बैंको को झटका, खातों को धोखाधड़ी घोषित करने से पहले उधारकर्ताओं को देना होगा सुनवाई का अवसर

सुप्रीम कोर्ट ने तेलंगाना उच्च न्यायालय के आदेश को रखा बरकरार

बैंको को झटका, खातों को धोखाधड़ी घोषित करने से पहले उधारकर्ताओं को देना होगा सुनवाई का अवसर

सुप्रीम कोर्ट ने तेलंगाना उच्च न्यायालय द्वारा 2020 के एक आदेश को बरकरार रखते हुए कहा कि किसी खाते को धोखाधड़ी घोषित करने से गंभीर नागरिक परिणाम होते हैं। उच्च न्यायालय के इस आदेश को केंद्र ने चुनौती दी थी।

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बैंकों का खातों को धोखाधड़ी घोषित करने से पहले उधारकर्ताओं को सुना जाना चाहिए। यह उन बैंकों के लिए एक बड़ा झटका है जो धोखाधड़ी को वर्गीकृत करने के लिए केंद्रीय बैंक के सर्कुलर का पालन करते हैं। सुप्रीम कोर्ट ने तेलंगाना उच्च न्यायालय द्वारा 2020 के एक आदेश को बरकरार रखते हुए कहा कि किसी खाते को धोखाधड़ी घोषित करने से गंभीर नागरिक परिणाम होते हैं। उच्च न्यायालय के इस आदेश को केंद्र ने चुनौती दी थी।

भारत के मुख्य न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ के नेतृत्व वाली पीठ ने कहा कि इसलिए, बैंकों को भारतीय रिज़र्व बैंक के मास्टर सर्कुलर के तहत उधारकर्ताओं को सुनवाई का अवसर देना चाहिए। अदालत ने "ऑडी अल्टरम पार्टेम" सिद्धांत को पढ़ने पर जोर दिया, जिसका अर्थ है मास्टर सर्कुलर के साथ दूसरे पक्ष को सुनना। आरबीआई सर्कुलर को प्राकृतिक न्याय के सिद्धांत को छोड़कर नहीं माना जा सकता है। शीर्ष अदालत ने गुजरात उच्च न्यायालय के एक फैसले को भी रद्द कर दिया, जो तेलंगाना उच्च न्यायालय के फैसले के विपरीत था। धोखाधड़ी के रूप में खातों के वर्गीकरण के लिए आरबीआई परिपत्र भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) प्रावधानों का हवाला देता है, जिसमें धोखाधड़ी, धोखाधड़ी लेनदेन, धोखाधड़ी और जालसाजी शामिल है।

अनिल अंबानी की रिलायंस कम्युनिकेशंस के पूर्व निदेशकों और अन्य ने अपने खातों को धोखाधड़ी के रूप में लेबल किए जाने और जांच के लिए सीबीआई को भेजे जाने पर विभिन्न उच्च न्यायालयों का रुख किया था। हालांकि भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और अन्य बैंकों ने दो साल पहले रिलायंस कम्युनिकेशन के खिलाफ धोखाधड़ी की शिकायतें सीबीआई को भेज दी थीं, लेकिन एजेंसी मामला दर्ज नहीं कर सकी क्योंकि दिल्ली उच्च न्यायालय ने यथास्थिति का आदेश दिया था।

Post Comment

Comment List

Latest News

टीबी दवाओं की आपूर्ति स्थानीय स्तर पर खरीद कर उपलब्ध करवाई जा रही दवा, केंद्र से आपूर्ति बाधित टीबी दवाओं की आपूर्ति स्थानीय स्तर पर खरीद कर उपलब्ध करवाई जा रही दवा, केंद्र से आपूर्ति बाधित
विगत दिनों कुछ समय के लिए राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत क्षय औषधियों की केन्द्र से आपूर्ति बाधित हुई...
जहां पर समर्थन मूल्य पर सरसों चना की खरीद रहेगी शून्य, वे खरीद केंद्र अगले सीजन में होंगे बंद
फर्जी चेकिंग निरीक्षक बन कर रहा था बस चैक, पकड़ा
डंपर की टक्कर से बाइक सवार की मौत, एक घायल
लाखेरी का जिग जेग बांध प्रशासन की अनदेखी के चलते खाली हुआ
उत्पादकों और निर्यातकों के साथ संवाद कर समाधान का प्रयास करे सरकार - आरतिया
ओवेरियन मॉस का दूरबीन से सफल ऑपरेशन