शहर में 200 से अधिक स्थानों पर अवैध पार्किंग

इसका फायदा अवैध पार्किंग संचालक उठा रहे हैं

शहर में 200 से अधिक स्थानों पर अवैध पार्किंग

बढ़ती आबादी के साथ वाहनों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है। वहीं इसका फायदा अवैध पार्किंग संचालक उठा रहे हैं। ये अवैध पार्किंग शहर की ट्रैफिक व्यवस्था खराब हो रही है।

जयपुर। बढ़ती आबादी के साथ वाहनों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है। वहीं इसका फायदा अवैध पार्किंग संचालक उठा रहे हैं। ये अवैध पार्किंग शहर की ट्रैफिक व्यवस्था खराब हो रही है। शहर में कोई भी मॉल, अर्पाटमेंट या अन्य बड़ी बिल्डिंगों के बाहर सड़क पर पार्किंग का प्रावधान नहीं है। इसी का लाभ लेकर करीब दो सौ से अधिक स्थानों पर अवैध पार्किंग चल रही है, जहां प्रत्येक माह पांच करोड़ से अधिक राशि की अवैध वसूली की जा रही है। यहा पार्किंग माफिया वाहन चालकों से बदसलूकी करने के साथ मारपीट तक कर देते हैं। पुलिस प्रशासन ने भी इनको पार्किंग माफिया घोषित कर रखा है। अवैध पार्किंग से नगर निगम जयपुर ग्रेटर और नगर निगम हेरिटेज दोनों को ही राजस्व नहीं मिल रहा है।

सात में से एक ही जोन में पार्किंग
निगम ग्रेटर में एकमात्र मालवीय नगर जोन क्षेत्र में ही पार्किंग है। जबकि जगतपुरा, सांगानेर, झोटवाड़ा, मुरलीपुरा, विद्याधर नगर और मानसरोवर जोन में स्वीकृत पार्किंग एक भी नहीं है। जबकि निगम ग्रेटर के सभी जोन में बड़े-बड़े बाजार हैं। अवैध पार्किंग के चलते वाहन चालक तो दूर पैदल यात्रियों का चलना तक मुश्किल होता है।

ग्रेटर निगम से पार्किग स्थल पर हो पर्याप्त सूचनाएं
स्वीकृत पार्किंग स्थलों पर एक बोर्ड लगा होना चाहिए जिसमें संवेदक का नाम, संबंधित अधिकारी का नाम, पार्किंग की दरें सहित अन्य जानकारी होनी चाहिए, लेकिन अवैध वसूली के चलते ठेकेदार इन सूचनाओं को छुपाता है।

Read More बरसात की सूचना ही उड़ा देती है नींद, फूल जाती है सांसें

यह है स्वीकृत दरें
नगर निगम जयुपर ग्रेटर प्रशासन ने संचालित छह पार्किंग में वाहनों की दर निर्धारित कर रखी है। इसमें पहले तीन घंटे के लिए साइकिल के पांच रुपए, दुपहिया के 10 व चौपहिया वाहन के 20 रुपए,  3 से 12 घंटे तक साइकिल के 5 रुपए, दुपहिया वाहन के 20 रुपए और चौपहिया वाहन के 40 रुपए है। 12 से 24 घंटे के लिए साइकिल के 10 रुपए, दुपहिया वाहन के 30 रुपए और चौपहिया वाहन के 50 रुपए शुल्क है। इसके अलावा मासिक पास का भी प्रावधान है, जिसमें साइकिल के लिए 150 रुपए, दुपहिया वाहन के लिए 400 और चौपहिया वाहन के लिए एक हजार रुपए निर्धारित है, लेकिन वाहन चालकों से निर्धारित दर से अधिक वसूली की जाती है।

निगम ग्रेटर को नहीं मिल रही स्वीकृति शहर में पार्किंग का स्थान बढ़ाने के
लिए निगम ग्रेटर प्रशासन ने 37 स्थान चिह्नित किए हैं। इसकी मंजूरी के लिए डीसीपी ट्रैफिक से पत्राचार किया जा रहा है, लेकिन निगम प्रशासन को अभी तक मंजूरी नहीं मिली है। निगम ग्रेटर राजस्व उपायुक्त शिप्रा शर्मा का कहना है कि नई पार्किंग के लिए 37 स्थानों को चिह्नित कर अनुशंसा के लिए डीसीपी ट्रैफिक को पत्र के अलावा चार रिमांइडर भेजे गए हैं।

नगर निगम जयपुर हेरिटेज
जौहरी बाजार, चौड़ा रास्ता, भगवानदास रोड मॉल-21 के पास, एयरटेल ऑफिस के बाहर मालवीय मार्ग, अहिंसा सर्किल से इंदिरा मायाराम के मकान तक, आनंद भवन के सामने, अहिंसा सर्किल से अग्रसेन सर्किल तक, जयंती बाजार, आतिश मार्केट, किशनपोल बाजार, शालीमार बाग संगम टावर, चांदपोल अनाज मंडी अंडरग्राउंड पार्किंग नगर निगम हेरिटेज क्षेत्र में वैद्य पार्किंग है।

Read More तेज बारिश व अतिवृष्टि से फसलों को भारी नुकसान, पूनियां ने की किसानों को मुआवजा देने की मांग

पार्किंग संचालकों पर सवा करोड़ बकाया
निगम की स्वीकृत पार्किंग के संचालक  13 ठेकेदारों पर 1 करोड़ 27 लाख 75 हजार 362 रुपए बकाया चल रहा है। इन्होंने निगम में 2 करोड़ 94 लाख 87 हजार 825 रुपए में से केवल 1 करोड़ 67 लाख 12 हजार 463 रुपए ही जमा कराए है।

जौहरी बाजार
हेरिटेज की सबसे महंगी पार्किंग जौहरी बाजार की 94 लाख 65 हजार 075 रुपए में छूटी है। इससे कम चौड़ा रास्ता की 54 लाख 11 हजार 750 रुपए और भगवानदास रोड मॉल-21 की 22.26 लाख रुपए में बोली छूटी थी। वहीं सबसे कम शालीमार बाग संगम टॉवर की 4 लाख 23 हजार रुपए में छूटी थी।

अवैध पार्किंग में आधी से अधिक सड़कें
शहर में सड़क चौड़ी हो या फिर सकड़ी उस पर फुटपाथ के बाद हो रही अवैध पार्किंग सड़कों की दम घोंट रही है। इससे शहर के प्रमुख मार्गों के साथ लिंक रोड आधी भी नहीं रह पाती हैं। इसमें टोंक रोड, हाईकोर्ट के सामने, मालवीय नगर, वैशाली नगर, मानसरोवर या फिर सांगानेर के मुख्य बाजारों में अवैध रूप से पार्किंग हो रही है।

Read More सवा 5 लाख के रावण को खड़ा करने पर खर्च होंगे 9 लाख रुपए

गांधीनगर रेलवे स्टेशन पर हो रही अवैध वसूली
गांधीनगर रेलवे स्टेशन पर कोर्ट के स्टे के बाद भी अवैध रूप से पार्किंग के नाम पर वसूली की जा रही है। वहीं पिछले दिनों नगर निगम ग्रेटर ने जेडीए सर्किल पर बिड़ला मंदिर के सामने पार्किंग शुरू की थी, लेकिन ऑक्शन रोक दिया गया। इसके अलावा जयपुरिया अस्पताल के बाहर निगम के रिकार्ड में पार्किंग को बंद कर दिया गया है, लेकिन यहां भी पार्किंग चालू है। साथ ही राजमंदिर सिनेमा के सामने, नारायण सिंह सर्किल पर निजी स्तर पर पार्किंग संचालित हो रही हैं।

Post Comment

Comment List

Latest News

फिल्म 'लैटर्स टू मिस्टर खन्ना' में एक साथ नजर आएंगे नीतू कपूर और सन्नी कौशल फिल्म 'लैटर्स टू मिस्टर खन्ना' में एक साथ नजर आएंगे नीतू कपूर और सन्नी कौशल
नीतू कपूर ने कैप्शन में लिखा, ''शुभ आरंभ, लेटर्स टू मिस्टर खन्ना। उन्होंने सन्नी कौशल को भी टैग किया। है।...
पुतिन की परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की धमकी, ईयू ने कहा इसे हल्के में न लें
पायलट के घर पर पहुंचा बुलडोजर, कर दी यह गलती
जेईसीआरसी ने आयोजित किया क्लाउड समिट' 22, 50 इंस्टीट्यूशंस के 4000 से ज्यादा छात्रों ने भाग लिया
तेज बारिश व अतिवृष्टि से फसलों को भारी नुकसान, पूनियां ने की किसानों को मुआवजा देने की मांग
खास परिस्थितियों के लिए अभ्यास करता हूं: दिनेश कार्तिक
एटीएम कार्ड बदलकर ठगी करने वाले दो शातिर गिरफ्तार,42 एटीएम कार्ड व 1 स्वैप मशीन बरामद