चाय की थड़ी चलाने वाले दो भाइयों को एसीबी ने धर दबोचा

हेड कांस्टेबल के लिए ली 20 हजार की रिश्वत, बाइक चोरी के आरोपियों से मांगे थे 1.20 लाख रुपए 

चाय की थड़ी चलाने वाले दो भाइयों को एसीबी ने धर दबोचा

उदयपुर एसीबी की टीम ने कोतवाली थाने के सीआई के नाम पर हेड कांस्टेबल जयसिंह के लिए 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते चाय की थड़ी चलाने वाले 2 सगे भाइयों को गिरफ्तार किया।

डूंगरपुर। उदयपुर एसीबी की टीम ने कोतवाली थाने के सीआई के नाम पर हेड कांस्टेबल जयसिंह के लिए 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते चाय की थड़ी चलाने वाले 2 सगे भाइयों को गिरफ्तार किया। मामले में मुख्य आरोपी हेड कांस्टेबल जयसिंह कोतवाली थाने के सीआई के साथ नेपाल तफ्तीश में गया है। हेड कांस्टेबल ने बाइक चोरी के एक केस में 4 आरोपियों से 1 लाख 20 हजार रुपए की डिमांड की थी।

एसीबी उदयपुर के एएसपी विक्रम सिंह राठौड़ ने बताया कि बाबूलाल डामोर निवासी गामड़ी नयागांव ने 9 सितंबर की उदयपुर आकर शिकायत दी थी कि कोतवाली थाना क्षेत्र में एक बाइक चोरी के केस में उसके बेटे उमेश डामोर और उसके 3 अन्य साथियों का नाम आने के बाद जांच अधिकारी हेड कांस्टेबल जयसिंह उनसे रिश्वत की मांग कर रहा है। कोतवाली सीआई के नाम पर बाइक चोरी में आरोपी नहीं बनाने की एवज में 1 लाख 20 हजार रुपए की मांग कर रहा है। उमेश समेत 4 आरोपियों ने 10-10 हजार रुपए इकट्ठे कर 40 हजार रुपए की रिश्वत पहले दे दिए। इसके बाद बचे हुए 80 हजार रुपए की मांग कर रहा है। बाबूलाल ने बताया कि पैसे नहीं होने के लिए कहा तो जमीन बेचकर भी पैसे देने के लिए दबाव बनाने लगा।

शिकायत पर एसीबी की टीम ने दूसरे दिन बाबूलाल को 5 हजार रुपए लेकर सत्यापन करवाने भेजा। हेड कांस्टेबल जयसिंह ने रिश्वत की राशि डूंगरपुर रोडवेज बस स्टैंड गेट पर स्थित चाय की थड़ी पर देने को कहा। चाय की थड़ी पर राहुल डिंडोर निवासी वीरपुर को रिश्वत के 5 हजार रुपए दे दिए। वहीं 15 हजार रुपए की रिश्वत देने के लिए बुधवार को आए। हेड कांस्टेबल जयसिंह डामोर ने इस बार भी रिश्वत के रुपए उसी चाय की थड़ी पर देने के लिए बोला। जिस पर बाबूलाल डामोर रिश्वत के रुपए लेकर थड़ी पर पहुंचा, लेकिन इस बार राहुल डिंडोर की जगह उसका भाई राजू डिंडोर थड़ी पर बैठा था। राजू ने ये रुपए ले लिए। उधर, इशारा मिलते ही एसीबी की टीम पहुंच गई और रिश्वत के 15 हजार रुपए के साथ राजू डिंडोर को गिरफ्तार कर लिया। उसी समय राजू का भाई राहुल डिंडोर भी आ गया। जिस पर एसीबी की टीम ने पहले लिए 5 हजार की रिश्वत के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

तफ्तीश में नेपाल गया है आरोपी
एसीबी की टीम दोनों को पकड़कर कोतवाली थाने पहुंची, लेकिन हेड कांस्टेबल जयसिंह डामोर थाने पर भी नहीं था। एसीबी को पता चला कि हेड कांस्टेबल जयसिंह कोतवाली थाने के ही सीआई सुरेंद्र सोलंकी के साथ नेपाल एक मामले की जांच को लेकर गए हैं। वहीं एसीबी की टीम हाउसिंग बोर्ड उसके घर भी पहुंची और जानकारी जुटाई। आरोपी हेड कांस्टेबल जयसिंह के वापस आने के बाद भी उसकी गिरफ्तारी की जाएगी एवं इसके बाद मामले की जांच आगे बढ़ेगी।

Tags: ACB crime

Post Comment

Comment List

Latest News

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी किस कारण हुई निष्क्रिय, मोदी सरकार ने धारण किया मौनव्रत : खड़गे राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी किस कारण हुई निष्क्रिय, मोदी सरकार ने धारण किया मौनव्रत : खड़गे
वह किस वजह से निष्क्रिय हुई है। इस बारे में सरकार को स्पष्टीकरण देना चाहिए। खड़गे ने कहा कि नरेंद्र...
प्राचीनकाल से राष्ट्र धर्म निभा रहा है राव राजपूत समाज : भजनलाल
जन आकांक्षाओं पर शत-प्रतिशत खरा उतरेगा लोक कल्याणकारी बजट, सरकार ने हर तबके को दी सौगातें : जोगाराम
रेलवे पुल पर फोटो शूट करवा रहे थे दंपती, ट्रेन आती देख 90 फीट गहरी खाई में लगाई छलांग
लोकसभा में गौरव गोगोई बने कांग्रेस के उपनेता, सुरेश को नियुक्त किया मुख्य सचेतक
सोमालिया में जेल से भागने की कोशिश कर रहे कैदियों पर फायरिंग, 8 लोगों की मौत
शॉर्ट फिल्म झूठन की शूटिंग पूरी