मेसी का मैजिक: वर्ल्ड कप से पहले अर्जेन्टीना की इटली पर बड़ी जीत, 29 साल बाद जीती ला फिनालिसिमा ट्रॉफी

सात बार के बैलन डी ओर विजेता मेसी ने अर्जेंटीना के साथ 11 महीनों में अपनी दूसरी अंतरराष्ट्रीय ट्रॉफी जीती।

मेसी का मैजिक: वर्ल्ड कप से पहले अर्जेन्टीना की इटली पर बड़ी जीत, 29 साल बाद जीती ला फिनालिसिमा ट्रॉफी

लंदन। लंदन के वेम्बली स्टेडियम में खचाखच भरी भीड़ के सामने लियोनेल मेसी की अर्जेंटीना फुटबॉल टीम ने ला फिनालिसिमा मुकाबले में इटली को 3-0 से मात दी। सात बार के बैलन डी ओर विजेता मेसी ने अर्जेंटीना के साथ 11 महीनों में अपनी दूसरी अंतरराष्ट्रीय ट्रॉफी जीती।

लंदन। लंदन के वेम्बली स्टेडियम में खचाखच भरी भीड़ के सामने लियोनेल मेसी की अर्जेंटीना फुटबॉल टीम ने ला फिनालिसिमा मुकाबले में इटली को 3-0 से मात दी। सात बार के बैलन डी ओर विजेता मेसी ने अर्जेंटीना के साथ 11 महीनों में अपनी दूसरी अंतरराष्ट्रीय ट्रॉफी जीती। अर्जेंटीना के नंबर-10 के लिए यह जीत और भी खास इसलिए है क्योंकि अर्जेंटीना के लिए इससे पहले 1993 में अंतिम ला फिनालिसिमा मैच डिएगो माराडोना ने जीता था, जो स्वयं भी नंबर-10 थे। लुटारो मार्टिनेज और एंजेल डि मारिया के पहले हाफ के गोल ने अर्जेंटीना को इटली के खिलाफ पूर्ण नियंत्रण की स्थिति में डाल दिया। स्टेडियम में 87,000 लोगों की भीड़ में अर्जेंटीना के हजारों समर्थकों के बीच कप्तान मेसी ने दो गोल असिस्ट किए। मार्टिनेज ने मेसी के लो क्रॉस पास की मदद से मैच के 28वें मिनट में अपनी टीम को 1-0 की बढ़त दिलाई। इसके बाद हाफ टाइम से ठीक पहले मार्टिनेज ने डि मारिया को एक पास दिया जिसे उन्होंने इटली के गोलकीपर के सर के ऊपर से नेट में पहुंचाकर टीम की बढ़त को 2-0 कर दिया। इसके अलावा पॉलो डायबाला (90+4 मिनट) ने भी अर्जेंटीना के लिए एक गोल किया।

क्या है फाइनलिज्म मुकाबला
इटली ने पिछले साल यूरो कप और अर्जेंटीना ने कोपा अमेरिका जीता था। उसके बाद यह घोषणा की गई थी कि दोनों टीमों के बीच एक मुकाबला खेला जाएगा, जिसे ला फाइनलिज्म कहा गया। फुटबॉल इतिहास में महज तीसरी बार फाइनलिज्म मुकाबला हुआ है। इससे पहले 1993 में खेले गए इस मुकाबले को अर्जेंटीना ने पेनल्टी शूटआउट में जीता था।

मेसी के करियर का दूसरा खिताब
अर्जेंटीना के कप्तान लियोनल मेसी ने अपने करियर का दूसरा अंतरराष्टÑीय खिताब जीता। उनका पहला खिताब कोपा अमेरिका था। इस मामले में मेसी ने पुर्तगाल के कप्तान क्रिस्टियानो रोनाल्डो की बराबरी कर ली। रोनाल्डो अपने देश के लिए यूरो कप और नेशंस लीग जीत चुके हैं। मेसी ने अपने करियर का यह 40वां खिताब जीता है। सबसे ज्यादा खिताब जीतने के मामले में वो दूसरे स्थान पर हैं। उनसे आगे ब्राजील के डिफेंडर दानी एल्वेस (43) हैं।


मैन ऑफ  द मैच बने मेसी
वेम्बली स्टेडियम में मेसी अपने पुराने रंग में दिखे। उन्होंने गोल नहीं किया लेकिन पूरे मैच को कंट्रोल जरूर किया। मेसी ने अटैक से लेकर मिडफील्ड और डिफेंस में भी अहम भूमिका निभाई। उन्होंने दो गोल असिस्ट किए। मेसी को मैन आॅफ द मैच अवॉर्ड दिया गया।

Post Comment

Comment List

Latest News