अलवर के सरिस्का के जंगल में फैली आग, वायुसेना जुटी आग बुझाने में

सरिस्का जंगल में फैली आग बुझाने के लिए वायुसेना की ली मदद

अलवर के सरिस्का के जंगल में फैली आग, वायुसेना जुटी आग बुझाने में

सरिस्का के अकबरपुर रेंज के बालेटा व पृथ्वीपुरा नाके के आसपास क्षेत्र की सूखी घास एवं पौधों में अज्ञात कारणों से लगी आग सोमवार देर रात तक बेकाबू हो गई।

अलवर। राजस्थान में अलवर के सरिस्का के जंगल में फैली आग पर काबू पाने के लिए वायुसेना की मदद ली गई है।     वायुसेना के दो हेलीकॉप्टर सरिस्का के जंगल में आग बुझाने का काम कर रहे हैं। बेकाबू आग को नियंत्रण में लाने के लिए वन विभाग व जिला प्रशासन ने एयरफोर्स से मदद मांगी। इसके बाद एयरफोर्स ने दो हेलीकॉप्टर अलवर भेजें। इस पर वायु सेना के दो हैलीकॉप्टर मंगलवार सुबह अलवर के केंद्रीय स्कूल स्थित हेलीपेड पर पहुंचें और यहां से अलवर की सिलीसेढ़ झील से पानी लेकर दोनों हेलिकॉप्टर लगातार आग प्रभावित जंगल क्षेत्र में पानी छिड़काव करने का काम कर रहे हैं।

सरिस्का के अकबरपुर रेंज के बालेटा व पृथ्वीपुरा नाके के आसपास क्षेत्र की सूखी घास एवं पौधों में अज्ञात कारणों से लगी आग सोमवार देर रात तक बेकाबू हो गई।   सरिस्का प्रशासन ने वायु सेना के हैलीकॉप्टर चालकों को जीपीएस उपलब्ध कराई है जिसकी सहायता से वो जंगल में आग बुझाने का काम चल रहा है। इसके अलावा वन विभाग के करीब ढाई सौ से ज्यादा कर्मचारी व 300 से ज्यादा ग्रामीण जंगल की आग बुझाने में लगे हुए हैं।

सरिस्का के क्षेत्र निदेशक आरएन मीणा ने बताया कि अकबरपुर रेंज के बालेटा- पृथ्वीपुरा नाका के आसपास क्षेत्रों में सूखी घास एवं पौधों में अज्ञात कारणों से आग लग गई थी। आग को बुझाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस क्षेत्र में आग लगने से वन एवं वनस्पति, घास, छोटी झाडिय़ां, बांस, सालर, धोक के वृक्ष व अन्य प्रजातियों के साथ वन्यजीवों के आवास को भी क्षति पहुंची है। वहीं आग वाला जंगल बाघिन एसटी-17 एवं उसके पिछले दिनों जन्में दो शावकों का विचरण क्षेत्र है। उन्होंने कहा कि बाघ व उसके शावकों को सुरक्षित रखा गया है। उस क्षेत्र में लगातार पानी का छिड़काव किया जा रहा है। इसके अलावा भी लगातार योजना बनाकर वन कर्मी ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाने का प्रयास कर रहे हैं।

वन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि जंगल में आग लगने के कारण जंगल क्षेत्र में लगे मधुमक्खी के छत्ते टूट गए हैं। ऐसे में लगातार पूरे क्षेत्र में मधुमक्खियां घूम रही हैं। जिसके चलते जंगल क्षेत्र में आग बुझाने के कार्य में लगे वन कर्मी व ग्रामीणों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मधुमक्खियां वन कर्मियों के ग्रामीणों पर हमला कर रही हैं।

 एडीएम सिटी सुनीता पंकज ने बताया कि एयरफोर्स की तरफ से हेलीकॉप्टरों में फ्यूल के दिक्कत ना हो। उसके लिए अलग से फ्यूल फील करने के लिए एक हेलीकॉप्टर भेजा है। जिससे आग बुझाने के काम में किसी भी तरह की दिक्कत ना हो सके।सुनीता पंकज अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने बताया कि सरिस्का वन क्षेत्र में तेजी से आग फैलने के कारण जयपुर आपदा प्रबंधन टीम को अवगत कराया गया की सरिस्का वन्य जीव क्षेत्र में आग तेजी से फैल रही है जिसको रोक पाना कठिन साबित हो रहा है आग पर हेलीकॉप्टर से ही काबू पाया जा सकता है।

Post Comment

Comment List

Latest News