तेरह वर्षीय बालिका से दुष्कर्म

आरोपी बहला-फुसलाकर खेत में ले गया था

तेरह वर्षीय बालिका से दुष्कर्म

बालिका के परिजनों ने बालिका के नहीं मिलने पर गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बालिका ने परिजनों से मिलने के बाद पूरा घटनाक्रम बताया। तब परिजनों ने दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया।

कोटा । कोटा ग्रामीण के  कैथून पुलिस थाना क्षेत्र में  शनिवार को एक 13 वर्षीय बालिका से दुष्कर्म  का मामला सामने आया है।   इस मामले में  पुलिस ने  पीड़िता की रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ  पोक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज कर  अनुसंधान शुरू कर दिया है । पुलिस ने  बालिका को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया  जहां से उसे बालिका गृह भेज दिया गया है।  बाल कल्याण समिति  सदस्य मधुबाला शर्मा ने बताया कि बालिका ने काउंसलिंग के दौरान बताया कि उसकी तीन बहने हैं । बालिका दूसरे नंबर की  है ।  26 जनवरी की रात 8:00 बजे बालिका हैंडपंप पर पानी भरने गई थी । उस समय एक युवक जिसे उसने एक दो बार पहले भी देखा था और वह  युवक उसके पिता की दुकान पर एक दो बार आया था।   वह  उसे वहां मिला  और बहला-फुसलाकर अपने साथ  मोटर साइकिल पर बैठा कर रात को खेत की तरफ ले गया।  सुनसान एरिया में ले जाकर युवक ने बालिका से दुष्कर्म किया। बाद में  रात्रि को बालिका को वही युवक उसे परिजनों के पास छोड़कर चला गया  उधर बालिका के परिजनों ने बालिका के नहीं मिलने पर गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बालिका ने परिजनों से मिलने के बाद पूरा घटनाक्रम बताया। तब  परिजनों ने दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया।  बालिका के 161 के बयान और मेडिकल हो चुका है।  बालिका के 164 के बयान बाकी है। बालिका को संरक्षण की आवश्यकता होने पर बाल कल्याण समिति ने  अस्थाई आश्रय दिया है।

Post Comment

Comment List

Latest News

प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस
प्रदेश भर के सभी चिकित्सा संस्थानों में 15 अप्रैल को लैब टेक्नीशियन दिवस बड़े जोश उल्लास के साथ मनाया गया।...
5.25 लाख की आबादी भुगत रही जेडीए की हठधर्मिता का खामियाजा
भाजपा के संकल्प पत्र पर गहलोत का निशाना- मंहगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर बात नहीं करती भाजपा
आरपीआई पार्टी के अध्यक्ष और केन्द्रीय मंत्री रामदास अठावले बोले- पार्टी भाजपा के साथ
निर्वाचन आयोग ने की रिकार्ड 4650 करोड़ की जब्ती, 75 साल के इतिहास की सबसे बड़ी जब्ती
ट्यूबवेल सात माह से खराब, पेयजल का संकट
टोल बचाने की जुगत: सुकेत में भारी वाहनों का दबाव बढ़ा