प्रदेश के हजारों शिक्षकों को नहीं मिला 2 माह से वेतन

विभाग की ओर से बजट जारी किया जाता है

प्रदेश के हजारों शिक्षकों को नहीं मिला 2 माह से वेतन

शिक्षकों को लंबे समय से समय पर वेतन नहीं मिलता है। इस कारण मकान-वाहन आदि के ऋणों पर अतिरिक्त ब्याज देने का नुकसान उठाना पड़ता है।

जयपुर। प्रदेश के अधिकतर जिलों के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत हजारों शिक्षकों को राज्य सरकार की ओर से समय पर बजट जारी नहीं करने से पिछले दो महीने से वेतन नहीं मिला है। इसके चलते शिक्षकों को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा है। यह समस्या वित्त विभाग की ओर से समय पर बजट जारी नहीं करने के चलते किसी जिले के शिक्षकों को मार्च, किसी जिले में अप्रैल का वेतन अब तक नहीं मिला है। इसके कारण प्रदेश के हजारों शिक्षक परिवारों को आर्थिक मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। एक मुश्त बजट जारी नहीं होने से पीडी मद के शिक्षकों के तिमाही आधार पर विभाग की ओर से बजट जारी किया जाता है। इससे इन शिक्षकों को लंबे समय से समय पर वेतन नहीं मिलता है। इस कारण मकान-वाहन आदि के ऋणों पर अतिरिक्त ब्याज देने का नुकसान उठाना पड़ता है। 

आईएफएमएस 3.0 के माध्यम से किया जाना चाहिए भुगतान
राजस्थान पंचायती राज एवं माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री राजेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश के हजारों शिक्षकों की पीड़ा को दूर करते हुए पीडी मद के शिक्षकों की प्रचलित वेतन बजट आवंटन की प्रक्रिया को सही कराते हुए वेतन के लिए पूरे वित्तीय वर्ष का एक साथ बजट जारी कराने तथा पीड़ी मद के शिक्षकों का वेतन भुगतान भी अन्य शिक्षक कर्मचारियों के समान ही आईएफएमएस 3.0 के माध्यम से किया जाना चाहिए। 

Tags: teachers

Post Comment

Comment List

Latest News

गर्मियों में प्रभारी करेंगे स्कूलों का दौरा, रिपोर्ट आधार पर शैक्षणिक गुणवत्ता पर होंगे फैसले गर्मियों में प्रभारी करेंगे स्कूलों का दौरा, रिपोर्ट आधार पर शैक्षणिक गुणवत्ता पर होंगे फैसले
प्रभारियों की रिपोर्ट पर अध्ययन करने के बाद जुलाई से शुरू होने वाले सत्र में कई महत्वपूर्ण सुझाव लागू किए...
Jaipur Gold & Silver Price : चांदी 93 हजार पार, शुद्ध सोना 77,000 के निकट
दिल्ली-मुंबई ​​​​​​​एक्सप्रेस वे तीन पर ट्रकों में भिड़ंत, कबाड़ हुए केबिन में फंसे दो लोगों की मौत, दो जने गंभीर घायल
19 हजार किलो से अधिक मिलावटी मसाले सीज
नमूने घटिया मिलने पर 10 दवाओं की आपूर्ति पर प्रतिबंध
कोटडी घटना के दोषियों को मृत्युदण्ड का फैसला स्वागत योग्य : गहलोत
ईरान ने पांच दिनों के शोक की घोषणा की