राजस्थान में कोरोना का अभी नया वैरिएंट नहीं

राजस्थान में कोरोना का अभी नया वैरिएंट नहीं

राहत की खबर : प्रदेश में तीसरी लहर की आशंका कम

जयपुर। राजस्थान में हालांकि शनै-शनै कोरोना के कुछ मरीजों में बढ़ोतरी हुई है, लेकिन फिलहाल प्रदेश के लिए बड़ी राहत की खबर यह है कि हमारे यहां कोरोना का नए वैरिएंट की एंट्री नहीं हुई है। पुराने सामान्य और दूसरी लहर में डेल्टा वैरिएंट ही सक्रिय है। चिकित्सा विभाग की जानकारी के अनुसार प्रदेश में अब तक 3500 कोरोना संक्रमितों के जांच नमूनों को जीनोम सिक्वेसिंग के लिए लैबों में भेजा था, लेकिन किसी भी मरीज में एडवांस वैरिएंट यानी नये वैरिएंट नहीं मिले हैं।  वहीं जयपुर के सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज में चल रही जीनोम सिक्वेंसिंग लैब में 750 जांच नमूनों की जांच में भी इसकी पुष्टि हुई है। इनमें भी किसी नए वैरिएंट से ग्रसित मरीज सामने नहीं आया है। ऐसे में राहत की खबर यह है कि प्रदेश में कोरोना की तीसरी  लहर आने या भयावह संक्रमण फैलने की आशंका काफी कम है, क्योंकि आईसीएमआर और दिल्ली एम्स की अब तक की रिसर्च में सामने आया है कि नया वैरिएंट आने पर ही देश या राज्य में तीसरी लहर आने की आशंका है।


बीकानेर में तीन माह पहले डेल्टा प्लस का मिला था मरीज:
प्रदेश में अब तक डेल्टा वैरिएंट से म्यूटेशन होकर बना डेल्टा प्लस वैरिएंट ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है, लेकिन तीन माह पहले बीकानेर में एक बुजुर्ग महिला ही इसकी शिकार मिली थी। तब राहत यह रही थी कि महिला के वैक्सीन की दोनों डोज लगने के कारण संक्रमण के बाद वह सामान्य सर्दी-जुकाम से ही पीड़ित रही थी। सामान्य दवा से घर पर ठीक हो गई थी। तब यह भय व्याप्त हुआ था कि प्रदेश में डेल्टा प्लस वैरिएंट का रोगी आने से संक्रमण बढ़ सकता है, लेकिन तीन माह में इस वैरिएंट का केस नहीं आने से प्रदेश हाई रिस्की जोन में नहीं है।

एसएमएस मेडिकल कॉलेज में 750 सैम्पलों की जांच हुई है, राहत यह है कि किसी में भी नया वैरिएंट नहीं मिला है।
- डॉ.सुधीर भंडारी, प्राचार्य, एसएमएस मेडिकल कॉलेज

कोरोना फैलने की आशंका कम क्यों
कोरोना के डेल्टा वैरिएंट के आने पर प्रदेश में दूसरी लहर आई थी। आईसीएमआर के सीरो सर्वे में तब 70 फीसदी से अधिक राजस्थानियों में एंटीबॉडी  मिली थी, मतलब ये संक्रमित हो चुके थे, लेकिन सभी बीमार नहीं हुए। ऐसे में इस वैरिएंट पर हर्ड इम्यूनिटी आने की आस रिसर्च में जताई गई थी। इसके चलते प्रदेश में डेल्टा वैरिएंट के अभी भी सक्रिय होने के बावजूद बहुत कम ही लोग बीमार हो रहे हैं। संक्रमण की चेन नहीं बन रही है, क्योंकि लोगों में एंटीबॉडी विकसित हो गई है। इसके चलते फिलहाल राहत है।

प्रदेश में 22 नए कोरोना रोगी मिले

 प्रदेश में सोमवार को कोरोना के 22 नए रोगी सामने आए हैं। इनमें से 11 अकेले जयपुर में हैं। वहीं नागौर में 4, अजमेर-अलवर में 2-2, पाली, बीकानेर, जोधपुर में 1-1 नए केस मिले हैं। शेष 26 जिलों में नया केस नहीं मिला है।
प्रदेश में अब 131 एक्टिव केस हो गए हैं, इनमें 76 जयपुर और 20 अजमेर में ही हैं। अलवर में 10, नागौर में 9, बाड़मेर में 5, पाली, उदयपुर, जोधपुर में 2-2, बीकानेर, बारां-कोटा में 1-1 एक्टिव केस हैं। प्रदेश में सोमवार को कोरोना से कोई मौत नहीं हुई है।

Post Comment

Comment List

Latest News