सऊदी अरब में फंसे भारत के 45 मजदूर, सरकार से लगाई गुहार

सरकार से मजदूरों की मदद करने की अपील की है

सऊदी अरब में फंसे भारत के 45 मजदूर, सरकार से लगाई गुहार

भारत से सऊदी अरब ले जाते समय हमारे साथ एग्रीमेंट किया गया था कि लाइनमैन को 1500 रियाल, ओवरनाइट का 700 रियाल का वादा किया था। 

रियाद। सऊदी अरब में भारत के 45 प्रवासी मजदूरों के फंसे है। ये मजदूर झारखंड के गिरिडीह और बोकारो जिले के हैं। इन मजदूरों ने वीडिया जारी कर सरकार से वतन वापसी की गुहार लगाई है। कहा जा रहा है कि इन मजदूरों को काम के बदले कंपनी पांच महीने से मजदूरी नहीं दे रही है। इससे इन मजदूरों के सामने खाने-पीने का संकट खड़ा हो गया है। मजदूरों ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर अपनी पीड़ा को साझा करते हुए सरकार से वतन वापसी की गुहार लगाई है। इसके साथ ही बकाया मजदूरी के भुगतान की भी मांग की है। इस वीडियो में एक मजदूर कह रहा है कि हम 11 मई 2023 को सऊदी अरब आए थे। कमर्शियल टेक्नोलॉजी प्लस कंपनी हमें सऊदी अरब लेकर आई थी। हम लोग 55 हजार रुपए की कमीशन देकर यहां थे। भारत से सऊदी अरब ले जाते समय हमारे साथ एग्रीमेंट किया गया था कि लाइनमैन को 1500 रियाल, ओवरनाइट का 700 रियाल का वादा किया था। 

हम यहां सात महीने से काम कर रहे हैं, जिसमें से हमें सिर्फ दो महीने का वेतन दिया गया है। हमें बकाया नहीं दिया जा रहा है। अगर हम उनसे बकाए की मांग करते हैं तो हमसे जबरदस्ती काम कराया जाता है और जेल में डालने की धमकी दी जाती है। प्रवासी मजदूरों के हित में काम करने वाले सिकंदर अली ने भारत सरकार एवं झारखंड सरकार से मजदूरों की मदद करने की अपील की है।

 

Tags: appeal

Post Comment

Comment List

Latest News