कांग्रेस: अब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चुनने की चुनौती!

कांग्रेस: अब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष चुनने की चुनौती!

कांग्रेस आलाकमान के सामने राजस्थान में विधानसभा चुनाव में हारने के बाद अब नेता प्रतिपक्ष चुनने की चुनौती है।

जयपुर। कांग्रेस आलाकमान के सामने राजस्थान में विधानसभा चुनाव में हारने के बाद अब नेता प्रतिपक्ष चुनने की चुनौती है। पार्टी में यदि पीढ़ीगत बदलाव की निरंतरता को देखा जाए तो पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट इस पद के स्वाभाविक दावेदार माने जा रहे हैं। इसी प्रकार कांग्रेस आलाकमान कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाने के लिए आम चुनाव से पहले प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष को भी बदल सकती है। क्योंकि साल 2014 के आम चुनाव से पहले सचिन पायलट को पीसीसी चीफ बनाया गया था। माना जा रहा है कि अभी पार्टी नेतृत्व नेता प्रतिपक्ष चुनने की जल्दबाजी में नहीं है। क्योंकि सत्तारूढ़ भाजपा में अभी भी सरकार के चेहरे को लेकर शीर्ष स्तर पर मंत्रणा एवं मंथन जारी है। लेकिन जयपुर में संपन्न हुई विधायक दल की बैठक के बाद इसकी सुगबुगाहट जरूर शुरू हो गई है। सूत्रों के अनुसार नेता प्रतिपक्ष के नामों में वरिष्ठता के लिहाज से पूर्व मंत्री महेन्द्रजीत सिंह मालवीय का नाम भी शामिल है। जो वागड़ से आने के अलावा आदिवासी समाज से भी संबंधित हैं। इसी प्रकार यदि कांग्रेस आलाकामन ने सामाजिक एवं पार्टी के राजनीतिक समीकरणों को साधने की कोशिश की। तो पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा और हरीश जोशी पर भी वरिष्ठता के लिहाज से विचार संभव है। माना जा रहा है कि राजस्थान में नई सरकार के शपथ लेने के बाद विधानसभा सत्र की शुरूआत से पहले सभी वरिष्ठ एवं संबंधित नेताओं को दिल्ली बुलाकर नेतृत्व द्वारा चर्चा की जा सकती है।

Post Comment

Comment List

Latest News