Rajasthan Budget पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया- कांग्रेस सरकार की योजनाओं की रिपैकेजिंग की, जनता ठगा सा कर रही महसूस

Rajasthan Budget पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया- कांग्रेस सरकार की योजनाओं की रिपैकेजिंग की, जनता ठगा सा कर रही महसूस

पीसीसी प्रवक्ता आरसी चौधरी ने बयान जारी कर कहा है कि राजस्थान सरकार ने आज अपना पहला बजट और लेखा अनुदान पेश करते हुए पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की जो योजनाएं थी उनकी रिपैकेजिंग और रीनेमिंग करने का काम बखूबी किया।

जयपुर। भजनलाल सरकार के पेश अंतरिम बजट पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया देते हुए बजट को निराशाजनक बताया है। पीसीसी प्रवक्ता आरसी चौधरी ने बयान जारी कर कहा है कि राजस्थान सरकार ने आज अपना पहला बजट और लेखा अनुदान पेश करते हुए पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की जो योजनाएं थी उनकी रिपैकेजिंग और रीनेमिंग करने का काम बखूबी किया। उन्होंने मुख्यमंत्री चिरंजीवी बीमा योजना जो 25 लाख का सुरक्षा कवच देती थी, उसे बदल के मुख्यमंत्री आयुष्मान योजना कर दिया, जिसके तहत 10 लाख का कवर कर रहे हैं।

आज उन्होंने विश्वकर्मा पेंशन योजना शुरू करने की घोषणा की उससे पूर्ववर्ती सरकार ने विश्वकर्मा कल्याण आयोग जो बनाया उसके तहत तमाम जो हद शिल्प हैं, अपनी लोक कला है। इन सबके लिए दस हजार रुपए प्रति व्यक्ति को सहायता देने का एक काम किया था। सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत जो पेंशन एक हजार रुपए थी, उसे बढ़ाकर 1150 कर दिया। कांग्रेस की सरकार ने न्यूनतम आय कानून जो लेकर आए थे उसके तहत 15 प्रतिशत पेंशन योजना के अंदर बढोतरी को सुनिश्चित किया था। आज उसी के तहत इन्हें ये घोषणा करनी पड़ी। आज भाजपा का भविष्य को लेकर सामाजिक सुरक्षा को लेकर स्वास्थ्य को लेकर शिक्षाओं को लेकर कोई रोडमैप नजर नहीं आया। आज जिन भर्तियों की घोषणा की, जबकि पूर्ववर्ती सरकार की अलग अलग भर्तियों के अंदर एक लाख 10 हजार थी। उन भर्तियों में जो अभ्यार्थी जिन्होंने सफलतापूर्वक परीक्षाओं को पास किया, नियुक्ति पत्र आवंटित किए गए, लेकिन चुनाव आचार संहिता लगने के कारण उन्हें नौकरी का जो पदभार ग्रह नहीं कर पाए, आज उन लोगों की प्रतीक्षा को कब समाप्त करेंगी वो कोई स्पष्ट नजर नहीं आया। राजीव गाँधी मित्र जो 5000 के करीब जंतर मंत्र जो धरना दे रहे थे। उस धरने के अंदर एक राजीव गाँधी मित्र की मौत हो गई है। उन पर उनका कोई स्पष्ट नजरिया नजर नहीं आया। ये सरकार केंद्र की योजनाओं का बखान करते हुए उन योजनाओं को परिवर्तित नाम के द्वारा राज्य के अंदर पेश करने का प्रयास किया। इस बजट के अंदर 2024 लोकसभा चुनाव की बैचेनी नजर आई,लेकिन तमाम योजनाएं वो ही हैं,जिनकी पिछली सरकार ने गारंटी दी थी। मोदी और भाजपा नेताओं ने पेट्रोल डीजल के दाम कम करने की जो गारंटी दी थी, वो नजर नहीं आई। आज राजस्थान की 8 करोड जनता पूर्ण ठगा हुआ महसूस कर रही है।

Post Comment

Comment List

Latest News