क्लार्क्स आमेर होटल की चोरी का खुलासा, हाईप्रोफाइल चोर सलाखों के पीछे

क्लार्क्स आमेर होटल की चोरी का खुलासा, हाईप्रोफाइल चोर सलाखों के पीछे

आरोपी हर बार वारदात करने के बाद सिम नम्बर बदलने का है आदि।

जयपुर। जवाहर सर्किल थाना इलाके स्थित होटल क्लार्क्स आमेर में 2 करोड रुपए कीमत के ज्वेलरी चोरी करने के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी से चोरी किए गए करोड़ों के डायमंड के सेट भी बरामद किए गए है। जवाहर सर्किल थाना पुलिस ने इस पूरे ऑपरेशन को अंजाम दिया है। अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर अजय पाल लांबा ने कार्रवाई की जानकारी देते हुए कहा कि गिरफ्तार आरोपी जयेश रावजी सेजपाल जामनगर गुजरात का रहने वाला है। आरोपी 10वीं तक पढ़ा है। यह अब तक 20 साल में 1 दर्जन से अधिक होटलों में चोरी की वारदात कर चुका है।  आरोपी द्वारा शुरूआत में 20 वर्ष पूर्व शादी समारोह में कैटरिंग का काम करने के दौरान अपने साथी रमेश भानजी निवासी ठाणे मुम्बई के साथ इस तरह की वारदाते करना शुरू किया था। आरोपी शहरों में स्थित गेस्ट हाउस, हॉस्टलों में रुक कर टारगेट सेट करता है और वही से चोरी करने की शुरुआत कर देता है।  वारदात करने से पहले खुद का चालू मोबाइल ठहरने वाली जगह पर छोड़ देता है और हाथ में डमी मोबाइल लेकर होटल में घुस जाता है।  इस दौरान वह शादी में आए लोगों को चिन्हित करता है और उनके साथ मिलकर पूरी जानकारी जुटाकर वारदात करना शुरू कर देता है।  आरोपी ने  अब तक की वारदात के अलावा मुंबई, आगरा, लखनऊ, विशाखापट्टनम, चेन्नई, जोधपुर, उदयपुर, जयपुर, चंडीगढ़, जालंधर, कोलकाता, हैदराबाद, कोयंबटूर और कोच्चि में चोरी कर चुका है। इसमें अब तक होटल ताज, होटल हयात, होटल रमाडा, होटल टाउन प्लाजा, होटल नोवोटल, होटल मर्करी, होटल रेडिसन, ब्लू होटल टाइटन, होटल क्लार्क्स आमेर और होटल चंद्र इन में चोरी की है।  इसने यह चोरियां अपने साथी रमेश भांजी छग निवासी सोपारा पालंगधर ठाणे मुंबई के साथ मिलकर की हैं।

 

तरीका वारदात
आरोपी जयेश रावजी सेजपाल देश के विभिन्न शहरों में बस / ट्रेन से जनरल डिब्बों में सफर करके शहर विशेष में पहुंचकर रेल्वे स्टेशन / बस स्टेण्ड के आस-पास हॉटल / गेस्टहाउस में एक-दो दिन रूककर गुगल / जस्टडॉयल / गोईबीबो / मेक माई ट्रिप आदि एप के मार्फत स्टॉर हॉटलस् की तलाश करके ऑटो से संबंधित स्टार हॉटल में प्रवेश करता तथा वहां समय बिताता तथा हॉटल में चैक-इन करने वाले अतिथियों पर नजर रखता है जैसे ही कोई न्यू फैमली हॉटल में चैक-इन करने हेतू रिसेप्शन पर पहुचती तो आरोपी रिसेप्शन पर पहुंचकर पास में खड़ा होकर उनके नाम, रूम नम्बर आदि की जानकारी करता था उसके बाद हॉटल की लॉबी में रूककर गेस्ट के बाहर जाने इंतजार करता एवं गेस्ट के बाहर घुमने / प्रोग्राम के लिये जाते ही रूम के बाहर पहुंचकर इन्टरकॉम से रिसेप्शन से गेस्ट के नाम से फोन करके रूम की चाबी गुम होने अथवा परिवार के अन्य सदस्यों द्वारा साथ ले जाने का बहाना कर मास्टर की मंगवाता तथा उसके बाद रूम खुलवाकर रूम में प्रवेश कर अतिथियों के सामान की तलाशी लेता और बहुमुल्य आभुषण चोरी करके पैदल-पैदल हॉटल के बाहर निकल लेता है। इसके अतिरिक्त यदि किसी हॉटल के रूम में सैफ (लॉकर) रखा हो तो उसका नम्बरिंग लॉक भुलने के बहाने रिसेप्शन पर कॉल करके टैक्नीकल व्यक्ति को बुलाकर सेफ का नम्बरिंग लॉक खुलवाता है।

Read More भाजपा ने आक्रोश रथों को विधानसभाओं में किया रवाना 

Post Comment

Comment List

Latest News