संजीवनी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी के प्रकरण में 2 गिरफ्तार

एटीएस एवं एसओजी की कार्रवाई

संजीवनी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी के प्रकरण में 2 गिरफ्तार

संजीवनी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी द्वारा राजस्थान एवं गुजरात में 237 शाखाएँ खोलकर करीब 2 लाख निवेशकों द्वारा निवेशित हजारों करोड़ रुपये की जमा राशि का गबन किया गया।

जयपुर। अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस, एटीएस एवं एसओजी ने बताया कि संजीवनी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी द्वारा निवेशकों की जमा राशि के गबन के प्रकरण में 2 अभियुक्त गिरफ्तार किए गए हैं। संजीवनी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी द्वारा राजस्थान एवं गुजरात में 237 शाखाएँ खोलकर करीब 2 लाख निवेशकों द्वारा निवेशित हजारों करोड़ रुपये की जमा राशि का गबन किया गया। इस सम्बन्ध में स्पेशल आपरेशन ग्रुप ने प्रकरण संख्या 32 / 2019 थाना एसओजी पर दर्ज कर सोसायटी के संचालक विक्रम सिंह सहित 11 अभियुक्त को पूर्व में गिरफ्तार किया गया था।

जांच में पाया गया कि संजीवनी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी के संचालकों द्वारा आपराधिक षड्यंत्र रचकर दस्तावेजों की छेड़छाड़ कर वर्चुअल शाखाएं खोली गई, तथा संचालक के परिजनों, मित्रों व कर्मचारियों के नाम फर्जी लोन दिखा कर निवेशकों के साथ धोखाधड़ी की। कुल 33 वर्चुअल शाखाओं के जरिए करीब 80,000 फर्जी लोन आवेदन पत्र एवं 30 लाख फर्जी दस्तावेज तैयार कर हजारों करोड़ रुपये के लोन को लेख पुस्तकों में दिखाया।

प्रकरण में करवाई गई फोरेंसिक ऑडिट एवं अनुसंधान से पाया गया कि सोसायटी के संचालकों द्वारा आपराधिक सांठ-गांठ करते हुए फर्जी लोन दिखा कर निवेशकों की जमा राशि में से गिरधर सिंह एवं जसवन्त सिंह के खातों में करोड़ों रूपये नकद जमा किए गए। उपरोक्त 2 अभियुक्त द्वारा निवेशकों की राशि से शैल कम्पनियो में दिखाया। दबिश देकर जसवन्त सिंह को ग्राम इन्दोई जिला बाडमेर तथा गिरधर सिंह को सालावास, जोधपुर, से गिरफ्तार किया है ।

Post Comment

Comment List

Latest News