वायु, जमीन और जल में जवानों का शौर्य प्रदर्शन

वायु, जमीन और जल में जवानों का शौर्य प्रदर्शन

भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती थार के रेगिस्तान में चल रहे संयुक्त युद्धाभ्यास त्रिशक्ति प्रहार के दौरान सैकड़ों जाबाजों ने वायु सेना के मालवाहक विमान से हथियारों से लैस जांबाजों ने आसमान से छलांग लगाई और धरती पर आते ही दुश्मन को मार गिराया।

जैसलमेर। भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती थार के रेगिस्तान में चल रहे संयुक्त युद्धाभ्यास त्रिशक्ति प्रहार के दौरान सैकड़ों जाबाजों ने वायु सेना के मालवाहक विमान से हथियारों से लैस जांबाजों ने आसमान से छलांग लगाई और धरती पर आते ही दुश्मन को मार गिराया।
 आधुनिक हथियारों से लैस भारतीय जांबाजों ने पलक झपकते ही दुश्मन को खत्म कर दिया। इस दौरान थल सेनाध्यक्ष मनोज पांडे ने सभी जवानों की हौसला अफजाई की।  युद्धाभ्यास में आर्मी, एयरफोर्स और नेवी अपना दमखम दिखा रही है। इसमें तीनों सेनाओं के करीब 30 हजार सैनिक हिस्सा ले रहे हैं। मॉडर्न टेक्नोलोजी से लैस ड्रोन से युद्धाभ्यास की निगरानी रखी जा रही है। जवान जब दुश्मन की ओर कदम बढ़ाते हैं, तब ड्रोन के जरिए आॅपरेशन की निगरानी की जाती है। 

यह युद्धाभ्यास महत्वपूर्ण 
अभ्यास के दौरान खुफिया व अन्य जानकारी रखने, टोही विमान से लंबी दूरी के हमले, सटीक हमलों से दुश्मन को नेस्तनाबूद करने का अभ्यास किया जा रहा है। चीन सीमा पर विवाद के चलते यह युद्धाभ्यास महत्वपूर्ण माना जा रहा है। मुख्य रूप से भारतीय वायु सेना की दक्षिणी पश्चिमी कमान की आॅपरेशनल कैपेबिलिटी और रेडिनेस का प्रदर्शन भी शामिल है। मानव रहित हवाई वाहन, सटीक-निर्देशित मिसाइल, लोइटर युद्ध सामग्री, काउंटर-ड्रोन सिस्टम, संचार प्रणाली और आॅटोमेटिक स्पेक्ट्रम मॉनिटरिंग सिस्टम जैसी स्पेशल टेक्नोलॉजी की टेस्टिंग की जा रही है।

विश्वयुद्ध जैसी स्थिति देखते हुए अभ्यास
विश्व में युद्ध जैसी स्थिति को देखते हुए नई रणनीति के तहत अभ्यास किया जा रहा हैं। जिसमें नए हथियारों की टेस्टिंग भी की जाएगी। आर्मी के टी-90 एस और अर्जुन टैंक, हॉवित्जर, हेलिकॉप्टर और अन्य हथियार शामिल हैं। लड़ाकू विमान, अटैक हेलिकॉप्टर अपाचे, हैवी-लिफ्ट हेलिकॉप्टर और नेवी के विभिन्न विमान भी हिस्सा ले रहे हैं। 

Post Comment

Comment List

Latest News