्वरूप बदल रहे है। ऐसे में बूस्टर डोज ही एक मात्र बचाव का विकल्प है।

कोटा । केंद्र सरकार की ओर से कोविड वैक्सीन की  बूस्टर डोज 15 जुलाई से मुफ्त  करने के बाद से ही टीका लगाने वालों की सौ गुना बढ़ गई है। 9 अप्रैल को केंद्र सरकार ने 18 से 59 साल के लोगों के लिए निजी अस्पतालों में बूस्टर डोज सशुल्क शुरू की थी जिसमें 225 रुपए व 150 सर्विस चार्ज कुल 375 रुपए में बूस्टर डोज लगाने का प्रावधान था। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से  शहर के सुधा अस्पताल स:शुल्क बूस्टर डोज लगाने की व्यवस्था की थी। 9 अप्रैल से 14 अप्रैल तीन माह 11 दिन में सुधा अस्पताल में स:शुल्क 3593 लोगों ने ही डोज लगाई थी। कोराना संक्रमण के फिर से केस आने और लोगों के बूस्टर डोज के प्रति उदासीनता के चलते सरकार ने आजादी के अमृत उत्सव के तहत 15 जुलाई से सभी सरकारी अस्पतालों में कोविड वैक्सीन महाअभियान के तहत नि:शुल्क प्रीकॉशन डोज लगाना  शुरू किया। 15 जुलाई को पहले दिन ही 3115 लोग प्रीकॉशन डोज लगाने पहुंच गए। जबकि निजी अस्पताल में रोज 37 से 40 लोगों ही प्रीकॉशन डोज लगवा रहे थे। जुलाई दूसरे पखवाड़े  में 54007 लोगों ने प्रीकॉशन डोज लगाकर टीकाकरण की रफ्तार को एक बार फिर से रफ्तार दे दी थी। जहां पहले अस्पताल में गिनती के बुजुर्ग डोज लगाने जाते थे वहां अब कतारें लगना शुरू हो थी। कोटा में प्रीकॉशन डोज को लेकर युवाओं में एक बार फिर से उत्साह जागा है। 

नि: शुल्क होने के पहले पांच दिन में ही 18 हजार लोगों ने लगाई डोज

फ्री करने के बाद 15 से 20 जुलाई के पांच दिनों में ही प्रीकॉशन डोज लगाने वालों का आंकड़ा 18791 पहुंच गया है। चिकित्सा विभाग के कोविड वैक्सीन प्रभारी डॉ. देवेंद्र झालानी ने बताया कि 15 जुलाई के बाद से ही रोजाना 100 से ज्यादा साइट्स पर बूस्टर डोज लगाई जा रही है। कोरोना संक्रमण के स्वरूप बदल रहे है। ऐसे में बूस्टर डोज ही एक मात्र बचाव का विकल्प है। 

Read More अंतरराष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस : आइसलैंड है दुनिया में महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित देश

नि: शुल्क होने के बाद बढ़ा रूझान

टीकाकरण प्रभारी डॉ. देवेंद्र झालानी ने बताया कि आजादी के अमृत उत्सव के तहत 75 दिन के लिए बूस्टर डोज को निशुल्क किया उसके बाद से अब तक 1 लाख 8 हजार 977 लोगों ने बुस्टर डोज लगवाई है। वहीं जुलाई से सितंबर के बीच पहली, दूसरी और बूस्टर डोज कुल 1 लाख 35 हजार 402 लोगों ने लगवाई है। जबकि अप्रैल मई जून के तीन माह में सशुल्क होने से मात्र 3539 लोगों ने ही डोज लगाई थी। 

75 दिन में ऐसे बढ़ा आंकड़ा 
माह    कुल डोज    प्रिकॉशन डोज
जुलाई    61996    56502
अगस्त     47597    35846
सितंबर     25809    16629

Read More भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों का मंत्रियों ने लिया जायजा

प्रिकॉशन डोज निशुल्क करने के बाद शिविरों और अस्पतालों काफी लोगों ने डोज लगाई। शुक्रवार को 75 दिन का अंतिम दिन है। अभी आगे निशुल्क करने की गाइड लाइन नहीं आई है। निशुल्क बूस्टर डोज को सरकार ने आगे नहीं बढ़ाया तो एक अक्टूबर से पुरानी व्यवस्था के अनुसार सशुल्क डोज लगेंगे। जिन लोगों डोज बाकी 30 सितंबर को लगवा सकते है। 
- डॉ. जगदीश कुमार सोनी, सीएमएचओ कोटा

Post Comment

Comment List

Latest News