परीक्षा से पहले खाली हो गए कॉलेज, अब कौन पढ़ाएगा

हाड़ौती के 12 कॉलेजों में विद्या संबल पर कार्यरत शिक्षक हुए कार्यमुक्त

परीक्षा से पहले खाली हो गए कॉलेज, अब कौन पढ़ाएगा

अधिकतर कॉलेजों में 30 से 40 प्रतिशत सिलेबस अधूरा चल रहा है।

कोटा। राजस्थान कॉलेज एजुकेशन सोसायटी के अधीन संचालित हो रहे हाड़ौती के सरकारी कॉलेज बुधवार को एक साथ खाली हो गए। विद्या संबल पर लगे 90 से ज्यादा शिक्षकों को कार्यमुक्त कर दिया है। जिससे अस्टिेंट प्रोफेसर बेरोजगार हो गए वहीं, महाविद्यालयों में शिक्षण व्यवस्था गड़बड़ा गई।  हालात यह हैं, कॉलेजों में 30 से 40 प्रतिशत सिलेबस अधूरा है। जबकि, सेमेस्टर परीक्षा सिर पर है। ऐसे में विद्यार्थियों के भविष्य पर संकट खड़ा हो गया है। दरअसल, संभाग में 12 से ज्यादा नए राजकीय महाविद्यालय, राजस्थान कॉलेज एजुकेशन सोसायटी (राजसेस) के अधीन संचालित हैं। जिनमें प्राचार्य के अलावा सभी सहायक आचार्यों की नियुक्ति विद्या संबल योजना  के तहत की गई है। जिनका वर्किंग-डे सरकार ने 28 फरवरी तक ही निर्धारित किया गया था। जिसके तहत इन्हें कार्यमुक्त कर दिया गया। 

40 प्रतिशत कोर्स अधूरे
हाड़ौती में राजसेस के अधीन संचालित सरकारी कॉलेजों में विद्या संबल शिक्षकों के कार्यमुक्त होने से शिक्षण व्यवस्था बेपटरी हो गई। अधिकतर कॉलेजों में 30 से 40 प्रतिशत सिलेबस अधूरा चल रहा है। जबकि, अगले माह में यूजी व पीजी की सेमेस्टर परीक्षाएं होना प्रस्तावित है। ऐसे में विद्यार्थियों  को परिणाम बिगड़ने का डर सता रहा है।  

यह हैं राजेसस कॉलेज 
कोटा जिले में राजकीय कला कन्या महाविद्यालय रामपुरा, बूंदी में तालेड़ा व हिंडौली, झालावाड़ में असनावर और बारां जिले में राजकीय गर्ल्स कॉलेज छबड़ा, नाहरगढ़, शाहबाद, गर्ल्स अटरू, गर्ल्स केलवाड़ा, कृषि महाविद्यालय बारां व शाहबाद सहित कई कॉलेज शामिल हैं। 

भविष्य से खिलवाड़
हाड़ौती के चारों जिलों में गत दो वर्षों में 12 से ज्यादा नए कॉलेज खुले हैं। जिनमें वर्तमान में प्रथम व द्वितीय वर्ष की कक्षाएं ही संचालित हो रही हैं। दोनों वर्षों को मिलाकर कुल 3 हजार से अधिक विद्यार्थियों का नामांकन है। इनमें से यूजी प्रथम वर्ष के पहले सेमेस्टर की परीक्षाएं अगले माह में होनी है। बिना शिक्षकों के विद्यार्थियों के भविष्य पर तलवार लटक गई है। 

Read More लोगों को डराने के लिए खरीदे हथियार, 2 बदमाश गिरफ्तार

क्या कहते हैं शिक्षक
विद्या संबल के तहत नियुक्ति के दौरान जो आॅडर मिले उसके तहत 24 हफ्ते या 28 फरवरी जो भी पहले हो, उस दिन शिक्षकों को प्राचार्य द्वारा कार्यमुक्त कर दिया जाएगा। शिक्षक बेरोजगार हो गए वहीं, स्टूडेंट्स की पढ़ाई प्रभावित हो गई। सरकार को शिक्षण व्यवस्था सुचारू रखने के लिए सैकंड सेमेस्टर तक शिक्षकों की नियुक्ति बरकरार रखनी चाहिए।
- प्रो. शर्मिला, सहायक आचार्य, राज. कला कन्या महा.रामपुरा कोटा

Read More लाठी से पीट-पीटकर युवक की हत्या

हाड़ौती ही नहीं, पूरे प्रदेश में विद्या संबल शिक्षकों को कार्यमुक्त कर दिया गया है। आयुक्तालय ने नियुक्तियां देने में एकरूपता नहीं रखी, जबकि  हटाने के लिए 28 फरवरी निर्धारित कर दी। छात्रहित को देखते हुए सरकार को यूजीसी के नियमों के तहत सेमेस्टर प्रणाली के आधार पर शिक्षकों की नियुक्तियां सैकंड सेमेस्टर तक आगे बढ़ानी चाहिए। 
- डॉ. हनीफ खान, राजकीय कन्या महाविद्यालय केलवाड़ा

Read More लोकसभा चुनाव के पहले फेज में वोटिंग करने में शहरों के मतदाता रहे आगे

एक तरफ तो सरकार 100 दिन की कार्ययोजना की बात करती है और दूसरी तरफ शिक्षण व्यवस्था ठप कर देती है। शिक्षकों की नियुक्ति कहीं अक्टूबर तो कहीं नवम्बर में की गई। ऐसे में उन्हें पढ़ाने के लिए 4 माह ही मिले। जिसमें भी दिवाली, शीतकालीन अवकाश आ गए। ऐसे में तीन माह ही पढ़ाने को मिले। ऐसे में 180 में से 120 ही क्लांश हो सके। जबकि, 30 क्लांश अधूरे हैं। जिससे छात्रों का सिलेबस अर्पूण रह गया। 
- डॉ. रवि कुमार  नागर, सहायक आचार्य, राज.कला महाविद्यालय सीसवाली

क्या कहते हैं प्राचार्य 
शिक्षकों ने फर्स्ट सेमेस्टर तक की पढ़ाई तो करवा दी है। लेकिन, सैकंड सेमेस्टर तक शिक्षक नहीं लगाए तो शिक्षण व्यवस्था बिगड़ जाएगी। हालांकि, सरकार की 100 दिवसीय कार्य योजना के तहत 3 हजार पदों पर भर्ती की जाएगी। जिससे व्यवस्थाएं सुचारू होने की उम्मीद है।
- ब्रिज किशोर शर्मा, प्राचार्य, राजकीय कला महाविद्यालय तालेड़ा

विद्या संबल के शिक्षक कार्यमुक्त हो चुके हैं। बच्चों के कोर्स व प्रेक्टिकल अधूरे हैं। बच्चों का कोर्स पूरा करवाने के लिए रे-सेंटर को लिखकर शिक्षक मांगेंगे। फिलहाल, दोबारा शिक्षकों की नियुक्ति को लेकर आयुक्तालय से कोई दिशा-निर्देश नहीं है। 
- डॉ. राजेंद्र चौहान, प्राचार्य, राजकीय कला कन्या महाविद्यालय रामपुरा

क्या कहते हैं विद्यार्थी 
परिणाम बिगड़ने का डर
यूजी प्रथम व द्वितीय वर्ष का करीब 25 से 30 प्रतिशत कोर्स अधूरा चल रहा है। छात्रों के सामने असमंजस की स्थिति बनी हुई कि उन्हें बिना तैयारी के परीक्षा देनी पड़ेगी। ऐसे में रिजल्ट बिगड़ने का डर सता रहा है। सरकार  विद्यार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। 
- उपेंद्र सिंह, प्रथम वर्ष, राजकीय महाविद्यालय तालेड़ा 

न कोर्स पूरा और न ही प्रेक्टिकल
विद्या संबल के सभी शिक्षकों को कार्यमुक्त कर दिया गया है। जबकि, बीए फर्स्ट सेमेस्टर का 40 प्रतिशत कोर्स अधूरा है। प्रेक्टिकल की फाइलें तक चेक नहीं हुई हैं। बिना शिक्षक के साइन के हमें प्रेक्टिकल के नम्बर भी नहीं मिल पाएंगे। सरकार फीस तो पूरी वसूल रही लेकिन पढ़ाने के लिए   नियमित शिक्षक नहीं लगा रही। छात्राएं परीक्षा को लेकर तनाव में है।
- खुशबू मेहता, बीए प्रथम वर्ष, राजकीय कला कन्या महाविद्यालय केलवाड़ा 

पैसा देकर भी पढ़ने को तरसे
सरकार की लापरवाही से 300 छात्राओं का भविष्य दांव पर लग गया है। पढ़ाने वाले नहीं है, प्रेक्टिकल की फाइलें जांचने वाले नहीं है। पैसा देकर भी पढ़ने के लिए तरसना पड़े, ऐसे कॉलेज में एडमिशन लेने का क्या फायदा। प्राचार्य भी जवाब नहीं दे पा रहे।  10 प्रतिशत भी प्रेक्टिल फाइलें जमा नहीं हुई। शिक्षक नहीं लगे तो धरना-प्रदर्शन करेंगे।
- दिव्यांशी मुरारिया, बीए प्रथम वर्ष, राजकीय कला कन्या महाविद्यालय रामपुरा

6 माह में सिर्फ दो बार लगी अंग्रेजी-हिन्दी की क्लासें
सरकार ने इस साल दो सेमेस्टर तो कर दिए लेकिन एक सेमेस्टर का कोर्स भी पूरा नहीं हुआ। ज्योग्राफी व होमसाइंस के प्रेक्टिकल अब तक पूरे नहीं हुए। इनके नम्बर के बिना पास होना मुश्किल हो जाएगा। यहां 6 माह में सिर्फ दो बार ही अंग्रेजी-हिन्दी विषय की कक्षाएं लगी है। ऐसे में पास होने के भी लाले पड़ गए हैं। 
- अंजलि मेहता, बीए प्रथम वर्ष, राजकीय कला कन्या महाविद्यालय केलवाड़ा

इनका कहना है
28 फरवरी तक विद्या संबल शिक्षकों की कार्यमुक्ति का आदेश पिछली सरकार का था। यह मामला आयुक्तालय के ध्यान में है। विद्यार्थियों का नुकसान नहीं होने दिया जाएगा। इसके लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी। 
- प्रो. गीताराम शर्मा, क्षेत्रिय सहायक निदेशक, कॉलेज आयुक्तालय कोटा

Post Comment

Comment List

Latest News

आरक्षण चोरी का खेल बंद करने के लिए 400 पार की है आवश्यकता : मोदी आरक्षण चोरी का खेल बंद करने के लिए 400 पार की है आवश्यकता : मोदी
कांग्रेस ने वर्षों पहले ही धर्म के आधार पर आरक्षण का खतरनाक संकल्प लिया था। वो साल दर साल अपने...
लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था, पुलिस के 85 हजार अधिकारी-जवान सम्भालेंगे जिम्मा : साहू 
इंडिया समूह का घोषणा पत्र देखकर हताश हो रही है भाजपा : महबूबा
लोगों को डराने के लिए खरीदे हथियार, 2 बदमाश गिरफ्तार
चांदी 1100 रुपए और शुद्ध सोना 800 रुपए महंगा
बेहतर कल के लिए सुदृढ ढांचे में निवेश की है जरुरत : मोदी
फोन टेपिंग विवाद में लोकेश शर्मा ने किया खुलासा, मुझे अशोक गहलोत ने उपलब्ध कराई थी रिकॉर्डिंग