यूक्रेन-रूस युद्ध तीसरा दिन: भारी बमबारी

हाथियार चाहिए गाड़ी नहीं, देश छोड़कर जाने वाले नहीं: जेलेंस्की

यूक्रेन-रूस युद्ध तीसरा दिन: भारी बमबारी

यूक्रेन/कीव। यूक्रेन-रूस के युद्ध का शनिवार को तीसरा दिन है। तीसरे दिन भी रूस की ओर से यूक्रेन में भारी बमबारी हो रही है।  कीव, मारियोपोल और कोनोटॉप और खरसान सहित यूक्रेन केई शहरों में बमबारी हो रही है।  युद्ध की स्थिति के चलते यूक्रेन के लोग पलायन कर रहे है। यूक्रेन के शहरों में भारी तबाही हुई है। जहां एक ओर कीब में एक बड़ा धमाका होने से इमारतों को नुकसान पहुंचा है। वहीं खरसान और मारियोपोल में रूक-रूक कर धमाके हो रहे है। कोनोटॉप शहर में भी दो धमाकों की खबर है।  रूसी सैना का दावा है कि उन्होंने यूक्रेन के 211 सैन्य अड्डे तबाह किए है। हालांकि इस बीच तीन अमेरिकी विमान भी यूक्रेन के करीब पहुंचे है। ऐसे में युद्ध की पूरी स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। अमेरिका ने यूक्रेन को 350 मिलियन डॉलर की मदद की।


जेलेंस्की ने कहा हथियार चाहिए, गाड़ी नहीं

रूसी सैनिक लगातार कीव की ओर बढ़ रहे हैं। इस बीच अमेरिकी अधिकारी वलोडिमिर जेलेंस्की को शहर छोडऩे में मदद करने के लिए तैयार हैं। अमेरिकी और यूक्रेनी अधिकारियों ने द वाशिंगटन पोस्ट को बताया कि संयुक्त राज्य अमेरिका जेलेंस्की को रूसी सेना द्वारा पकड़े जाने या मारे जाने से बचाने में मदद करना चाहता था। लेकिन यूक्रेन के राष्ट्रपति ने साफ कर दिया है कि वह अपना देश नहीं छोड़ेंगे उन्होंने अपने बयान में कहा कि हथियार चाहिए गाड़ी नहीं।

Read More इंडोनेशिया भूकंप: मरने वालों की संख्या 162 हुई

बातचीत होगी या नही बड़ा सवाल?

वहीं यूक्रेन के राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने कहा है कि यूक्रेन का नेतृत्व रूस के साथ बातचीत के लिए तैयार है और दोनों पक्ष (एजेंसी) के प्रारूप पर चर्चा कर रहे हैं।शुक्रवार को क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने कहा कि यूक्रेन ने वारसॉ में (एजेंसी) आयोजित करने की पेशकश की है, जबकि रूस ने मिन्स्क में (एजेंसी) करने की मंशा दिखाई थी। हालांकि थेकई इंडिपेंडेंट डॉट कॉम ने बताया कि  पेसकोव के अनुसार यूक्रेन ने इसके बाद बातचीत बंद कर दी, हालांकि यूक्रेन के राष्ट्रपति के प्रवक्ता सेरही न्याकिफोरोव ने इससे इनकार किया और कहा कि यूक्रेन बातचीत के लिए तैयार है, और बातचीत जारी रहेगी।

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को देश पर चौतरफा युद्ध शुरू करने के बाद यूक्रेन को बातचीत के लिए मिन्स्क में मिलने की पेशकश की। पुतिन चाहते हैं कि यूक्रेन एक निष्पक्ष स्थिति के लिए सहमत हो जाए, जो इसे नाटो में शामिल होने से रोकेगा। नाटो में शामिल होना लंबे समय से यूक्रेन की आकांक्षा रही है।
यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलादिमीर जेलेंस्की ने कहा कि सब कुछ यूक्रेन को मिलने वाली सुरक्षा गारंटी पर निर्भर करेगा।

निकोफोरव ने लिखा, हमने रूसी राष्ट्रपति के  (बातचीत करने के लिए) प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया। दोनों पक्ष बातचीत के स्थान और समय पर चर्चा कर रहे हैं। रूस ने  यूक्रेन पर हमला जारी रखा और कीव शहर पर एक तीव्र हवाई  हमला किया। रूसी आक्रमण में 24 फरवरी को 137 यूक्रेनी लोगों की मौत हो गई थी। वहीं, दूसरी ओर यूक्रेनी सरकार ने कहा कि पहले दिन 1,000 से अधिक रूसी सैनिक मारे गए।

यूक्रेन को सैन्य सहायता के लिए ब्लिंकन अधिकृत
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन ने यूक्रेन को तत्काल सैन्य सहायता प्रदान करने के लिए विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन को अधिकृत किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा,''राष्ट्रपति ने शुक्रवार को विदेश सहायता अधिनियम 1961 (एफएए) की धारा 614 (ए) (3) और धारा 652 की आवश्यकताओं को पूरा करने के तहत राज्य के अधिकारियों के सचिव को सौंपने वाले एक ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इसी आधार पर श्री ङ्क्षब्लकन को यूक्रेन को तत्काल सैन्य सहायता प्रदान करने के लिए अधिकृत किया गया है।''

Read More नेपाल में शांतिपूर्ण तरीके से करीब 61 फीसदी हुआ मतदान


यूरोपीय संघ ने रूसी निवासियों से जमा पर प्रतिबंध लगाया
 यूरोपीय संघ ने यूक्रेन में रूसी सैन्य अभियान के कारण रूसी निवासियों से 1,00,000 यूरो (1,12,000 डॉलर) से अधिक की किसी भी जमा राशि को स्वीकार करने पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। फैसले के दस्तावेज में कहा गया, रूसी नागरिकों या रूस में रहने वाले प्राकृतिक व्यक्तियों, या रूस में स्थापित कानूनी व्यक्तियों, संस्थाओं या निकायों की जमा राशि 1,00,000 से अधिक होगी तो उसे स्वीकार करना प्रतिबंधित होगा।

ईयू ने रूस को वस्तु और प्रौद्योगिकी के निर्यात पर प्रतिबंध लगाया
यूरोपीय संघ (ईयू) ने तेल शोधन के लिए इस्तेमाल होने वाली वस्तुओं और प्रौद्योगिकियों के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। ईयू की ओर से जारी कानूनी दस्तावेज के मुताबिक उन वस्तुओं और प्रौद्योगिकियों के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने का भी फैसला किया है, जिनका उपयोग रूसी विमानन और अंतरिक्ष उद्योग के लिए किया जा सकता है। दस्तावेज में कहा गया है कि किसी भी रूसी नागरिक , इकाई या निकाय को रूस या रूस में उपयोग के लिए प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से विमानन या अंतरिक्ष उद्योग में उपयोग के लिए उपयुक्त सामान और प्रौद्योगिकी को बेचने, आपूर्ति, हस्तांतरण या निर्यात करने पर पाबंदी होगी।

पुतिन, लावरोव पर यूरोपीय संघ ने लगाए प्रतिबंध
यूरोपीय संघ ने यूक्रेन में चल रहे रूस के सैन्य अभियान के कारण राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव के ऊपर अतिरिक्त प्रतिबंध लगाए दिए हैं। नए प्रतिबंधों के तहत उनकी संपत्ति को फ्रीज करने की बात की गई है।यूरोपीय संघ ने जिन लोगों पर प्रतिबंध लगाए हैं उनमें रूसी प्रधानमंत्री मिखाइल मिशुस्टिन, रूसी सुरक्षा परिषद के उपाध्यक्ष और पूर्व राष्ट्रपति दिमित्री मेदवेदेव, आंतरिक मंत्री व्लादिमीर कोलोकोलत्सेव, पर्यावरण और परिवहन के लिए विशेष राष्ट्रपति प्रतिनिधि सर्गेई इवानोव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हैं। यूरोपीय संघ ने अल्फ़ा-बैंक, ओटक्रिटी बैंक, प्रोम्सवाज बैंक, प्रमुख रूसी रक्षा उद्यमों, कलाश्निकोव चिंता और अल्माज-एंटे, रूसी रक्षा मंत्रालय, विदेशी खुफिया सेवा और कई अन्य संस्थाओं पर प्रतिबंध लगाए हैं।

Read More एलन मस्क करेंगे 2024 के चुनाव में डेसेंटिस का समर्थन

Post Comment

Comment List

Latest News

भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा से बदला है राष्ट्रीय राजनीति का परिदृश्य : कांग्रेस
उन्होंने कहा कि यात्रा को पहले दक्षिण के पांच राज्यों में भारी समर्थन मिला था और जब यात्रा  महाराष्ट्र पहुंची...
झुंझुनूं में विकास की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी : बृजेंद्र ओला
भारतीय संविधान विश्वभर के लोकतंत्रों की सर्वश्रेष्ठ व्याख्या: राज्यपाल मिश्र
खाद की कमीः क्षेत्र में खाद भी राशन की तरह बांटना पड़ा
वसुंधरा राजे हमारी नेता थी, हैं और हमारी नेता रहेगी : कालीचरण सर्राफ
सेना के जवान का बीमारी के चलते निधन राजकीय सम्मान से किया अंतिम संस्कार
भाजपा के टेपन 978 वोट से हुए विजयी