दक्षिता-ईलाक्षी को संयुक्त बढ़त

छठे राउण्ड में अब दक्षिता और ईलाक्षी के मध्य मुकाबला

दक्षिता-ईलाक्षी को संयुक्त बढ़त

उदयपुर के आन्या चावट और किरण परिहार, जोधपुर की नव्या राठी और जयपुर की अनुष्का जैन तथा भीलवाड़ा की नंदिनी पुरोहित 3.5 अंकों के साथ संयुक्त तीसरे स्थान पर हैं।

जयपुर। शीर्ष वरीयता प्राप्त उदयपुर की दक्षिता कुमावत और जयपुर की ईलाक्षी श्रीवास्तव ने यहां चल रही राजस्थान सीनियर महिला शतरंज प्रतियोगिता में पांचवें चक्र की समाप्ति पर समान रूप से 5.5 अंकों के साथ संयुक्त बढ़त बना ली है। दक्षिता ने सोमवार को प्रथम बोर्ड पर जयपुर की आशी उपाध्याय को हरा अपनी श्रेष्ठता साबित की, वहीं दूसरे बोर्ड पर जयपुर की ईलाक्षी श्रीवास्तव ने उदयपुर की अदविका सरूप्रिया को 57 चालों में मात टिकाई। छठे राउण्ड में अब दक्षिता और ईलाक्षी के मध्य मुकाबला होगा। जयपुर जिला शतरंज एसोसिएशन के सचिव अशोक भार्गव के अनुसार 4 अंकों के साथ संयुक्त दूसरे स्थान पर चल रही जयपुर की आशी उपाध्याय ने कोटा की रितिक्षा विजय को, सौम्या जैन ने जयपुर की ही श्रेष्ठता जैन को और भीलवाड़ा की आराध्या उपाध्याय ने जयपुर की दिव्यता सिंह को हरा खिताब के लिए अपनी दावेदारी बरकरार रखी। उदयपुर के आन्या चावट और किरण परिहार, जोधपुर की नव्या राठी और जयपुर की अनुष्का जैन तथा भीलवाड़ा की नंदिनी पुरोहित 3.5 अंकों के साथ संयुक्त तीसरे स्थान पर हैं। उन्होंने कहा कि प्रतियोगिता में शीर्ष चार स्थानों पर रहने वाली खिलाड़ी 30 जून से अहमदाबाद में होने वाली राष्ट्रीय प्रतियोगिता में राजस्थान का प्रतिनिधित्व करेंगी। 

Post Comment

Comment List

Latest News

राज्यवर्धन राठौड़ ने निगम के अधिकारियों साथ की बैठक, विकास कार्यों पर की चर्चा राज्यवर्धन राठौड़ ने निगम के अधिकारियों साथ की बैठक, विकास कार्यों पर की चर्चा
मानसून के आगमन से पहले सारी व्यवस्थाएं सही करने के भी निर्देश दिए। 
चंद्रबाबू नायडू ने 2 साल बाद विधानसभा में किया प्रवेश, अपमानित होने के बाद चले गए थे बाहर
बिना रजिस्ट्रेशन के रियल स्टेट में खरीद-बेचान करने वाले एजेंटों पर रेरा अथॉरिटी का शिकंजा, थमाएं नोटिस
2.69 करोड़ ग्राहकों के साथ प्रदेश में सबसे आगे जियो
पत्नी की हत्या : कटा सिर और हाथ नाले में फेंके
रूस में हेलीकॉप्टर क्रैश, पायलट सहित 3 लोगों की मौत
अन्नपूर्णा रसोईयों का किया औचक निरीक्षण, 7 लाख से अधिक का लगाया जुर्माना