युवाओं में स्वरोजगार और स्टार्टअप शुरू करने को लेकर कार्यशाला का आयोजन

पहले दिन बूट कैम्प, शुक्रवार होंगे दो सेशन, स्कूली बच्चे भी होंगे शामिल

युवाओं में स्वरोजगार और स्टार्टअप शुरू करने को लेकर कार्यशाला का आयोजन

सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा युवाओं में स्वरोजगार की भावना पैदा करने, स्टार्टअप शुरू करने पर सरकारी मदद की जानकारी और उनके आईडिया को धरातल पर लाने के लिए गुरुवार को कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिन्हें स्टार्टअप शुरू करने वाले युवाओं ने संबोधित किया और स्टार्टअप की जानकारी दी।

कोटा । सूचना प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा युवाओं में स्वरोजगार की भावना पैदा करने, स्टार्टअप शुरू करने पर सरकारी मदद की जानकारी और उनके आईडिया को धरातल पर लाने के लिए गुरुवार को कार्यशाला का आयोजन किया गया। कोटा यूनिवर्सिटी में 2 दिन के इस कार्यशाला में पहले दिन बूट कैंप का आयोजन किया गया। इस बूट कैंप में स्टूडेंट्स शामिल हुए। जिन्हें स्टार्टअप शुरू करने वाले युवाओं ने संबोधित किया और स्टार्टअप की जानकारी दी। किस तरह से स्टार्टअप के आइडिया को धरातल पर लाया जा सकता है और सरकार से मिलने वाली मदद के बारे में युवाओं को बताया गया।

विभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर तपन कुमार ने बताया कि कोटा में आउटरीच वर्कशॉप का आयोजन किया जा रहा है। कोशिश की है कि जितने ज्यादा लोगों तक सरकार की फंडिंग स्कीम की जानकारी दे सकते हैं उतने ज्यादा लोगों को फायदा होगा। शुक्रवार को स्कूल स्टार्टअप स्कीम और रूरल स्टार्टअप की जानकारी दी जाएगी। इस दौरान रूरल एरिया में और स्टूडेंट के द्वारा शुरू किए जा रहे स्टार्टअप या उनके जो भी आईडिया होंगे, वह प्रस्तुत किए जाएंगे। उनमें यूनिक आईडिया को सेलेक्ट किया जाएगा। साथ ही यह भी बताया जाएगा कि इन स्टार्टअप को किस तरह से सरकारी फंडिंग मिल सकती है और विभाग क्या-क्या मदद करेगा।

सरकार की तरफ से दी जाती है फंडिंग
तपन कुमार ने बताया कि स्टार्टअप के लिए सरकार की तरफ से फंडिंग से लेकर हर तरह का सपोर्ट दिया जाता है। फंडिंग में अलग-अलग लेवल पर दो लाख से लेकर 25 लाख तक की फंडिंग होती है। इस दौरान सफल उधमियों ने अपने स्टार्टअप के बारे में जानकारी दी।

Post Comment

Comment List

Latest News