किसान आंदोलन लम्बा चला तो पद से इस्तीफा दे दूंगा : मलिक

किसान आंदोलन लम्बा चला तो पद से इस्तीफा दे दूंगा : मलिक

यदि वे ईमानदार नहीं होते तो अब तक ईडी का छापा पड़ गया होता : मलिक

झुंझुनूं। मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने केन्द्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि यदि किसानों का आंदोलन लम्बा चला तो वे अपने पद से इस्तीफा दे देंगे व किसानों के साथ हो जाएंगे। मलिक के पैरों में अत्यधिक दर्द होने के कारण चलने में परेशानी होने के बावजूद वे झुंझुनूं में आयोजित जाट गौरव सम्मान समारोह को बैठे-बैठे ही सम्बोधित कर रहे थे। राज्यपाल ने कहा कि जब वे सभा स्थल पर आए तो उनका स्वागत 15-20 ग्रामीण महिलाओं ने किया, किन्तु उनके सिर पर यानि माथे पर लगाने वाला बोरला नहीं था। इस पर राज्यपाल ने कहा कि बोरला राजस्थान की महिलाओं की सांस्कृतिक पहचान है। उन्होंने आमजन का आह्वान किया कि संस्कृति ही हमारी पहचान है। उन्होंने अमेरीका की विदेश मंत्री कोनोलिण्डा राईस की तारीफ करते हुए माता-पिताओं को ज्यादा से ज्यादा बच्चों को शिक्षा देने की वकालत की। उन्होंने कहा कि ईमानदारी बहुत बड़ा गहना है। यदि वे ईमानदार नहीं होते उन पर अब तक ईडी का छापा पड़ गया होता तथा ईमानदारी के कारण ही वे सीना ठोककर बेधड़क रहते हैं।


एमएसपी गारंटी कानून बनाए
मलिक ने कहा कि केन्द्र को एमएसपी की गारंटी का कानून बनाना चाहिए। उसके बाद ही निश्चित ही किसानों का मुद्दा हल हो सकेगा। देश के किसानों की हालत बेहद खराब है। केन्द्र इस मामले में गलत रास्ते पर है।

Post Comment

Comment List

Latest News

यमुना की सफाई के लिए गंभीरता से काम कर रही है सरकार : सिसोदिया  यमुना की सफाई के लिए गंभीरता से काम कर रही है सरकार : सिसोदिया 
सरकार ने दिल्ली जलबोर्ड को विभिन्न इलाकों में लोगों के घरों में मुफ्त सीवर कनेक्शन मुहैया कराने, पुराने पाइपलाइन को...
शिक्षक संघ ने की प्रदर्शन करने की घोषणा 
कोरोना पीड़ित परिवारों के सदस्यों से मिले राहुल गांधी, पीएम मोदी से किया ये आग्रह
लॉ यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट पदों के चयन के लिए मेरिट लिस्ट जारी 
छात्र-छात्राओं ने शिक्षक की मांग को लेकर स्कूल गेट पर जड़ा ताला
अब एक्टिंग करते नजर आएंगे गुरू रंधावा
मेला शुरु होने के 5वें दिन खुले दशहरा मैदान के शौचालय