समस्या: बिजली और पानी की मूलभूत सुविधाओं को तरस रही जनता

गर्मी में पेयजल और लाइट की डिमांड अधिक लेकिन आपूर्ति नहीं हो रही जिम्मेदार अधिकारी समस्याओं पर नहीं दे रहे ध्यान, खामियाजा भुगत रही जनता

समस्या: बिजली और पानी की मूलभूत सुविधाओं को तरस रही जनता

गर्मी में बिजली और पानी की मांग अधिक रहती है। लेकिन मांग के अनुरूप आपूर्ति पूरी नहीं होने से समस्या आ रही है।

अरनेठा। कस्बे सहित क्षेत्र में भीषण गर्मी के मौसम में ही जनता बिजली और पेयजल के लिए तरस रही है। जिम्मेदार अधिकारी गर्मी का मौसम आते ही बिजली और पानी की मांग की पूर्ति में संतुलन नहीं बना पा रहे है। ग्रामीणों ने  जनप्रतिनिधियों और उच्च अधिकारियों से बिजली और पेयजल की मूलभूत आवश्यकता पर विशेष प्रयास कर स्थाई निस्तारण की मांग की हैं। इधर, जिम्मेदार अधिकारियों का कहना है गर्मी में बिजली और पानी की मांग अधिक रहती है। लेकिन मांग के अनुरूप आपूर्ति पूरी नहीं होने से समस्या आ रही है। 

जलोदा निवासी नरेंद्र सिंह हाड़ा ने बताया गर्मी का मौसम जैसे ही प्रारंभ होता है। बिजली और पानी की समस्या खड़ी हो जाती है। लाइट आने और जाने की कोई सीमा ही नहीं होती है। दोनों का आमजन के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। एक भी व्यवस्था डिस्टर्ब होती है तो पूरा गांव का सिस्टम खराब हो जाता है ।

अणदपूरा निवासी बनवारी सुमन ने बताया पिछले 15 दिन से गांव में लाइट की समस्या बनी हुई है दिन में तो कुछ आ जाती है लेकिन रात्रि में 10 बजे के बाद लाइट जाती तो रात को 12:00 बजे और कभी 2:00 बजे कभी-कभी तो पूरी रात ही गायब रहती है । यह समस्या  गर्मी में ही उत्पन्न होती हैं । गांव में पानी आपूर्ति हैंडपंप, नल, मोटरो ंसे होती हैं। गणेश जी मंदिर के  पास स्थित मोहल्ले वाशियो को पेयजल की ज्यादा समस्या समस्या रहती हैं  यदि इसमें भी मोटर डल जाए तो  पेयजल समस्या समाप्त हो जाए । 

अरनेठा निवासी हरिओम शर्मा ने बताया  बिजली और पानी दोनों आमजन की मूलभूत आवश्यकता है। पेयजल के लिए घर में हैंड पंप एवं नल लगा रखा है बिजली के लिए इनवर्टर लगवा लिया है। दोनों व्यवस्थाओं से बुरी तरह परेशान थे । पानी का तो फिर भी इधर-उधर से वाहनों से पानी लाकर जुगाड़ कर लेते हैं लेकिन लाइट पूरी गर्मी के मौसम में परेशान करती है। सरकारों को आमजन की इन आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए मजबूत और ठोस कदम उठाना चाहिए। दोनों व्यवस्था एक दूसरे से जुड़ी है। इनके अभाव में पूरे गांव में व्यवस्था ही बिगड़ जाती है। बड़े जनप्रतिनिधि और बड़े उच्च अधिकारियों को विशेष कर आमजन को इन समस्याओं से राहत प्रदान करनी चाहिए।

Read More चुनाव के समय छुट्टी पर गए अधिकारी, सरकार करे कार्रवाई : टीकाराम 

सारसला निवासी चंद्र प्रकाश गुर्जर ने बताया 12 महीना में से मात्र 4 महीने ही सर्दी वाले मौसम में पानी और बिजली का ठीक प्रकार से आराम मिल पाता है। बाकी 8 महीने समस्या चलती रहती हैं । गांव की बिजली को लोड सेटिंग के नाम से ऐसा काटते हैं कि ऊपर तक हमारी सुनवाई करने वाला कोई नहीं होता है। बिजली और पानी में अभी तक सरकार विफल साबित हो रही है। पेयजल के लिए गांव में चार नल और टंकी है लेकिन फिर भी गांव समस्या से जूझता रहता है ।

Read More महिलाओं के लिए सिंगल विंडो एवं पीएम यूनिटी मॉल, राजस्थान मंडपम बजट की सौगात - ललिता कुच्छल

बलकासा पूर्व सरपंच नंदकिशोर मीणा ने बताया लाइट और पानी की समस्या को लेकर 15 दिन पहले मुख्यमंत्री से मिल चुके हैं। गांव में बिजली की भारी समस्या है। पूरा गांव परेशान है। थ्री फेस आने पर पानी की तो व्यवस्था फिर भी हो जाती है लेकिन लाइट की समस्याओं ज्यों  की त्यों बनी हुई हैं । जल्द इन समस्याओं को लेकर जिला कलक्टर से मिलने जा रहे हैं।  

Read More कबाड़ बन रहा है एशिया का सबसे बड़ा तीरंदाजी एरिना, कई साल से नहीं है स्थाई कोच, धूल चाट रही हैं करोड़ों रुपए की लागत से जुटाई खेल सुविधाएं 

भाजपा सरकार ठीक प्रकार से काम नहीं कर पा रही है। इनके पास बिजली है ही नही । बिजली और पानी का संकट चल रहा है । व्यवस्थाएं ठीक करने को लेकर मंत्री से बात की हैं। उनका आश्वासन भी मिला हैं।
 -सीएल प्रेमी, विधायकविधानसभा केशव राय पाटन 

नोनेरा बांध प्रोजेक्ट का टेंडर लगा दिया था किसी ने भाग नही लिया। टेंडर दुबारा लगाएंगे । टेंडर और वर्क आॅर्डर के बाद कार्य प्रारंभ का निर्णय हो पाएगा। नोनरा प्रोजेक्ट 20 महीने में पूरा हो जाएगा ।
-  पार्थ सक्सेना, एईएन नोनेरा बांध प्रोजेक्ट 

वर्तमान में बिजली सप्लाई कटौती की स्थिति है। यह  उत्पादन में कमी के कारण है । गर्मी के मौसम में अनुमानित से ज्यादा एकाएक लोड बढ़ जाता है। इसका एक कारण और भी हैं । अपने सवाई माधोपुर 220 पर ओवरलोड चल रहा है। वहां लोड बढ़ते ही के पाटन लोड कम के निर्देश प्राप्त होते हैं। सुबह के समय लाइट कटौती का मुख्य कारण यह  है । वर्तमान में जो मुख्य समस्या आ रही है उत्पादन एवं प्रसारण के कारण हैं । जितनी मांग हैं उतनी आपूर्ति नही  हो रही हैं । इस कमी को दूर करने के लिए वर्तमान में सरकारों ने क्या कदम उठाए हैं यह हाई लेवल का मामला है। मुझे इसकी ज्यादा जानकारी नहीं है।
  - मनीष सुमन, कनिष्ठ अभियंता जेवीवीएनएल केशवराय पाटन

गर्मी का मौसम आते ही आमजन में पानी की तत्काल मांग बढ़ जाती है। पानी उत्पादन के लिए बिजली भी कटौती के कारण कम प्राप्त होती है । स्थाई निस्तारण के लिए नोनेरा प्रोजेक्ट आ गया है। वहां 24 घंटे बिजली उपलब्ध रहेगी।  केशव राय पाटन के नोनेरा प्रोजेक्ट में पूरे गांव जुड़े हुए हैं । इसका बूंदी में परियोजना खंड अलग बना हुआ है। ज्यादा जानकारी आप उनसे प्राप्त कर सकते हैं।
  - सुरेंद्र सिंह बैरवा, एईएन केशवराय पाटन

Post Comment

Comment List

Latest News

सतर्कता से आम नागरिक बन सकता है देश का प्रथम सिपाही : दवे सतर्कता से आम नागरिक बन सकता है देश का प्रथम सिपाही : दवे
यह यात्रा जयपुर से होकर यह श्रीगंगानगर, अमृतसर, जम्मू और कश्मीर होते हुए द्रास कारगिल पहुंचकर सम्पन्न होगी। 
शातिर ई-रिक्शा चोर गिरफ्तार
BJP विधायक का सरकार के खिलाफ संदेश, यूपी में हलचल
जमीनी विवाद में रिश्तेदार की हत्या करने वाले बुजुर्ग को आजीवन कारावास
चुनावी रैली के दौरान फायरिंग में डोनाल्ड ट्रंप घायल, शूटर सहित एक दर्शक की मौत 
विकास में नहीं छोड़ेंगे कोई कसर, प्राथमिकता से कराएं जाएंगे कार्य- रामबिलास मीना
शिक्षा में नवाचार : यूजी की पढ़ाई के साथ मिलेगी स्किल शिक्षा की ट्रेनिंग