पायलट ने विधायक दल बैठक की मांग कर कुछ गलत नहीं किया: खाचरियावास

कांग्रेस में एक गुट के हावी होने को बताया गलत

पायलट ने विधायक दल बैठक की मांग कर कुछ गलत नहीं किया: खाचरियावास

प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि सचिन पायलट वरिष्ठ नेता है वह अगर विधायकों की आवाज उठा रहे हैं तो इसमें गलत क्या है। यह बहुत अच्छी बात है कि वो विधायकों की आवाज उठा रहे है।

जयपुर। पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के विधायक दल की बैठक को लेकर दिए बयान का खाद्य मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने भी समर्थन किया है। विधानसभा के बाहर मीडिया से बात करते हुए खाचरियावास ने कहा कि सचिन पायलट ने अगर विधायक दल की बैठक बुलाने की मांग की है तो कुछ गलत नहीं किया। राजस्थान की कांग्रेस में एक गुट हावी हो रहा है जो गलत है। सचिन पायलट गलत नहीं है वह वक्त अलग था जब उनके साथ कोई नहीं था। सचिन पायलट के खिलाफ ठेका लेने का काम हमारा नहीं है और किसी में दम है तो वो सचिन पायलट के खिलाफ बोल कर दिखाएं। सचिन पायलट लीडर है राहुल खुद उन्हें पार्टी के लिए एसेट बता चुके है। पायलट सही कह रहे हैं नीली छतरी वाला ही सब कुछ है जादू वादु वाकई में कुछ नहीं होता सबसे बड़ा जादूगर मेरे कृष्ण है।

प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि सचिन पायलट वरिष्ठ नेता है वह अगर विधायकों की आवाज उठा रहे हैं तो इसमें गलत क्या है। यह बहुत अच्छी बात है कि वो विधायकों की आवाज उठा रहे है। पायलट को कोसना ठीक नहीं है। आलाकमान भी सचिन पायलट की बात को मानता है। मुझे किसी राजस्थान के नेता ने कांग्रेस जॉइन नहीं करवाई। सोनिया गांधी ने कांग्रेस जॉइन करवाई थी। इसलिए मैं किसी नेता के नहीं बल्कि कांग्रेस के साथ हूं और पायलट कांग्रेस की आवाज उठा रहे हैं।

Post Comment

Comment List

Latest News

प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस प्रदेशभर में मनाया लैब टेक्नीशियन दिवस
प्रदेश भर के सभी चिकित्सा संस्थानों में 15 अप्रैल को लैब टेक्नीशियन दिवस बड़े जोश उल्लास के साथ मनाया गया।...
5.25 लाख की आबादी भुगत रही जेडीए की हठधर्मिता का खामियाजा
भाजपा के संकल्प पत्र पर गहलोत का निशाना- मंहगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर बात नहीं करती भाजपा
आरपीआई पार्टी के अध्यक्ष और केन्द्रीय मंत्री रामदास अठावले बोले- पार्टी भाजपा के साथ
निर्वाचन आयोग ने की रिकार्ड 4650 करोड़ की जब्ती, 75 साल के इतिहास की सबसे बड़ी जब्ती
ट्यूबवेल सात माह से खराब, पेयजल का संकट
टोल बचाने की जुगत: सुकेत में भारी वाहनों का दबाव बढ़ा